12वीं आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत का विजयी आगाज, लवलीना ने पूर्व विश्व चैम्पियन को हराया

0
94

12वीं आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत का विजयी आगाज, लवलीना ने पूर्व विश्व चैम्पियन को हराया

 

12वीं आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत का विजयी आगाज, लवलीना ने पूर्व विश्व चैम्पियन को हराया

लवलीना बोलीं, ‘पहला मैच थोड़ा कठिन था लेकिन सबके सपोर्ट से मैं जीत हासिल करने में सफल रही’

दूसरे दिन मंगलवार को भारत की नीतू 48 किग्रा वर्ग रोमानिया की स्टेलुटा डूटा से भिड़ेंगी

टोक्यो ओलंपिक-2020 में कांस्य पदक जीतने वाली भारत की लवलीना बोरगोहेन ने इस्तांबुल में जारी आईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के 12वें संस्करण में भारत को विजयी आगाज दिलाया है। लवलीना ने सोमवार देर रात हुए अपने पहले मुकाबले में चीनी ताइपे की पूर्व विश्व चैंपियन चेन निएन-चिन को परास्त किया।

टोक्यो ओलंपिक के बाद अपना पहला टूर्नामेंट खेल रहीं लवलीना 70 किग्रा भार वर्ग के अपने पहले मुकाबले में 3-2 के विभाजित फैसले के साथ अंतिम-16 दौर में पहुंचने में सफल रहीं, जहां उनका सामना शुक्रवार को फेयर चांस टीम की सिंडी नगाम्बा से होगा।

दोनों मुक्केबाजों ने सावधान शुरुआत की। शुरुआती एक मिनट तक तो किसी ने एक भी प्रहार नहीं किया। पूरे संयम के साथ खेल रहीं लवलीना ने पबहले राउंड में कोई जल्दबाजी नहीं दिखाई और जब सही मौका आया तभी अपने लम्बे हाथ पसारे।

दूसरे और अंतिम राउंड में दोनों के बीच मुक्कों के कुछ अच्छे आदान-प्रदान हुए। इस दौरान चेन ने आक्रमण करने की कोशिश की, लेकिन तेज-तर्रार भारतीय एक अच्छी रक्षा तकनीक के साथ ब्लॉक करने में सफल रही और कांटे के मुकाबले के परिणाम को अपने पक्ष में करने में सफलता हासिल की।

मैच के बाद लवलीना ने कहा, “ ओलंपिक के बाद ये मेरा पहला मैच था। ओलंपिक में बहुत कुछ सीखने को मिला था तो उस सबके ऊपर काम किया था। मुझे देखना था कि ओलंपिक के बाद अपनी कमियों पर काम करने के बाद मैं कहां तक पहुंची हूं और कैसा कर रही हूं। ये मैच थोड़ा टफ था मेरे लिए लेकिन सबके सपोर्ट की वजह से मैं अच्छा कर पाई औऱ अच्छा बाउट दे पाई। मेरा यही कोशिश रहेगा कि आने वाले टाइम में और अच्छा कर पाऊं और इंडिया को गोल्ड दे पाऊं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here