Thursday, January 20, 2022

आज देश भर में संविधान दिवस मनाया जा रहा है; राष्ट्रपति ने संविधान की प्रस्तावना का पाठ कराया

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने संविधान दिवस पर आज भारत के संविधान की प्रस्तावना का पाठ कराया। उन्‍होंने ने राष्‍ट्रपति भवन से प्रस्‍तावना का पाठ कराया, जिसे दूरदर्शन द्वारा प्रसारित किया गया और इसमें देश के विभिन्‍न भागों से लोग शामिल हुए। इसका गुजरात के केवडि़या से भी सीधा प्रसारण किया गया, जहां पीठासीन अधिकारियों के 80वें अखिल भारतीय सम्‍मेलन में भाग ले रहे अधिकारियों ने राष्‍ट्रपति के साथ पाठ किया।

संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को अंगीकृत करने के अवसर पर यह दिन पूरे देश में संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन राष्‍ट्रीय कानून दिवस के रूप में  भी मनाया जाता है। देश के वर्तमान संविधान को 26 नवम्‍बर 1949 को संविधान सभा द्वारा औपचारिक रूप से अंगीकृत करने के बाद इसे 26 जनवरी 1950 में लागू किया गया।

संविधान प्रारूप समिति के अध्‍यक्ष के रूप में डॉक्‍टर बी.आर.आम्‍बेडकर की महत्‍वपूर्ण भूमिका को नमन करने के लिए 2015 में सरकार ने पहली बार यह दिवस मनाने का निर्णय लिया।

यह संविधान भारत को एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित करता है, जो अपने नागरिकों को न्याय, समानता और स्वतंत्रता का आश्वासन देता है तथा भाईचारे को बढ़ावा देने का प्रयास करता है। यह दुनिया के किसी भी संप्रभु देश का सबसे लंबा लिखित संविधान  है।

- Advertisement -spot_img
Latest news
Related news