A- A A+
Last Updated : Apr 10 2021 7:39PM     Screen Reader Access
News Highlights
West Bengal: Average voter turnout registered at 66.76 per cent till 3:30 PM            India and Netherlands announce launch of strategic partnership in water sector and setting up of fast track mechanism to facilitate bilateral trade            India's cumulative COVID-19 vaccination coverage nears 10 crore            Teeka Utsav to be organised from tomorrow across the country to control surging COVID-19 cases            Rajasthan govt imposes night curfew in 9 cities till April 30 to curb pace of COVID-19 infection           

Text Bulletins Details


Parikrama

1630 HRS
27.02.2021

नमस्कार, परिक्रमाकार्यक्रम में आप सबका हार्दिक स्‍वागत है। आधे घंटे के इस कार्यक्रम में देंगेआपको देश-दुनिया के समाचार। चलेंगे क्षे‍त्रीय संवाददाताओं के पास और जानेंगे क्‍याकुछ है उनके पास खास। संस्‍कृति दर्शन में होगी झलक भारत की विविध संस्‍कृति की।खेल के मैदान की हलचल भी होगी। शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव की जानकारी भी होगी। बातेकरेंगे उन विशिष्‍ट व्‍यक्तित्‍वों की जिनकी आज पुण्‍यतिथि है और जिनका आज जन्‍मदिनहै।  आज परिक्रमा के इस अंक में मैं हूंविशाल शर्मा और मेरे साथ हैं रेशमा तिवारी नमस्कार।

 

Hello and welcome to the newsmagazine Parikrama on 100.1 FM.  Today wehave for you an assortment of news, reports, tributes and much more over thenext thirty minutes.

<><><> 

As the nation fights the COVID-19pandemic, we begin with a message of precaution to stay safe and protected byfollowing these three simple steps:

Wear a face mask.

Maintain Do Gaz Ki Doori forsocial distancing.

Focus on hand and facehygiene. 

Now, we begin with the news,Vishal:

<><><> 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत खिलौना मेला  आत्‍मनिर्भर भारत के निर्माण और देश की सदियोंपुरानी परंपराओं को सुदृढ़ करने की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम है। भारत खिलौना मेलेका वीडियो कान्‍फ्रेंस के माध्‍यम से उद्घाटन करते हुए श्री मोदी ने कहा कि भारतके स्‍थानीय खिलौने अपेक्षाकृत अधिक सस्‍ते और पर्यावरण अनुकूल उत्‍पादों सेनिर्मित हैं।

 

"खिलौनों के क्षेत्र में भारत के पास tradition भी है और technology भी है, भारत के पास conceptsभी हैं, और competence भी है। हम दुनिया को eco-friendly toys की ओर वापस लेकर जा सकते हैं, हमारे software engineers computer games के जरिए भारत की कहानियों को, भारत के जो मूलभूत मूल्‍य हैं उन कथाओं कोदुनिया तक पहुंचा सकते हैं। लेकिन इस सबके बावजूद, 100 बिलियन डॉलर के वैश्विक खिलौना बाजार में आज हमारीहिस्सेदारी बहुत ही कम है। देश में 85 प्रतिशत खिलौने बाहर से आते हैं, विदेशों से मंगाए जाते हैं। पिछले 7 दशकों में भारतीय कारीगरों की, भारतीय विरासत की जो उपेक्षा हुई, उसका परिणाम ये है कि भारत के बाज़ार से लेकर परिवार तक में विदेशी खिलौने भरगए हैं आज हमें इस स्थिति को बदलने के लिए मिलकर काम करना है। हमें खेल और खिलौनोंके क्षेत्र में भी देश को आत्मनिर्भर बनाना है, वोकल फॉर लोकल होना है।"

 

The Prime Minister said that mostIndian toys are affordable and made from natural and eco-friendly items.

 

"Reuse और recycling जिस तरह भारतीय जीवनशैली का हिस्सा रहे हैं, वही हमारे खिलौनों में भी दिखता है। ज़्यादातर भारतीय खिलौनेप्राकृतिक और eco-friendly चीजों से बनातेहैं, उनमें इस्तेमाल होने वालेरंग भी प्राकृतिक और सुरक्षित होते हैं।

 

श्री मोदी ने कहा कि किसी भी संस्‍कृति में जब खेल और खिलौने आस्‍था के केन्‍द्रोंका हिस्‍सा बन जाए तो इसका अर्थ है कि वो समाज खेलों के विज्ञान को समझता है।

 

"जब बच्चे लट्टू से खेलना सीखते हैं तो लट्टू खेल खेल में हीउन्हें gravity और balanceका पाठ पढ़ा जाता है। वैसे ही गुलेल से खेलताबच्चा जाने-अनजाने में Potential से KineticEnergy के बारे में basicsसीखने लगता है। Puzzle toys से रणनीतिक सोच और समस्या को सुलझाने की सोचविकसित होती है।"

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि अभिलेखों से भगवान राम के विभिन्‍न खिलौनों के बारे मेंजानकारी मिलती है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय खिलौने मनोरंजन के साथ जटिल वैज्ञानिकसिद्धांतों को आसानी से सिखाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लट्टू हमेंगुरूत्‍वाकर्षण और संतुलन तथा गुलेल ताकत और गतिज ऊर्जा के बारे में शिक्षा देतेहैं।

 

Mr Modi urged the parents to playwith their children and said toys do play a vital role in the learning processof children.

 

अच्‍छे खिलौनों की ये खूबसूरती होती है कि वो ऐजलेस और टाइमलेस होते हैं। आपभी जब बच्‍चों के साथ खेलने लगते हैं, तो इन खिलौनों के जरिए अपने बचपन में चले जाते हैं इसलिए मैं सभी माता-पिता सेये अपील करूंगा कि आप जिस तरह बच्‍चों के साथ पढ़ाई में इनवोल्‍व होते हैं,वैसी ही उनके खेलों में भी शामिल होइए।

 

श्री मोदी ने कहा कि नई शिक्षा नीति में खेल और गतिविधि आधारित शिक्षा परविशेष ध्‍यान दिया गया है।

 

हमारी नई राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति भी है, नई राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति में है, प्‍ले आधारित और गतिविधि आधारित शिक्षा को बड़े पैमाने परशामिल किया गया है। एक ऐसी शिक्षा व्‍यवस्‍था है जिसमें बच्‍चों में पहलियों औरखेलों के माध्‍यम से तार्किक और रचनात्‍मक सोच बढ़े, इस पर विशेष ध्‍यानदिया गया है। 

 

श्री मोदी ने कर्नाटक के चन्‍नपटना, उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी और राजस्‍थान में जयपुर के खिलौना निर्माताओं सेबातचीत की। उन्‍होंने  जयपुर के कठपुतलीनिर्माताओं से बच्‍चों में हाथ धोने और मास्‍क पहनने की आदतों को बढ़ावा देने केलिए नाटक तैयार करने का आग्रह किया।

 

Speaking on the occasion,Textiles Minister Smriti Irani said the Toy Fair will see pavilions by 11partner states and 100 speakers including experts and industry specialists.

 

<><><> 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में देशविदेश के लोगों से अपने विचार साझा करेंगे। यह इस मासिक रेडियो कार्यक्रम की 74वीं कडी होगी। आकाशवाणी और दूरदर्शन के समूचेनटवर्क पर इसका प्रसारण होगा। यह आकाशवाणी समाचार की वेबसाइट www.newsonair.com  और न्‍यूज ऑनएआईआर मोबाइल ऐप पर भी उपलब्‍ध रहेगा। मन की बात कार्यक्रम आकाशवाणी, दूरदर्शन समाचार, प्रधानमंत्री कार्यालय तथा सूचना और प्रसारण मंत्रालय केयूट्यूब  चैनलों पर भी सीधा प्रसारित होगा।

AIR will broadcast the programmein regional languages immediately after the Hindi broadcast. The regionallanguage versions will be repeated at eight in the evening.

<><><> 

निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुद्दुचेरी में विधानसभा चुनावों कीघोषणा कर दी है। इन राज्यों में विधानसभा चुनाव 27 मार्च से 29 अप्रैल तक कराएजाएंगे। मतगणना दो मई को होगी।

 

Chief Election Commissioner SunilArora announced the poll schedule in New Delhi last evening. Polling in WestBengal will be held in eight phases on 27th March and 1st, 6th, 10th, 17th,22nd, 26th and 29th April.

 

Mr Arora said the Assemblyelections in Tamil Nadu, Kerala and Puducherry will be held in a single phaseon 6th April. Assam will go to polls in three phases on 27th March and 1st and6th April.

<><><> 

Amid surge in COVID-19 cases insome parts of the country, Cabinet Secretary Rajiv Gauba has asked all Statesand Union Territories not to lower their guard, enforce COVID AppropriateBehaviour and deal firmly with violations. He reiterated that states need tomaintain a continued rigorous vigil in terms of containing the spread and notsquander away the gains of the collective hard work of the last year. 

 

In the review meeting today, itwas strongly underlined that they need to follow effective surveillancestrategies in respect of potential super spreading events. Need for effectivetesting, comprehensive tracking, prompt isolation of positive cases and quickquarantine of close contacts were also strongly emphasized.

<><><> 

केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्‍ला ने राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों सेकोविड महामारी पर पूरी तरह से नियंत्रण पाने के लिए उचित सावधानी और कड़ी निगरानीरखने को कहा है। कोविड के मौजूदा दिशा-निर्देशों को 31 मार्च तक बढ़ाने के बारे में श्री भल्‍ला ने सभी राज्‍योंऔर केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखा है। उन्‍होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों मेंदेश में सक्रिय और नए मामलों की संख्‍या में गिरावट आई है, लेकिन सावधानी बरतने और कड़ी निगरानी की आवश्‍यकता है।

<><><> 

केंद्र सरकार ने आज कहा कि केरल, महाराष्‍ट्र, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु और गुजरात में कोविड मरीजों की संख्‍या में तेजीसे वृद्धि हुई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि महाराष्‍ट्र मेंएक दिन में सर्वाधिक आठ हजार तीन सौ तैंतीस नए मरीजों का पता चला। केरल में तीनहजार छह सौ 71 और पंजाब में 622 नए रोगी सामने आए।

<><><> 

Union Health Ministry said morethan one crore 42 lakh COVID-19 vaccine doses have been administered tobeneficiaries in the country so far. A total of seven lakh 69 thousand doses ofvaccine were given to health care and frontline workers in the last 24 hours.

 

Meanwhile, the country's COVID-19recovery rate stands at 97.14 per cent with recovery of more than 12 thousandpatients within 24 hours.

<><><> 

The Saras Aajeevika Mela 2021 isunderway at Noida Haat. The fair was inaugurated by Union Minister NarendraSingh Tomar yesterday. It will continue till 14th March. The fair remains openfrom 11 AM to 8 PM daily Delhi. More than 300 rural self-help groups andcraftsmen from 27 states are participating in the Mela which is being organizedby the Ministry of Rural Development.

 

Addressing the gathering, MrTomar said that the Ministry of Rural Development is working to include morewomen in Self Help Groups.

<><><> 

Guru Ravidas Jayanti, the birthanniversary of Sant Ravidas is being observed across the country today.President Ram Nath Kovind, Vice President M Venkiah Naidu and Prime MinisterNarendra Modi paid tributes to Guru Ravidas on his Jayanti.

 

In his message, President Kovindsaid, Guru Ravidas was a great saint and a religious reformer, who devoted hislife to serve humanity. He called upon the people to resolve to takeinspiration from his teachings and strive for strengthening fraternity in thesociety for the benefit of humanity.   

 

The Vice President in his messagehas called upon the people to emulate the teachings of Sant Ravidas and resolveto follow the path shown by him.

 

<><><> 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ट्वीट संदेशों में कहा कि संत रविदास ने कईशताब्दी पूर्व समानता, सद्भावना औरकरुणा का संदेश दिया था, जो सदियों तकदेशवासियों को अनुप्राणित करता रहेगा।

 

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि गुरु रविदास ने पूरे समाज को एकता के सूत्रमें बांधने के प्रयास किये और उन्होंने सभी वर्गों के कल्याण का मार्ग प्रशस्तकिया।

<><><> 

The 39th Agartala InternationalBook Fair with the theme “Ek Tripura, Shrestha Tripura”  has begun at Agartala. Tripura Chief MinisterBiplab Kumar Deb inaugurated the fair last evening in presence of BangladeshAssistant High Commissioner Mohammed Jobayed Hossain and others. Mr Deb said a book fair helps in building apositive mind set among people and that ensures a positive approach for overallprogress in the society.

<><><> 

क्षेत्रीय संवाददाता

 

और रेशमा अब समय हो गया है अपने संवाददाताओं के माध्‍यम से श्रोताओं को देश केअलग-अलग भागों में होने वाली गतिविधियों से अवगत कराने का। तो रेशमा सबसे पहलेकहां चलें।

<><><> 

Mizoram-

 

Better rail connectivity amongvarious regions lead to economic development. In line with the plan of theMinistry of Railways to connect all the State capital of the Northeast regionwith the BG railway line and for “transforming North East by Transportation”,ongoing works see steady progress. As per the latest report, railway link worksto connect the state capital of hill state Mizoram - Aizawl is going on in fullswing. Our Aizawl correspondent Irene has the details.

 

With the central governmentgiving most importance upon speedy completion of the North Eastern projects,the current budget for 2021-22 has allocated 1, 000 crore rupees for Bairabi -Sairang new rail project. And, this amount is double the amount allocated lastyear. According to the NF Railway statement, the Railway Ministry is eyeing tocomplete the Bairabi-Sairang rail project by March of 2023. The project hascurrently seen major works done, which has incurred an expenditure of threepoint seven thousand crore rupees. Notably, the 51.38 -kilometre long Bairabi-Sairang project wassanctioned in 2008-09. According to NF Railway, this rail project requiresconstruction of 55 major and 87 minor bridges. Also, the new rail link willhave five Road Over Bridges and 6 Road Under Bridges.  Railway officials pointed out that difficultgeology, deep gorges, high hills and prolonged rainfall leaving less workingperiod have posed many challenges, yet the works find steady progress. Accordingto the officials, to reach Aizawl from Bhairabi station, there will be fourmore stations namely, Hortoki, Kawnpui, Mualkhang and Sairang. And, Sairang isjust near the state capital - Aizawl. Traders of the state will be able to transport daily essentials andconstruction materials at a much cheaper and cost-effective way. This will alsobenefit the farmers of the state to send their produce to the wider outsidemarkets at a cheaper rate and short time. For Parikrama/ this is Irene fromAizawl."

<><><> 

 

अंतर्राष्ट्रीय समाचार

राष्ट्रीय समाचारों के बाद अब बढ़ते हैं कुछ अंतर्राष्ट्रीय समाचारों की ओररेशमा के साथ –

 

India and Bangladesh reiteratedtheir commitment to further expand and strengthen mutual cooperation insecurity and border related issues.

 

The 19th Home Secretary-LevelMeeting between India and Bangladesh was held today. It was held in thebackdrop of ‘Mujib Barsho’, 50 years of Bangladesh Liberation War andestablishment of diplomatic ties between the two countries. The Indian delegationwas led by Home Secretary Mr. Ajay Kumar Bhalla and the Bangladesh delegationwas led by Senior Secretary, Public Security Division Mr. Mostafa Kamal Uddin.Both sides appreciated the cooperation between the two countries and the actiontaken to address the menace of terrorism and extremism in an effective manner.India and Bangladesh reaffirmed not to allow the territory of either country tobe used for any activity inimical to each other’s interests.

<><><> 

Sanskriti Darshan::

 

देश को एकसूत्र में बांधे रखने में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों का बहुत योगदानहै। साथ ही इनसे आनंद और शांति की अनुभति भी होती है। आइए सुनते  हैं  आजका संस्‍कृति दर्शन ।

<><><> 

और रेशमा अब समय है उन विभूतियों को याद करने का जिनकी आज पुण्‍यतिथि है याउनका जन्‍मदिवस है।

 

पुण्‍यतिथि

 

पंडित चंद्रशेखर आज़ाद जन्म- 23 जुलाई,1906; मृत्यु- 27 फ़रवरी, 1931) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध क्रांतिकारी थे।

 

He was born as on 23 July 1906 inBhabhra village (town) as Chandra Shekhar Tiwari, in the present-day Alirajpurdistrict of Madhya Pradesh.

 

His mother wanted her son to be agreat Sanskrit scholar and persuaded his father to send him to KashiVidyapeeth, Banaras, to study. In 1921, when the Non-Cooperation Movement wasat its height, Chandra Shekhar, then a 15-year-old student, joined. As aresult, he was arrested on 20 December. On being presented before a magistratea week later, he gave his name as "Azad" , his father's name as"Swatantrata" (Independence) and his residence as "Jail".From that day he came to be known as Chandra Shekhar Azad among thepeople. 

 

 17 वर्ष केचंद्रशेखर आज़ाद क्रांतिकारी दल हिन्दुस्तानरिपब्लिकन एसोसिएशनमें सम्मिलित होगए। पार्टी की ओर से धन एकत्र करने के लिए जितने भी कार्य हुए, चंद्रशेखर उन सबमें आगे रहे। सांडर्स वध,सेण्ट्रल असेम्बली में भगत सिंह द्वारा बमफेंकना, वाइसराय को ट्रेन बम सेउड़ाने की चेष्टा, सबके नेता वहीथे। इससे पूर्व उन्होंने प्रसिद्ध काकोरी कांडमें सक्रिय भाग लिया 

<><><> 

विजय सिंह पथिक

 भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्षकरने वाले वीर क्रांतिकारियों में से एक थे। विजय सिंह पथिक अपनी युवावस्था में हीरासबिहारी बोस और शचीन्द्रनाथ सान्याल जैसे अमर क्रान्तिकारियों के सम्पर्क में आगए थे। वैसे विजय सिंह पथिक जी का मूल नाम 'भूपसिंह' था, किंतु 'लाहौर षड़यंत्र' के बाद उन्होंनेअपना नाम बदल कर विजय सिंह पथिक रख लिया और फिर अपने जीवन के अंत समय तक वे इसीनाम से जाने जाते रहे। महात्मा गाँधी के 'सत्याग्रह आन्दोलन' से बहुत पहले हीपथिक जी ने 'बिजोलिया किसानआन्दोलन' के नाम से किसानों मेंस्वतंत्रता के प्रति अलख जगाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया था। विशेष योगदान सन 1920 में पथिक जी के प्रयत्नों से ही अजमेर में 'राजस्थान सेवा संघ' की स्थापना हुई। 

<><><> 

Dame Elizabeth Rosemond Taylorborn on 27th February 1932 was a British-American actress, businesswoman, andhumanitarian. She began her career as a child actress in the early 1940s, andwas one of the most popular stars of classical Hollywood cinema in the1950s.She continued her career successfully into the 1960s, and remained awell-known public figure for the rest of her life.

<><><> 

श्यामलाल बाबू राय उर्फ़ इन्दीवर

 

मृत्यु- 27 फ़रवरी,1997, मुम्बई भारत के प्रसिद्धगीतकारों में गिने जाते थे। इनके लिखे सदाबहार गीत आज भी उसी शिद्‌दत व एहसास केसाथ सुने व गाए जाते हैं, जैसे वह पहलेसुने व गाए जाते थे। इन्दीवर ने चार दशकों में लगभग एक हज़ार गीत लिखे, जिनमें से कई यादगार गाने फ़िल्‍मों कीसुपर-डुपर सफलता के कारण बने।

 

वर्ष 1963 में बाबू भाईमिस्त्री की संगीतमय फ़िल्म 'पारसमणि' की सफलता के बाद इन्दीवर शोहरत की बुंलदियों परजा पहुंचे। इन्दीवर के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी निर्माता-निर्देशक मनोज कुमारके साथ बहुत खूब जमी। मनोज कुमार ने सबसे पहले इन्दीवर से फ़िल्म 'उपकार' के लिये गीत लिखने की पेशकश की। कल्याणजी-आनंदजी के संगीत निर्देशन मे फ़िल्म 'उपकार' के लिए और पूरब और पश्चिम' के लिये भीइन्दीवर ने गीत लिखकर अपना अलग ही समां बांधा।

 

1975 मे प्रदर्शित फ़िल्म 'अमानुष' के लिये इन्दीवरको सर्वश्रेष्ठ गीतकार का 'फ़िल्म फेयरपुरस्कार' दिया गया। इन्दीवर नेअपने सिने कैरियर में लगभग 300 फ़िल्मों केलिये गीत लिखे।

 

 

और श्रोताओं अब वक्‍त हो चला है आप से अनुमति लेने का। तो इजाज़त दीजिए विशालशर्मा और रेशमा तिवारी को आज का परिक्रमा कार्यक्रम यहीं पर सम्‍पन्‍न करने की।

 

नमस्कार।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 10 (Apr) Midday News 10 (Apr) Evening News 9 (Apr) Hourly 10 (Apr) (1910hrs)
समाचार प्रभात 10 (Apr) दोपहर समाचार 10 (Apr) समाचार संध्या 9 (Apr) प्रति घंटा समाचार 10 (Apr) (1900hrs)
Khabarnama (Mor) 10 (Apr) Khabrein(Day) 10 (Apr) Khabrein(Eve) 9 (Apr)
Aaj Savere 10 (Apr) Parikrama 10 (Apr)

Listen Programs

Market Mantra 10 (Apr) Samayki 1 (Jan) Sports Scan 9 (Apr) Spotlight/News Analysis 9 (Apr) Employment News 10 (Apr) रोजगार समाचार 10 (Apr) World News 9 (Apr) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 9 (Apr) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 10 (Apr) North East Diary 8 (Apr)