A- A A+
Last Updated : Oct 25 2020 10:37AM     Screen Reader Access
News Highlights
Prime Minister Narendra Modi to share his thoughts in 'Mann Ki Baat' programme at 11 this morning            Health Minister Dr Harsh Vardhan says Corona vaccine likely be available in country by January 2021            Last date for filing of Income Tax and GST returns extended till 31st of December            Dussehra is being celebrated across country today            IPL Cricket: Kings XI Punjab beat Sunrisers Hyderabad by 12 runs in Dubai           

Text Bulletins Details


समाचार प्रभात

0800 HRS
18.09.2020

मुख्य समाचार

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बिहार में कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन करेंगे।

  • लोकसभा ने किसानों के जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए कृषि सुधार से संबंधित दो विधेयक पारित किए।

  • प्रधानमंत्री ने निचले सदन में विधेयक पारित होने का स्वागत किया। कहा-विपक्षी पार्टियां किसानों को गुमराह कर रही हैं।

  • हरसिमरत कौर बादल के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री का पद छोड़ने के बाद कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को इसका अतिरिक्त प्रभार मिला।

  • देश में कोविड से स्वस्थ होने की दर 78 दशमलव छह चार प्रतिशत हुई।

  • स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा- कोरोना का टीका अगले वर्ष के शुरु में उपलब्ध हो जायेगा।

------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। वे बिहार की जनता के लिए यात्री सुविधाओं से संबंधित 12 रेल परियोजनाओं का भी शुभारंभ करेंगे। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

हमारे संवाददाता ने बताया है कि एक दशमलव 9 किलोमीटर लंबे कोसी महासेतु के निर्माण पर पांच अरब 16 करोड़ रुपये की लागत आई है।

86 वर्षों के बाद मिथिला और कोसी क्षेत्र के लोगों का सपना साकार होने जा रहा है। निर्मली और सरायगढ़ के बीच की दूरी 298 किलोमीटर से घटकर 22 किलोमीटर हो जाएगी। 1934 में भारी बाढ़ और भारत-नेपाल में भीषण भूकंप के कारण यह रेल संपर्क बह गया था। यह महासेतु  भारत-नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक राजनीतिक संपर्क प्रदान करेगा। प्रधानमंत्री सुपोल, सरायगढ़, आसनपुर-कुपाहा-राघवपुर रेल खंड पर डीएमयू ट्रेन को रवाना करेंगे। हाजीपुर, वैशाली और इस्‍लामपुर-नटेशर नई रेललाइऩ पर भी पैसेन्जर ट्रेन पर परिचालन आज से शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री बरोनी स्थित बिहार के पहले विद्युत लोकोसेट का लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री समस्तीपुर-जयनगर, समस्‍तीपुर-खगडिया, भागलपुर-शिवनारायणपुर, कटिहार-न्‍यू जलपाईगुड़ी और सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर- नई विद्युतीकृत रेलखंड का भी उद्घाटन करेंगे। आकाशवाणी समाचार के लिए पटना से कृष्ण कुमार लाल।

------

लोकसभा ने कृषक उपज व्‍यापार और वाणिज्‍य (संवर्धन  और सरलीकरण) विधेयक 2020 और किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्‍वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020, ध्‍वनिमत से पारित कर दिये हैं।

दोनो विधेयकों पर हुई बहस का जबाव देते हुए कृषि मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों के अधिकारों की रक्षा के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कृषि अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूत बनाने के लिए सुधार के अनेक उपाय किए हैं। श्री तोमर ने कहा कि सरकार ने स्‍वामीनाथन आयोग कि रिपोर्ट के अनुसार कृषि जिन्‍सों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य में डेढ़ गुना बढोतरी की।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसके खिलाफ विपक्षी दलों का विरोध कल्‍पना पर आधारित और राजनीति से प्रेरित है। उन्‍होंने कहा कि नये कानून के प्रावधानों के अनुसार यदि किसान अपनी उपज की बिक्री करेंगे तो उन्‍हें मंडी कर नहीं देना होगा, जो दो प्रतिशत से साढ़े आठ प्रतिशत तक होता है।

कांग्रेस पार्टी द्वारा विधेयक का विरोध किए जाने को अनुचित बताते हुए श्री तोमर ने कहा कि उसने पंजाब के चुनाव घोषणा पत्र में एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में कृषि उपज की बे-रोकटोक आवाजाही की अनुमति देने के लिए एएमपीसी अधिनियम में संशोधन करने का वायदा किया था। श्री तोमर ने कहा कि जिन सदस्‍यों ने कृषि विधेयकों के फायदों का पहले समर्थन किया था वे अब राजनीतिक लाभ के लिए इस विधेयक का विरोध कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि इस ऐतिहासिक कानून से कृषि उपज और खेती के क्षेत्र में इंस्‍पेक्‍टर और लाइसेंस राज की समाप्ति होगी। कांग्रेस, आरएसपी और अन्‍य विपक्षी पार्टियों ने मंत्री के जवाब के बाद सदन से वॉकआउट किया।

इससे पहले कृषि मंत्री ने कृषि क्षेत्र से संबंधित दो विधेयक  लोकसभा में पेश किए। ये विधेयक इस वर्ष पांच जून को जारी किए गए समान अध्‍यादेशों का स्‍थान लेंगे। विधेयकों को ऐतिहासिक बताते हुए श्री तोमर ने कहा कि इनके पारित होने से देश में किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे।

संपूर्ण देश के किसानों को यह बहुत जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूँ कि देश में नरेन्द्र मोदी जी के रहते हुए न तो कभी गांव गरीब किसान का आहत हुआ है और न ही आने वाले कल में होगा। जो कृषक उपज व्यापार और  वाणिज्य विधेयक और कीमत और प्रशासन का विधेयक, दोनों लाए गए हैं, यो दोनों विधेयक किसान के जीवन में एक क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले विधेयक हैं। 

कुछ सदस्‍यों की आशंकाओं का निराकरण करते हुए श्री तोमर ने स्‍पष्‍ट किया कि इन विधेयकों से कृषि उपज बाजार समिति- ए.एम.पी.सी. अधिनियम का प्रभाव किसी भी तरह कम नहीं होगा। उन्‍होंने आश्‍वासन दिया कि कृषि जिन्‍सों के लिए न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य की प्रणाली जारी रहेगी और प्रस्‍तावित कानूनों से किसानों को अंतर-राज्‍य बाजारों तक पहुंच कायम करने की अतिरिक्‍त सुविधा मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि लाइसेंस और स्‍टॉक सीमा रहित व्‍यापार की सुविधा दिए जाने से किसानों की उपज खरीदने वालों की संख्‍या भी बढेगी। उन्‍होंने कहा कि इससे प्रतिस्‍पर्धा बढ़ेगी और किसानों को उनकी उपज का बेहतर दाम मिलेगा।

कृ‍षक उपज व्‍यापार और वाणिज्‍य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक-2020 किसानों को अपनी उपज के इलेक्‍ट्रॉनिक व्‍यापार की सुविधा भी प्रदान करेगा। इससे वे कृषि जिन्‍सों की प्रत्‍यक्ष ऑनलाइन खरीद-फरोख्‍त के लिए लेन-देन प्‍लेटफॉर्म स्‍थापित कर सकेंगे।

किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्‍वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 के अनुसार पैदावार या फसल उगाने से पहले खेती संबंधी करार किए जा सकेंगे। ऐसे समझौते में कृषि उपज की खरीद के लिए निश्चित मूल्‍य का उल्‍लेख किया जा सकेगा।

आर.एस.पी. सदस्‍य एन के प्रेमचन्‍द्रण ने विधेयक का विरोध किया और कहा कि सरकार वैश्विक महामारी के कठिन दौर में ये विधेयक किसानों पर थोपना चाहती है। उन्‍होंने मांग की कि इन विधेयकों को अधिक विचार-विमर्श के लिए स्‍थाई समिति का सौंपा जाए। कांग्रेस के रवनीत सिंह ने कहा कि क‍ृषि  चूंकि समवर्ती सूची का विषय है इसलिए इस पर राज्‍य सरकारों  की राय भी ली जानी चाहिए। टी.एम.सी. सदस्‍य महुआ मोइत्रा ने विधेयक का विरोध किया और इसे देश की संघीय व्‍यवस्‍था के खिलाफ बताया। विधेयक का विरोध करने वाली अन्‍य राजनीतिक पार्टियों में डी.एम.के., टी.आर.एस., आप और आई.यू.एम.एल. शामिल हैं। शिवसेना ने लोकसभा में इस विधेयक का समर्थन किया।

शिरोमणि अकाली दल के सदस्‍य सुखबीर सिंह बादल ने विधेयक का जबरदस्‍त विरोध किया और कहा कि इससे पिछले 50 वर्षों में पंजाब में विभिन्‍न सरकारों द्वारा कृषि संबंधी विकास के लिए किए गए रचनात्‍मक कार्य धूमिल हो जाएंगे।

------ 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कृषि से जुडे़ इन दोनों विधेयकों के पारित होने पर बधाई देते हुये कहा कि यह ऐतिहासिक कदम है। उन्‍होंने कहा कि कृषि सुधार विधेयक देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिये बेहद महत्‍वपूर्ण हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसानों की उपज, व्‍यापार एवं वाणिज्‍य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक, 2020 और मूल्‍य आश्‍वासन और कृषि सेवा (सशक्तिकरण और संरक्षण) विधेयक-2020 किसानों को हर तरह के बिचौलियों और रूकावटों से आजाद करेगा। उन्‍होंने कहा कि कृषि से जुडे़ इन सुधारों से किसानों को उपज बेचने के नये अवसर मिलेंगे, जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी।

श्री मोदी ने आश्‍वासन दिया कि इन विधेयकों से देश के किसानों को ताकत मिलेगी और उन्हें आधुनिक प्रोद्योगिकी के लाभ भी मिलेंगे। श्री मोदी ने कहा कि नये विधेयक के प्रावधानों को लेकर किसानों को भ्रम में डालने की कई शक्तियां कोशिश कर रही हैं। उन्‍होंने किसानों को आश्‍वासन दिया कि अधिकतम समर्थन मूल्‍य और सरकारी खरीद प्रणाली पहले की तरह जारी रहेंगी। उन्‍होंने खुशी व्‍यक्‍त की कि इन विधेयकों से किसानों को और कई मजबूत विकल्‍प उपलब्‍ध होंगे।

------

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने श्रीमती हरसिमरत कौर बादल का केन्द्रीय मंत्री परिषद से इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। आज सुबह राष्ट्रपति भवन से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को उनके वर्तमान विभाग के अतिरिक्त खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का प्रभार भी सौंप दिया गया है।

------

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कल कहा कि भारत उचित और शांतिपूर्ण ढंग से चीन के साथ मौजूदा सीमा विवाद के समाधान के लिए प्रतिबद्ध है। लद्दाख क्षेत्र में सीमा पर हाल के घटनाक्रम के बारे में राज्‍यसभा में उन्‍होंने कहा कि देश किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। रक्षामंत्री ने कहा कि चीन वास्‍तविक नियंत्रण रेखा-एलएसी पर यथास्थिति बदलने की कोशिश कर रहा है, जो किसी भी हाल में भारत के लिए स्‍वीकार्य नहीं है। श्री सिंह ने कहा कि सीमा पर मौजूदा स्थिति पहले की तुलना में भिन्न है।

किसी को भी हमारी सीमा की सुरक्षा के प्रति हमारे दृढ़ निश्‍चय के बारे में संदेह नहीं होना चाहिए। वहीं भारत यह भी मानता है कि पड़ोसियों के साथ शांतिपूर्ण संबंधों के लिए आपसी सम्‍मान और संवेदनशीलता भी यह रखना आवश्‍यक है। चीन द्वारा ट्रुप्स की भारी मात्रा में तैनाती किये जाना 1993 और 1996 के समझौतों का उल्लंघन है। जबकि हमारी आर्म-फोर्सेस इसका पूरी तरह से पालन करती हैं।

------

सेनाध्‍यक्ष जनरल एम एम नरवणे कश्‍मीर के दो दिवसीय दौरे पर कल श्रीनगर पहुंचे। उन्‍होंने उत्‍तरी कश्‍मीर में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर हालात का जायजा लिया। सेनाध्‍यक्ष ने ऊंचाई वाले क्षेत्रों में डटे जवानों के साथ बातचीत की और पाकिस्‍तान के संघर्ष-विराम उल्‍लंघनों का माकूल जवाब देने के लिये उनकी प्रशंसा की। श्री नरवणे ने समूची नियंत्रण रेखा पर दिन-रात असरदार निगरानी के लिये प्रौद्योगिकी के इस्‍तेमाल की भी तारीफ की। उन्‍होंने कहा कि इसी से पाक अधिकृत कश्‍मीर में घुसपैठ की ज्‍यादातर कोशिशों को विफल करने में मदद मिली है। जनरल नरवणे ने सीमा-क्षेत्रों के आसपास रह रहे आम लोगों का हरसंभव समर्थन बढाने की जरूरत पर जोर दिया।

बाद में सेनाध्‍यक्ष ने उत्‍तरी क्षेत्र और चिनार के कमांडरों के साथ समूचे हालात पर बातचीत की। उन्‍होंने जम्‍मू-कश्‍मीर के उपराज्‍यपाल मनोज सिन्‍हा से भी मुलाकात की और आश्‍वासन दिया कि इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम करने के लिये सेना का पूरा समर्थन रहेगा।

------

आकाशवाणी से सेवा सप्‍ताह श्रृंखला के अंतर्गत आज प्रस्तुत है स्‍वच्‍छ भारत के बारे में एक विशेष रिपोर्ट। पिछले छह वर्षों में नरेन्‍द्र मोदी सरकार ने स्‍वच्‍छ भारत पर विशेष ध्‍यान दिया है।

स्‍वच्‍छ भारत मिशन के माध्‍यम से ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में अलग-अलग ध्‍यान केन्द्रित किया गया और इस मिशन ने देश में स्‍वच्‍छता सुनिश्चित करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके परिणामस्‍वरूप सभी राज्‍यों में ग्रामीण क्षेत्र पिछले वर्ष 2 अक्‍टूबर से खुले में शौच से मुक्‍त घोषित किए जा चुके हैं।

पिछले महीने नई दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छता केन्‍द्र का उद्घाटन करते हुए श्री मोदी ने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान से नागरिकों में व्‍यावहारिक बदलाव आया है।

देश के बच्चे-बच्चे में पर्सनल और सोशल हाइजिन को लेकर जो चेतना पैदा हुई है उसका बहुत बड़ा लाभ कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में भी मिल रहा है। आप जरा कल्पना कीजिए अगर कोरोना जैसी महामारी 2014 से पहले आती तो क्या स्थिति होती। शौचालय के आभाव में क्या हम संक्रमण की गति को कम करने में रोक पाते। क्या तब लॉकडाउन जैसी व्यवस्थाएं संभव हो पाती। जब भारत की साठ प्रतिशत आबादी खुले में शौच के लिए मजबूर थी। स्वच्छाग्रह ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमें बहुत बड़ा सहारा दिया है।

   

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अपने दूसरे चरण की ओर बढ़ा है जिसे ओडीएफ-प्लस कहा जाता है। स्वच्छ भारत मिशन शहरी में स्वच्छता और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन दोनों क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति हासिल की है। देश में अब तक चार हजार तीन सौ 24 से अधिक शहरी स्थानीय निकायों को खुले में शौच से मुक्त यानि की ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। 66 लाख से अधिक व्यक्तिगत घरेलू शौचालय  और छह लाख से अधिक सामुदायिक और सार्वजनिक शौचालय भी बनाए गए हैं। ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के क्षेत्र में 96 प्रतिशत वार्डों में 100 प्रतिशत घर से घर कचरा संग्रह किया जाता है और कुल कचरे का 66 प्रतिशत संशाधित किया जा रहा है। सुपर्णा सेतिया के साथ अनुमप मिश्र आकाशवाणी समाचार दिल्ली।

------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के जन्‍मदिन पर कल देश के अलग-अलग हिस्‍सों से लेागों ने उन्‍हें शुभकामनाएं दीं और जनकल्‍याण की योजनाओं के लिए उनका आभार प्रकट किया।

------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपने जन्‍मदिन पर शुभकामनाओं के लिए लोगों के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया है और लोगों से कोरोना पर रोक लगाने के लिए मास्‍क पहनने तथा सुरक्षित दूरी बनाए रखने के नियमों का पालन करते रहने का अनुरोध किया है। कल देर रात जारी ट्वीट संदेश में प्रधानमंत्री ने लिखा है कि लोगों ने उनसे पूछा है कि वे अपने जन्‍मदिवस पर क्‍या चाहते हैं।

प्रधानमंत्री कल 70 वर्ष के हो गये। उन्‍होंने बताया कि देश-विदेश के लोगों ने उन्‍हें शुभकामनाएं दी हैं और वे उन सभी का आभार व्‍यक्‍त करते हैं। श्री मोदी ने कहा कि इन शुभकामनाओं से उन्‍हें देशवासियों की अधिक से अधिक सेवा करने की प्रेरणा मिलती है।

------

देश में कोविड रोगियों के स्‍वस्‍थ होने की दर 78 दशमलव छह-चार प्रतिशत हो गई है। बीते एक दिन में 82 हजार से अधिक मरीज़ स्‍वस्‍थ हुए हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि अब तक 40 लाख 25 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं। स्‍वस्‍थ होने वालों की संख्‍या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और वर्तमान में संक्रमित लोगों की कुल संख्‍या 19 दशमलव सात-तीन प्रतिशत रह गई है। संक्रमण से मरने वालों की दर एक दशमलव छह तीन प्रतिशत रह गई है। 

पिछले 24 घंटों के दौरान एक हजार एक सौ 32 लोगों की मौत हुई है। मृतकों का कुल आंकड़ा 83 हजार एक सौ 98 पर पहुंच गया है। पिछले 24 घंटों के दौरान 11 लाख 36 हजार से अधिक कोविड की जांच की गई। देश में अब तक छह करोड़ पांच लाख से अधिक जांच की जा चुकी है। 

------

कर्नाटक में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के नौ हजार तीन सौ 66 नये मरीजों की पुष्टि होने के साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर चार लाख 94 हजार 356 हो गई है। इस दौरान सात हजार 268 लोगों को कोविड से ठीक होने के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। राज्य में अब तक तीन लाख 83 हजार 77 लोग इस संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं।

------

गुजरात में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के एक हजार तीन सौ उनासी नये मामले सामने आए हैं। राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या एक लाख 19 हजार 88 हो गई है। और ब्यौरा हमारे अहमदाबाद संवाददाता से-

गुजरात में कल 1 हजार 652 मरीज ठीक होने के साथ मरीजों के ठीक होने की दर 83 दशमलव 81 प्रतिशत हो गई है। अब तक 99 हजार 808 मरीज ठीक हो चुके है। राज्य में कुल 36 लाख 9 हजार से अधिक लोगों का कोविड-19 के लिए परिक्षण किया जा चुका है। इसमें से 85 हजार 820 परिक्षण कल एक ही दिन में किये गए। कल 14 मरीजों की मृत्यु के साथ कोविड-19 से जान गंवाने वाले मरीजों की संख्या 3 हजार 273 हो चुकी है। इस बीच संक्रमण के नये मामले सामने आने के बाद अहमदाबाद नगर निगम ने 11 नये क्षेत्रों को माइक्रो कन्टेनमेंट जोन में शामिल किया है। योगेश पंड्या, आकाशवाणी समाचार, अहमदाबाद।

------

छत्‍तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सीरो सर्वेक्षण कल से शुरू हो गया है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के दलों ने एंटीबॉडी की जांच करने के लिए रायपुर, दुर्ग और राजनंदगांव जिले में लोगों के नमूने लिये।

इस बीच, छत्‍तीसगढ़ में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्‍या 75 हजार से अधिक हो गई है।

राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अनुसार छत्‍तीसगढ़ में इस समय 36 हजार 36 लोगों का उपचार हो रहा है और 41 हजार एक सौ 11 मरीज उपचार के बाद स्‍वस्‍थ हो चुके हैं।

------

ओडिशा में हर दिन कोविड के करीब चार हजार नये मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में कल संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख 67 हजार 161 पर पहुंच गई। इसके अलावा कल एक ही दिन में रिकॉर्ड चार हजार 121  मरीज कोरोना से स्वस्थ हुए।

------

तमिलनाडु में कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर करीब नवासी दशमलव पांच प्रतिशत हो गई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के ताजा आंकडों के अनुसार राज्‍य में संक्रमितों की कुल संख्‍या पांच लाख 25 हजार पर पहुंच गयी!

इस बीच चेन्नई नगर निगम ने शहर में प्रत्येक फेरीवाले को एक हजार रुपये की वित्‍तीय सहायता की तीसरी किश्त वितरित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

तमिलनाडु में पिछले कुछ सप्ताह से कोविड-19 के सक्रिय मामलों की स्थिति स्थिर है और यह संख्या 46 दशमलव छह हजार हो गई है। अऩलॉक-4 में दी गई छूट के बाद प्रतिदिन औसतन करीब पांच हजार पांच सौ संक्रमण के नये मामले आ रहे हैं। प्रतिदिन 80 हजार से ऊपर परीक्षण कराए जा रहे हैं।  सभी परीक्षण आरटी-पीसीआर किट के प्रयोग से किये जा रहे हैं। राज्य में मृत्यु दर एक दशमलव छह चार प्रतिशत बनी हुई है। विशेषज्ञों के अनुसार हालांकि राज्य में आंकड़े स्थिर हो रहे हैं लेकिन फिर भी वायरस को फैलने से रोकने के लिए सावधानी और सुरक्षित उपायों की निरन्तर आवश्यकता है। चेन्नई से जयसिंह की रिपोर्ट के साथ अरुण होरा।

------

केन्‍द्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने कोविड वैश्विक महामारी के दौरान भारतीय दवा उद्योग के योगदान की तारीफ की है। वे इन्‍वेस्‍ट इंडिया फर्मा ब्‍यूरो और फार्मास्‍युटिकल विभाग की ओर से आयोजित एक वेबीनार को संबोधित कर रहे थे।

श्री गौडा ने कहा कि मेडिकल उपकरणों को देश में विकसित करने की क्षमता बेहद महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि यह स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल में सुधार और सस्‍ते दर पर उपलब्‍ध है।

------

आकाशवाणी समाचार से बातचीत में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली के डॉक्टर नीरज निश्चल ने बताया कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए खुद को सबसे अलग रखना बेहद जरूरी है और इससे बचाव के लिए मास्क पहनना अति आवश्यक है।

हमें स्पेशल सावधानी रखने की जरूरत है। घर में जो भी वनुरेबल है यानि की घर में कोई एलडर्ली है कोई ऐसा है जिसकों पहले से कोई बीमारी है ऐसे लोगों को डेफेन्टली उस घर से अगर दूसरी जगह रख सकते हैं तो बहुत अच्छा है अदरवाइज़ यह इनश्योर करना है कि जो भी इनफेक्टेड आदमी है वो उन लोगों से दूर रहे कोई भी चीज और किसी भी तरह का इंटरेक्शन कोई भी सामान शेयरिंग नहीं होना चाहिए घर में पेशेंट को भी मास्क पहनकर रहना पड़ेगा। ताकि कोई भी अगर बाई-चान्स गलती से भी कोई इंटरेक्शन हो तो पासिबलिटी इंफेक्शन एक दूसरे को मिलने की पासिबिलिटी कम है।

------

राज्‍यसभा सांसद अशोक गस्‍ती का कल बेंगलुरू के निजी अस्‍पताल में निधन हो गया। अस्‍पताल के निदेशक डॉ. मनीष राय ने बताया कि 55 वर्ष के श्री गस्‍ती कोविड से संक्रमित थे और उन्‍हें निमोनिया हो गया था। वे पेशे से वकील और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व महासचिव थे।

------

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेश ने कहा है कि विश्‍व के देशों को कोविड फैलने से रोकने के लिए महत्‍वपूर्ण उपचार करने और अगले वर्ष लोगों की जान बचाने के लिए एकजुट होना चाहिए। उन्‍होंने कोरोना वायरस को विश्‍व में एक बड़ा सुरक्षा खतरा बताया।

  ------

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आशा व्‍यक्‍त की है कि कोविड का टीका अगले वर्ष के शुरू में उपलब्‍ध हो जाएगा। उन्‍होंने बताया‍ कि तीन कंपनियां वैक्‍सीन तैयार करने के नैदानिक परीक्षण के पहले, दूसरे और तीसरे चरण में पहुंच चुकी हैं।

भारत में हमारे जो कैंडिडेट वैक्सीन हैं उसमें तीन लगभग ऐसे हैं जो फेज-1, फेज-2 और फेज-3 के अंदर पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में एक एक्सपर्ट ग्रुप इस सारे विषय को भी बड़ी गहराई से अध्ययन कर रहा है। हमारे को उम्मीद है कि अगले साल की शुरूआत के अंदर भारत के अंदर वैक्सीन उपलब्ध हो जानी चाहिए।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि सरकार ने राज्‍य सरकारों को हर तरह का सहयोग दिया है और कोविड जांच प्रणाली में सुधार के लिए देश भर के प्रयोगशाला नेटवर्क को मजबूती प्रदान की है।

------

उत्तर प्रदेश सरकार ने बच्चों में कुपोषण की कमी दूर करने के लिए एक अनूठा कदम उठाया है। इसके तहत उन परिवारों को गाय देने का निर्णय लिया है, जिनके बच्चे कुपोषित हैं। पोषण अभियान के अंतर्गत उठाये गये इस कदम से राज्य में बच्चों और महिलाओं में कुपोषण दूर किया जा सकेगा। 

राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री गोवंश निराश्रित सहभागिता योजना के तहत अपनी गौशालाओं से उन परिवारों को गाय देने का फैसला किया है जिनके घर में कुपोषित महिलाएं और बच्चे हैं क्योंकि गाय का दूध कुपोषण को खत्म करने में काफी कारगर है। राज्य के पशुधन विभाग के प्रमुख सचिव भुवनेश कुमार की ओर से सभी जिलाधिकारियों को भेजे गए पत्र के अनुसार यह गाय उन परिवारों को दी जाएंगी जो उन्हें रखने के इच्छुक हैं और जिनके पास इन्हें रखने के लिए पर्याप्त स्थान है। अगर ऐसे परिवार की इच्छा होगी तो उन्हें गौशालाओं में आकर गाय को चुनने का भी अवसर दिया जाएगा। गाय के पालन पोषण के लिए 30 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से राशि भी ऐसे परिवारों के खाते में भेजी जाएगी। सुशील चन्द्र तिवारी, आकाशवाणी समाचार, लखनऊ।

------

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में आमतौर पर बादल छाये रहने के साथ-साथ हल्‍की वर्षा होने या बौछारें पड़ने की उम्मीद है। न्‍यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा।  मुम्‍बई में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और हल्‍की बारिश हो सकती है। तापमान 25 और 32 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है।   चेन्‍नई में न्‍यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जबकि अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। कोलकाता में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। एक-दो स्‍थानों पर गरज के साथ वर्षा हो सकती है। न्‍यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। केन्‍द्र शासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर के जम्‍मू में न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा, अधिकतम 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। श्रीनगर में न्‍यूनतम तापमान 12 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। गिलगित में न्‍यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस रहा और अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।  मुजफ्फराबाद में भी आसमान साफ रहने का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है। न्‍यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया और अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। समाचार कक्ष से मृगनयनी पांडेय।

------

समाचार पत्रों की सुर्खियां से

लोकसभा में कल हंगामें के बीच कृषि बिल पारित होने की खबर सभी अखबारों में प्रमुखता से है। हिन्‍दुस्‍तान की पहली खबर है- कृषि विधेयकों पर सियासी उबाल, हरसिमरत ने इस्‍तीफा दिया। दैनिक भास्‍कर ने कृषि मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर के इस आश्‍वासन को दिया है- नये विधेयकों से न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर कोई असर नहीं पड़ेगा। अमर उजाला की सुर्खी है- सरकार ने कृषि विधेयकों को क्रांतिकारी बदलाव बताते हुए कहा- विपक्ष फैला रहा भ्रम, मंडियों के भरोसे नहीं छोड़ेंगे किसान को। 

राज्‍यसभा से सभी दलों ने चीन को दिया सख्‍त संदेश। दैनिक ट्रिब्‍यून की खबर है। पत्र ने रक्षा मंत्री के इस ब्‍यान को भी दिया है- कड़ा कदम उठाने को तैयार। जनसत्‍ता ने उनके इन शब्‍दों को दिया है- किसी कीमत पर नहीं झुकने देंगे भारत का भाल। अमर उजाला कहता है- भारत की ड्रैगन को नसीहत, एलएसी से पूरी तरह सेना हटाने के लिए मिलकर काम करें। 

केन्‍द्र सरकार का सुप्रीम कोर्ट में यह कहना कि इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया से पहले डिजिटल मीडिया के लिए नियमों की जरूरत है। नवभारत टाइम्‍स सहित सभी अखबारों में है।

दिल्‍ली एयरपोर्ट पर प्राईवेट प्‍लेन के लिए टर्मिनल शुरू। अभी तक निजी जेट के लिए नहीं था अलग टर्मिनल, दैनिक भास्‍कर की खबर है। दैनिक जागरण की खबर है ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश। पत्र ने आगे लिखा है- कंप्‍यूटर पर मालवेयर भेजकर करते थे ठगी।

दैनिक भास्‍कर की खबर है- पहली बार 10 महिला वैज्ञानिकों की टीम ने समुद्र में तीन महीने तक रिसर्च किया, कई शैवाल ढूंढे जो जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मददगार होंगे।

------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 25 (Oct) Midday News 24 (Oct) Evening News 24 (Oct) Hourly 25 (Oct) (1010hrs)
समाचार प्रभात 25 (Oct) दोपहर समाचार 24 (Oct) समाचार संध्या 24 (Oct) प्रति घंटा समाचार 25 (Oct) (1000hrs)
Khabarnama (Mor) 25 (Oct) Khabrein(Day) 24 (Oct) Khabrein(Eve) 24 (Oct)
Aaj Savere 25 (Oct) Parikrama 24 (Oct)

Listen Programs

Market Mantra 24 (Oct) Samayki 9 (Aug) Sports Scan 24 (Oct) Spotlight/News Analysis 24 (Oct) Employment News 24 (Oct) World News 24 (Oct) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 24 (Oct) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 24 (Oct) North East Diary 22 (Oct)