A- A A+
Last Updated : Aug 11 2020 10:20PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi calls for increased COVID-19 testing & contact tracing in states with high case load            Coronavirus recovery rate close to 70% in country: Govt            DAC approves procurement proposals worth over Rs. 8,722 crore including 106 Basic Trainer Aircraft for IAF            Renowned lyricist & poet Rahat Indori passes away            Russia launches first vaccine against coronavirus           

Text Bulletins Details


समाचार प्रभात

0800 HRS
01.08.2020

मुख्य समाचार-

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज शाम स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन को संबोधित करेंगे।

  • कोविड-19 के कंटेनमेंट जोन को छोडकर अन्‍य स्‍थानों पर कुछ और गतिविधियां शुरू करने संबंधी नये दिशा-निर्देश आज से लागू।

  • सरकार ने अंतर्राष्‍ट्रीय उडानों पर प्रतिबंध 31 अगस्‍त तक बढाया।

  • 23 देशों से भारतीयों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन का 5वां चरण आज से शुरू।

  • ईद-उल-अजहा आज देशभर में मनायी जा रही है।

--------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज शाम साढ़े चार बजे अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन को संबोधित करेंगे। इस अवसर पर वे विद्यार्थियों से बातचीत भी करेंगे। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने बताया कि स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन-2020 का अंतिम सत्र तीन अगस्‍त को होगा।

इस संस्करण का जो हम हैकाथॉन कर रहे है। इसमें साढ़े चार लाख से भी अधिक छात्र सहभागी भी है। ये जो हैकाथॉन है ये राज्य सरकारों समस्याएं, यह केन्द्र सरकार की विभागों की समस्याएं और उद्योग जगत की जो समस्याएं या उनको क्या आइडियाज चाहिए हमारे प्रतिभाशाली छात्र इस बात को सुनिश्चित कर रहे हैं कि जो भी समस्याएं दिखी है या उनके मस्तिष्क में जो भी नया आइडियाज आ रहा है स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के माध्यम से उन समस्याओं का समाधान करेंगे।

हमारे संवाददाता ने बताया है कि मानव संसाधान विकास मंत्रालय द्वारा आयोजित हैकाथॉन का यह चौथा संस्‍करण है। इस हैकाथॉन से युवाओं में लीक से अलग हटकर सोचने की प्रवृत्ति प्रोत्‍साहित करने में अपार सफलता मिली है। 

स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन एक राष्‍ट्रव्‍यापी पहल है, जो छात्रों को हमारे दैनिक जीवन में आने वाली बडी समस्‍याओं को हल करने के लिए एक मंच प्रदान करता है। 2017 में इस हैकाथॉन के पहले संस्‍करण में 42 हजार छात्रों ने भाग लिया था। वहीं 2018 में एक लाख और 2019 में दो लाख से अधिक छात्रों ने भाग लिया था। स्‍मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2020 के पहले दौर में साढे चार लाख से अधिक छात्रों ने भाग लिया है। इस वर्ष सॉफ्टवेयर संस्‍करण का ग्रेंडफेनाले पूरे देश में सभी प्रतिभागियों को एक विशेष रूप से निर्मित उन्‍नत प्‍लेटफार्म पर ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है। केन्‍द्र सरकार के 37 विभागों, राज्‍य सरकारों के 17 विभागों के अलावा 20 उद्योगों के 243 समस्‍याओं को सुलझाने के लिए 10 हजार से अधिक छात्र हिस्‍सा लेंगे। दीपेन्‍द्र कुमार, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नई शिक्षा नीति 2020 पर अपने विचार रखेंगे। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी दी थी। इस नीति से शिक्षा क्षेत्र में बड़े बदलावों का रास्‍ता खुलेगा।  नई नीति 34 वर्ष पुरानी राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 1986 का स्‍थान लेगी। 

--------

उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने कहा है कि‍ नयी राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति देश के सभी बच्‍चों और नौजवानों की गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच बढ़ाने की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम है। उन्‍होंने नयी शिक्षा नीति को सरकार की मंजूरी मिलने पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि मातृभाषा और अनेक भाषाओं को पढ़ाए जाने संबंधी प्रावधान पर जोर दिया जाना भारत की क्षेत्रीय और प्राचीन भाषाओं के प्रति सम्‍मान और उन्‍हें महत्‍व प्रदान करने का प्रतीक है। इससे विद्यार्थियों में समग्र विश्‍व दृष्टि विकसित करने में मदद मिलेगी।

--------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश में मोबाइल टेलीफोन प्रणाली के 25 साल पूरे होने पर दूरसंचार उद्योग को बधाई दी है। दूरसंचार विभाग और सेल्‍यूलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने इस अवसर पर देश की डिजिटल उड़ान नाम का एक विशेष ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया। अपने पत्र में प्रधानमंत्री ने देश में दूरसंचार क्षेत्र के विकास के लिए दूरसंचार विभाग, दूरसंचार कंपनियों और सेल्‍यूलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के योगदान की सराहना भी की है। उन्‍होंने कहा है कि 25 साल पहले टेलीफोन संपर्क विशेष लोगों को ही उपलब्‍ध था, जबकि आज यह आम आदमी के सशक्‍तीकरण का माध्‍यम बन गया है।

पत्र में डिजिटल गति‍शीलता को विभिन्‍न प्रकार की सक्षमता को बढ़ावा देने वाला बताया गया है और कहा गया है कि इससे आम लोगों में सामाजिक, आर्थिक संपर्क और जानकारी का स्‍तर बढता है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि दूरसंचार क्षेत्र की उपलब्धियां सरकार की डिजिटल इंडिया पहल और जनधन-आधार तथा मोबाइल फोन को आपस में जोडने के अभियान--जैम के अनुरूप हैं।

--------

कोविड-19 महामारी के अत्‍याधिक प्रभाव वाले कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्‍य स्‍थानों पर कुछ और गतिविधियों की अनुमति देने संबंधी नये दिशानिर्देश आज से लागू हो रहे हैं। पूर्णबंदी हटाने के तीसरे चरण यानी अनलॉक-3 में चरणबद्ध तरीके से कुछ और गतिविधियों की इजाजत दे दी गयी है। गृह मंत्रालय ने इस बारे में नये दिशा-निर्देश बुधवार को जारी किये थे जो राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों से प्राप्‍त जानकारी तथा संबंधित केन्‍द्रीय मंत्रालयों और वि‍भागों के साथ व्‍यापक परामर्श से तैयार किये गये हैं।

नए दिशा-निर्देशों के तहत रात में बाहर निकलने पर लगी पाबंदी हटा दी गई है। इस महीने की पांच तारीख से जिम और योग संस्थानों को खोलने की इजाजत भी दी गई है। सोशल डिस्टेंशिंग और स्वास्थ्य संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम आयोजित किये जा सकेंगे। स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को 31 अगस्त तक बंद रखा गया है। वंदे भारत मिशन के तहत सीमित रूप से अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा की इजाजत भी दी गई है। मेट्रो रेल, सिनेमा घर, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क और बार को खोलने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा ऐसे सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और अन्य कार्यक्रमों पर पाबंदी होगी जहां भीड़ जमा होती है। सुपर्णा के साथ आनंद चतुर्वेदी आकाशवाणी समाचार, दिल्ली।

कंटेनमेंट जोन में होने वाली गतिविधियों की राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के अधिकारियों द्वारा कड़ी निगरानी की जाएगी और महामारी को ध्‍यान में रखते हुए लगाई गयी पाबंदियों पर कड़ाई से अमल किया जाएगा। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय कंटेनमेंट जोन के सही तरीके से निर्धारण और राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों द्वारा रोकथाम के उपायों की निगरानी करेगा। राज्‍य और केन्‍द्र शासित प्रदेश स्थिति के आकलन के आधार पर कंटेनमेंट जोन से बाहर भी कुछ गतिविधियों पर रोक या ऐसी पाबंदियां लगा सकते हैं जो भी जरूरी समझते हैं। लेकिन एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में या एक ही राज्‍य के भीतर लोगों या सामान के आने जाने पर कोई रोक नहीं होगी।

--------

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने भारत में दस लाख से अधिक कोविड मरीजों के स्‍वस्‍थ होने को एक बड़ी उपलब्‍धि‍ कहा है। नई दिल्‍ली में कल कोविड पर उच्‍च स्‍तरीय मंत्री समूह की 19वीं बैठक में डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने बताया कि भारत में स्‍वस्‍थ होने की दर 64 दशमलव पांच-चार प्रतिशत है। संक्रमित लोगों की संख्‍या सिर्फ 33 दशमलव दो-सात प्रतिशत है। उन्‍होंने कहा कि भारत में संक्रमण से मृत्‍युदर दो दशमलव एक-आठ प्रतिशत रही है। भारत दुनिया में सबसे कम मृत्‍युदर वाले देशों में शामिल है।

--------

दिल्‍ली में कोविड संक्रमित मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की दर में और सुधार आया है और यह नवासी दशमलव एक आठ प्रतिशत हो गई। देश में संक्रमण से स्‍वस्‍थ होने की दर दिल्ली में सबसे अधिक है। पिछले 24 घंटों में राजधानी दिल्‍ली में एक हजार दो सौ छह मरीज स्‍वस्‍थ हुए हैं जिससे अब तक स्‍वस्‍थ हुए मरीज़ों की संख्‍या एक लाख बीस हजार नौ सौ तीस हो गई। पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के एक हजार एक सौ पिचानवे नए मामले सामने आए हैं जिससे कुल कोविड संक्रमितों की संख्‍या एक लाख पैंतीस हजार पांच सौ अठानवे हो गई है।

--------

दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल ने अनलॉक किए जाने के तीसरे चरण में होटलों और साप्‍ताहिक बाजार खोलने के दिल्‍ली सरकार के फैसले को खारिज कर दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि इस मामले में मुख्‍यमंत्री अरविन्‍द केजरीवाल के साथ चर्चा हुई और यह तय किया गया कि स्थिति में सुधार के बावजूद महामारी का खतरा बना हुआ है, इसलिए सतर्क रहने की आवश्यकता है।

रेहड़ी पटरी वालों को आज से लंबे समय तक काम करने की अनुमति देने का प्रस्‍ताव मंजूर कर लिया गया है लेकिन होटलों और आति‍थ्‍य सेवाओं तथा साप्‍ताहिक बाज़ार खोलने का प्रस्‍ताव  फिलहाल टाल दिया गया है। राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण बाद में  इसकी समीक्षा करेगा।  

--------

बिहार विधानसभा के 3 अगस्‍त से शुरू होने वाले चार दिन के मानसून सत्र को कोरोना महामारी को ध्‍यान में रखते हुए केवल एक दिन का कर दिया गया है। विधानसभा अध्‍यक्ष विजय कुमार चौधरी की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक में इसका फैसला किया गया।

इस बीच बिहार में कोविड-19 के संक्रमण की पुष्टि वाले रोगियों की संख्‍या 50 हजार 987 हो गयी है। पिछले 24 घंटों में ऐसे 2 हजार 986 नये मामले सामने आये हैं। 

विधानसभा का सत्र 3 से 6 अगस्त तक 4 दिनों के लिए प्रस्तावित था कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए अब इसे एक दिन के लिए कर दिया गया है 3 अगस्त को ही सभी कार्यो का निपटारा कर लिया जाएगा। कोरोना के कारण इस बार बैठक विधानसभा के बाहर अन्य भवन में आयोजित की जाएगी। इस बीच राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 50 हजार 9 सौ 87 हो गई है कि 6 सौ 25 हो चुके हैं जबकि 17 हजार 38 का इलाज अस्पताल में चल रहा है 2 सौ 98 लोगों के अब तक मौत हो चुकी है। राज्य में कोरोना जांच  की क्षमता पर 20,000 से अधिक हो गई है अब तक 5 लाख 48 हजार से अधिक नमूनों की जांच हो चुकी है आकाशवाणी समाचार के लिए पटना से कृष्ण कुमार लाल।

--------

महाराष्‍ट्र में कोविड -19 के दस हजार तीन सौ बीस नए रोगियों का पता चलने के बाद राज्‍य में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्‍या चार लाख बाइस हजार एक सौ 18 पर पहुंच गई है। दो सौ पैंसठ लोगों की मौत के बाद इस महामारी से मरने वालों लोगों की संख्‍या 14 हजार नौ सौ 94 हो गई है।

महाराष्ट्र राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि महाराष्ट्र में अब तक कुल 2 लाख 56 हजार 1 सौ 58 कोरोना वायरस मरीजों को स्वस्थ होने पर छुट्टी दे दी गई है। राज्य की रिकवरी दर फिलहाल 60 दशमलव 68 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 3 दशमलव 55 प्रतिशत है। राज्य में अब तक 21 लाख 30 हजार 098 लोगों का परीक्षण किया गया है, जिनमें से एक लाख 50 हजार 9 सौ 66 लोग कोरोना वायरस बाधित हैं। मुंबई में 1,100 नए मामलों के साथ कोरोना वायरस मरीजों की संख्या बढकर 1 लाख 14 हजार 2 दो 87 हो गई है, वही अन्य 53 मरीजों की मौत के साथ मरने वालो की कुल संख्या 6 हजार 3 सौ 50 तक पहुंच गई ङै। नगर निगम द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार कुल 1 लाख 14 हजार 287 मरीजों में से 87 हजार 74 मरीज कोरोना वायरस संक्रमण से उबर चुके हैं। माधुरी पांगे, आकाशवाणी समाचार, मुंबई

--------

गुजरात में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के एक हजार एक सौ तिरपन नए मामले सामने आने के बाद राज्‍य में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्‍या इकसठ हजार के पार हो गई है। ब्यौरा हमारी संवाददाता से -

राज्य में कोविड़ 19 के सबसे अधिक मामले कल भी सूरत जिले से ही दर्ज हुए। कल जिले में कुल 289 मामले सामने आए। दूसरी ओर जिले में कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। कल पूरे राज्य से 833 रोगियों को इलाज के बाद विविध अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई जिनमें से 189 रोगी अकेले सूरत जिले से थे। पूरे राज्य में प्रतिदिन 700 से 800 रोगी कोरोना वायरस से पूरी तरह से ठीक हो रहे जिस से राज्य में कोविड 19 के रोगियों को ठीक होने की दर अब 63 प्रतिशत हो गई है।राज्य में दैनिक परीक्षणों की संख्या भी निरंतर बढ़ाई जा रही है । कल पूरे दिन में पूरे राज्य में 26 हजार नमूनों का परीक्षण किया गया।  अपर्णा खूंट, आकाशवाणी समाचार, अहमदाबाद

--------

कर्नाटक में कल कोविड-19 के पांच हजार 483 नए मामले सामने आए। इनमें से दो हजार 220 केवल बंगलूरू से हैं। राज्‍य में अभी 71 हजार 968 रोगियों का उपचार चल रहा है। कर्नाटक के स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण विभाग के अनुसार राज्‍य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्‍या एक लाख 24 हजार 115 हो गई है। कल कोरोना से 84 लोगों की मृत्‍यु के साथ कुल 2 हजार 314 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। राज्‍य में  मृत्‍युदर एक दशमलव आठ छह प्रतिशत है। 609 कोविड मरीजों का सघन चिकित्‍सा कक्ष में इलाज चल रहा है, जिनमें से 336 केवल बंगलूरू से हैं।

--------

तमिलनाडु में आयुर्वेद पद्धति को कोविड-19 के नैदानिक प्रबंधन का हिस्‍सा बना दिया गया है। इसे कोविड संक्रमण से बचाव की प्रतिरक्षा प्रणाली के रूप में प्रोत्‍साहन दिया जा रहा है।

इस बीच, राज्‍य में कल पांच हजार आठ सौ से अधिक नए मामलों के साथ कोविड-19 संक्रमितों की कुल संख्‍या दो लाख 45 हजार के पार पहुंच गई है।

कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में एलोपैथी प्रणाली के पूरक के रूप में आयुष पद्धति का भी व्यापक प्रयोग किया जा रहा है। तमिलनाडु में सिद्धा पद्धति 'कबासुर कुडिनीर' और होम्योपेथिक दवा आर्सेनिकम एल्बम-30 का भी भरपूर प्रयोग हो रहा है, क्योंकि इन्हें प्रतिरक्षा वर्द्धक के रूप में जाना जाता है। इन्हें लोगों और फील्ड वर्करों में व्यापक रूप में वितरित किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा की कल जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि आयुर्वेदिक दवाइयां सरकारी स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों से प्राप्त की जा सकती हैं। इनमें प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ाने की 'इंदुकांतम कश्यम' और 'अगस्थ्य रसायनम' जैसी प्रचलित पद्धतियां शामिल हैं। नैदानिक प्रबंधन में एलोपेथी तो मुख्य आधार है ही, लेकिन आयुष भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। चेन्नई से जय सिंह की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से मृगनयनी पांडे।

--------

कोरोना संक्रमण से बचाव ही, सुरक्षा है और बचाव के लिए हर वक्त मास्क लगाना बहुत जरूरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लगातार आम लोगों से मास्क लगाने और परस्पर दूरी का पालन करने की अपील की है।  हमारे संवाददाता ने बताया है कि प्रधानमंत्री की अपील के अनुरूप, मध्‍य प्रदेश के अनेक जिलों में आज से 15 अगस्त तक एक मास्क-अनेक जिंदगी नामक जन जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। 

एक मास्क-अनेक जिंदगी अभियान के दौरान लोगों को कोविड -19 के संक्रमण की रोकथाम के उपायों के बारे में बताया जाएगा। अभियान के दौरान नगर निगम शहर में इसी थीम पर जन जागरूकता रथ भी चलाएगा। खंडवा के निगमायुक्त हिमांशु भट्ट ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए मास्क सबसे सरलतम और कारगर साधन है।

कोरोना फैलने का सबसे बड़ा कारण यही है कि हम लोग मास्क पहने बिना इधर-उधर मार्केट में जाते हैं उससे जो पार्टिकल्स निकलते है छिकने से या खासी करने से दूसरे व्यक्ति को संक्रमित कर देते हैं। इस अभियान में हम लोग सब लोगों से निवेदन करते है सभी समाजसेवी संस्थाओँ से, उद्योगपतियों से, आम जनता से कि वे मास्क दान में दे।

‘एक मास्क अनेक जिंदगी’ अभियान के तहत मास्क बैंक की भी स्थापना की जाएगी। इसमें दानदाताओं से मास्क एकत्रित कर जरुरत मंद लोगों को निःशुल्क वितरित किये जाएंगे। खंडवा से हीरालाल लोंगरे के साथ संजीव शर्मा, आकाशवाणी समाचार, भोपाल

--------

सरकार ने लोगों को कम लागत पर उच्‍च गुणवत्‍ता वाली स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के कई कदम उठाए हैं और पिछले छह वर्षों में देश में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का मजबूत बुनियादी ढांचा खड़ा कि‍या है। देश में कोविड-19 महामारी का प्रकोप कम करने में इससे मदद मिली है। आकाशवाणी के साथ विशेष भेंट में आयुष्‍मान भारत योजना के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी डॉक्‍टर इंदुभूषण ने कहा कि पिछले छह वर्षों में देश में स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के विकास में तेजी आयी है और सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी बुनियादी ढांचा सुदृढ़ हुआ है।

पिछले छह-सात सालों में जो इन्वेस्टमेंट हुआ है उससे इसमें अधिक गति आई है। आयुष्मान भारत में जो हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर एक-डेढ़ लाख हेल्थ एंड वेलनेस क्रिएट किये जा रहे हैं। ये जो हमारा प्राइमरी हेल्थकेयर है को बढ़ावा मिलेगा। इसके अतिरिक्त जिला स्तर पर काफी काम हो रहा है। जो डिस्ट्रिक्ट हॉस्पीटल्स हैं उनको स्ट्रेन्थेन कर रहे हैं और हरेक जिले में मेडिकल एजुकेशन के लिए कॉलेज बन रहे हैं। उससे जो हमारे स्वास्थ्य क्षेत्र की सोच है वह अधिक होगी। साथ ही साथ प्राइवेट सेक्टर, निजी क्षेत्र के जो अस्पताल हैं उनमें भी इन्वेस्टमेंट के लिए इन्सेंटिव दिये जा रहे हैं जिससे की उनकी पूरी की पूरी पहुंच है पब्लिक और प्राइवेट के माध्यम से, उसको गति मिलेगी।

--------

कोरोना वायरस महामारी को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने अंतर्राष्‍ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध 31 अगस्‍त तक के लिए बढ़ा दिया है। यह प्रतिबंध माल ढुलाई के लिए संचालित की जाने वाली उड़ानों और नागर विमानन महानिदेशलय द्वारा विशेष रूप से स्‍वीकृत उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

महामारी के दौर में यात्रियों को धीरे-धीरे आवागमन की सुविधा प्रदान करने के प्रयासों के तहत अमरीका, फ्रांस और जर्मनी के साथ सीमित संख्‍या में विशेष विमान सेवा चलाने के लिए 'ट्रांसपोर्ट बबल' नाम के समझौतों पर हस्‍ताक्षर किये गये हैं। इस तरह के दोतरफा समझौतों में दोनों देशों के बीच कुछ शर्तों के साथ विमान सेवाएं संचालित करने की इजाजत दी जाती है। कोरोना महामारी के कारण भारत से और भारत के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय उड़ानें 23 मार्च से ही बंद हैं।

--------

विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के अभियान वंदे भारत मिशन का पांचवा चरण आज से आरंभ हो रहा है जो 31 अगस्त 2020 तक चलेगा।

दूरदर्शन समाचार के साथ एक विशेष बातचीत में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि वंदे भारत मिशन के विभिन्न चरणों में आठ लाख 45 हजार से अधिक भारतीयों को स्‍वदेश लाया गया है। मिशन के पांचवें चरण में 1200 उड़ान और संचालित किए जाने की संभावना है। वंदे भारत मिशन में 6 मई से 30 जुलाई, 2020 की अवधि में एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस के ज़रिए विदेशों में फंसे दो लाख 67 हजार चार सौ 36 यात्री और अन्य चार्टर्ड विमानों से चार लाख 86 हजार आठ सौ 11 यात्री वापस लाए गए हैं।

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस चरण में जिन देशों के भारतीयों को वापस लाया जायेगा उनमें खाड़ी सहयोग परिषद के देशों के अलावा अमरीका, कनाडा, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, मलेशिया, फिलिपींस, सिंगापुर, बांग्‍लादेश, म्यांमा, थाईलैंड, चीन, इस्राइल, यूक्रेन और किर्गिस्तान शामिल हैं। इन उडानों से देश भर के 21 हवाई अड्डों पर विदेश में फंसे लगभग एक लाख तीस हजार भारतीयों को लाया जाएगा।

--------

केन्‍द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि वे अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के मामले में स्‍वतंत्र और निष्‍पक्ष जांच की अपेक्षा करते हैं ताकि सच्‍चाई सामने आ सके।

मुंबई में आयोजित कार्यक्रम विजन महाराष्‍ट्र में अपने संबोधन में उन्‍होंने यह बात कही। श्री जावड़ेकर ने कहा कि फिल्‍म उद्योग में प्रतिभाओं को स्‍थान मिलना चाहिए।

इस बीच, सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई जांच कराने की जोर पकड़ती मांग के बीच महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री जयंत पाटिल ने कहा है कि मुंबई पुलिस आत्‍महत्‍या के मामले की जांच कर रही है और उम्मीद है कि जल्‍दी ही वह किसी निष्‍कर्ष पर पहुंच जाएगी।

सुशांत सिंह के परिवार की तरफ से आत्‍महत्‍या मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर आरोप लगाए जाने के बाद उन्होंने भी इस पर अपनी चुप्‍पी तोडी। अपने वकीलों के ज़रिए जारी वीडियो बयान में रिया ने कहा कि उन्‍हें न्‍यायपालिका पर भरोसा है और सच्‍चाई की जीत होगी।

--------

जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार आम लोगों से संपर्क साधने के लिए अथक प्रयास कर रही है और इन्‍हीं प्रयासों के अन्तर्गत उसने केन्‍द्र शासित प्रदेश में विभिन्‍न क्षेत्रों में विकास संबंधी महत्वपूर्ण पहल की हैं। हाल में उपराज्‍यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने प्रदेश में सभी सड़कों को पक्‍का करने के कार्यक्रम को स्वीकृति दी। इसमें कुल 11 हजार किलोमीटर लंबी ऐसी सड़कें भी शामिल थीं जो पक्‍की न होने के कारण खराब मौसम में बंद हो जाती हैं। हमारे संवाददाता की रिपोर्ट :

जम्मू कश्मीर में इस वर्ष केन्द्र सरकार द्वारा एक विशाल आत्म विश्वास निर्माण अभ्यास का आयोजन किया गया जिसके अन्तर्गत 36 केन्द्रिय मंत्रियों ने सार्वजनिक आउटरिच का कार्यक्रम के हिस्से के रूप में जम्मू कश्मीर के विभिन्न क्षेत्रों में विशेष तौर पर ग्रामीण और दूर-दराज के इलाकों में लोगों की समस्याओं और उनके विभिन्न मुद्दों का जायजा लिया। उन्होंने प्रदेश के बारह जिलों का दौरा किया और दो सौ सार्वजनिक कल्याकारी कार्यक्रमों के आयोजन के अलावा सौ से अधिक सार्वजनिक समारोह में भाग लेकर  लगभग साठ क्षेत्रों तक पहुंच कर सफलता पाई। इस यात्रा का उद्देश्य विकासात्मक कार्यों को बढ़ावा देना और प्रदेश में विभिन्न प्रायोजित परियोजनाओं के समय पर कार्यान्वयन  के निष्पादन को सुनिश्चित करना था। केन्द्र मंत्रियों ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा जमीनी स्तर पर किये गए विकासात्मक का भी आकलन किया। उन्होंने प्रदेश में सड़क, स्वास्थ्य और सुविधाओँ, बिजली और शैक्षणिक संस्थानों की कार्यप्रणाली जैसे विकास के मोर्चे पर पहली बार जानकारी प्राप्त करने के लिए स्थानीय लोगों से भी बाचतीत की। विशेष रूप से सार्वजनिक आउट रेज कार्यक्रम का उद्देश्य जम्मू कश्मीर के लोगों को यह बताया था कि केन्द्र और जम्मू कश्मीर में प्रशासन जम्मू कश्मीर में विकासात्मक कार्य तेज करने का बाद काफी गंभीर है। केन्द्र मंत्रियों ने विभिन्न परियोजनाओं की भी आधारशिला ताकि केन्द्र शासित प्रदेश में लोगों को जमीनी स्पर पर विभिन्न केन्द्र परियोजित योजनाओं का भी लाभ मिल सके। आकाशवाणी समाचार के लिए श्रीनगर से मैं सुनील कौल।

--------

जम्‍मू- कश्‍मीर परिवर्तन के मार्ग पर निरंतर आगे बढ रहा है और इसमें केन्‍द्र सरकार की योजनाएं सहयोगी बनी हुई हैं। इस केन्‍द्रशासित प्रदेश में बिजली परियोजनाओं के जरिए विकास की गति बढाने के लिए केन्‍द्र सरकार प्रतिबद्ध है। बिजली वित्‍त निगम और ग्रामीण विद्युत निगम ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की आत्‍मनिर्भर भारत अभियान की घोषणा के अंतर्गत चार हजार पांच सौ अस्‍सी करोड रूपये का निवेश किया है।

केन्द्र शासित प्रदेश के उपराज्यपाल ने लगभग एक पखवाड़े पहले 10 परियोजनाओँ का उद्घाटन किया जबकि सात अन्य परियोजनाओं के लिए उन्होंने आधारशिला रखी। जिससे अगले एक वर्ष में विभिन्न योजनाओं के तहत केन्द्रीय एजेंसी द्वारा भी लागू किया जाएगा। पिछली सरकारों ने बिजली के शोबे को जो पूरी तहत नजरअंदाज किया था उसको केन्द्र शासित प्रदेश में सुदृढ करना एक सही कदम है। जिससे यूनियन टेरीटरी में बिजली की कमी को दूर करने में मदद मिलेगी। जम्मू-कश्मीर केन्द्र शासित प्रदेश में लगभग बीस हजार मेगावाट जल विद्युत क्षमता है और एक बार इस जल विद्युत क्षमता हासिल किया जाए तो इससे केन्द्र शासित प्रदेश से ऊर्जा निर्यात किया जा सकेगा। इस दिशा में कुछ प्रयास पहले ही एक हजार मेगावाट क्षमता वाले पाकुल जल विद्युत योजना को फास्ट-ट्रेकिंग आधार पर तैयार करने में शुरू किये गये है। चेनाब घाटी में 624 मेगावट वाले किरू जल बिजली परियोजना का कार्यवाहन भी उन्नत चरण में है। आकाशवाणी समाचार के लिए जम्मू से आर. के. रैना।

--------

उत्‍तर प्रदेश में अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन और शिलान्‍यास की तैयारियां चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी पांच अगस्‍त को भूमि पूजन करेंगे। केन्‍द्रीय पर्यटन और संस्‍कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कल अयोध्‍या जाकर तैयारियों का जायजा लिया।

डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के छात्रों और स्वयं सेवकों को राम जन्मभूमि परिसर और राम की पैड़ी सहित अयोध्या में 25 स्थानों पर विशेष साज-सज्जा का काम सौंपा गया है। 200 से ज्यादा कला के काम में पारंगत छात्र रंगोली और दीपमाला बनाने के काम में जुटे हुए हैं। विश्वविद्यालय के प्रोफेसर मनोज दीक्षित ने आकाशवाणी के साथ बातचीत में बताया

ये एक बहुत विशिष्ट प्रयास है और इसमें जिम्मेदारियों सभी लोगों को वितरित की गई है। विश्वविद्य़ालय की जिम्मेदारी दो चीजों को लेकर आई है। एक तो विभिन्न स्थानों पर रंगोलियों का निर्माण करना, खासतौर से उस मार्ग पर और उस स्थान पर करना जहां पर माननीय प्रधानमंत्री जी का आगमन होना है और दूसरा विभिन्न स्थानो पर अभी तक लगभग 25 स्थान प्रारंभ में चिन्हित हुए थे, कुछ स्थान और भी बढ़े हैं, विशेष रूप से राम की पैड़ी भी बढ़ी है। इन स्थान पर हमको दीपोत्सव आयोजित करना है। वॉलिंटियर्स की संख्या को सीमित रखना है, क्योंकि सोशल डिस्टेंसिंग संबंधी, स्वास्थ्य संबंधी सारे मानकों का भी अनुपालन करना है। जो हम राम जन्म भूमि परिसर और राम की पैड़ी पर जो कार्य कर रहे हैं दीपोत्सव को, उसको हम इस तरह से शेपिंग कर रहे हैं कि अगर कुछ भी न जले, फिर भी वह बहुत सुंदर लगेगा। उनके कलर कम्बिनेशन में और उनके दियों को एक निश्चित आकार में रखने से जो मैसेज है वह पूरा का पूरा जायेगा।

रंगोली और दीपमाला के जरिए रामायण कालीन प्रसंगों को पेश किया जाएगा और इस काम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। अयोध्या से राजेंद्र सोनी के साथ, सुशील चंद्र तिवारी, आकाशवाणी समाचार, लखनऊ

--------

कुर्बानी का त्‍यौहार ईद उल अजहा आज देश भर में धार्मिैक श्रद्धा के साथ मनाई जा रही है। इसे बकरीद भी कहा जाता है। केाविड -19 महामारी को ध्‍यान में रखते हुए ईदगाहों और बडी मस्जिदों में सामूहिक नमाज नहीं होगी। श्रद्धालु स्‍थानीय मस्जिदों या अपने घरों में ही लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए नमाज अदा करेंगे।

--------

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने लोगों को ईद-उल-अजहा की मुबारकबाद दी है। अपने संदेश में श्री कोविंद ने कहा कि यह त्‍योहार बलिदान और सौहार्द का प्रतीक है, जो लोगों को अपनी और दूसरों की खुशहाली के लिए काम करने को प्रेरित करता है।

उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने कहा है कि ईद-उल-अजहा ईश्‍वर के प्रति अटूट आस्‍था और लेागों पर दैवीय प्रेम और अनुकम्‍पा का पर्व है।

--------

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में गरज के साथ बारिश का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है। न्‍यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस तक जाने की संभावना है। पश्चिम के बात करे तो मुंबई में आमतौर पर बादल छाये रहेंगे और भारी वर्षा हो सकती है। न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा, अधिकतम 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। दक्षिण चले तो चेन्‍नई में भी सामान्‍य रूप से बादल छाये रहेंगे और हल्की वर्षा हो सकती है। तापमान 27 से 36 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है। पूरब की बात करे तो कोलकाता में आंशिक रूप से बादल छाये रहने और हल्‍की बारिश या तूफान की संभावना है। न्‍यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। वहीं उत्तर में केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर के जम्‍मू में न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की उम्‍मीद है। एक-दो बार गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। श्रीनगर में न्‍यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि अधिकतम 32 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। शहर में मुख्‍य रूप से आसमान साफ रहेगा। दिन में या शाम के वक्‍त आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। गिलगित में तापमान 19 से 39 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है। आम तौर पर आसमान साफ रहेगा लेकिन दोपहर बाद या शाम के समय आंशिक रूप से बादल घिर सकते है और मुजफ्फराबाद में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। दिन में एक दो बार गरज के साथ छींटे पड़ने या वर्षा होने के आसार हैं। न्‍यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। समाचार कक्ष से अलका सिंह।

--------

समाचार पत्रों से

अगर आज के समाचार पत्रों पर नजर डालें तो विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में 30 सिंतबर से पहले अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने के विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के फैसले पर रोक लगाने से उच्चतम न्यायालय के इंकार को अमर उजाला ने पहले पन्ने पर दिया है। पत्र के अनुसार - न्यायालय ने दस अगस्त तक गृह मंत्रालय से अपना पक्ष रखने को कहा।

राजधानी दिल्ली में कोविड-19 संक्रमण के सही आकलन के लिए आज से शुरू होगा सीरो सर्वे। नवभारत टाइम्स सहित कई अखबारों में है।

राजस्थान में जारी सियासी घमासान पर पंजाब केसरी ने सुर्खी दी है - राजस्थान की सियासत अब जयपुर टू जैसलमेर। तीन चार्टर विमानों से सुरक्षित किले में पहुंचे गहलौत और समर्थक।

बीएस-4 वाहनों के पंजीकरण पर उच्चतम न्यायालय की रोक हिन्दुस्तान ने मुख पृष्ठ पर दिया है। लॉकडाउन के दौरान बिके वाहनों पर फैसला आने तक रहेगी पाबंदी।

--------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 11 (Aug) Midday News 11 (Aug) Evening News 11 (Aug) Hourly 11 (Aug) (1910hrs)
समाचार प्रभात 11 (Aug) दोपहर समाचार 11 (Aug) समाचार संध्या 11 (Aug) प्रति घंटा समाचार 11 (Aug) (2200hrs)
Khabarnama (Mor) 11 (Aug) Khabrein(Day) 11 (Aug) Khabrein(Eve) 11 (Aug)
Aaj Savere 11 (Aug) Parikrama 11 (Aug)

Listen Programs

Market Mantra 11 (Aug) Samayki 9 (Aug) Sports Scan 11 (Aug) Spotlight/News Analysis 11 (Aug) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 11 (Aug) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 8 (Aug)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)