A- A A+
Last Updated : Aug 9 2020 2:36PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi launches Rs 1 lakh cr Agriculture Infrastructure Fund under PM- Kisan scheme            Objective of making farmers self-sufficient is being fulfilled: PM Modi            Import embargo to be introduced on 101 items in push for 'Atmanirbhar Bharat': Rajnath Singh            Number of Covid-19 recoveries more than doubled the number of active cases; recovery rate improves to 68.78 pct            Andhra Pradesh: Nine people killed in fire accident at hotel turned Covid care centre in Vijayawada           

Text Bulletins Details


समाचार प्रभात

0800 HRS
08.07.2020

मुख्य समाचार

  • रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा-सीमावर्ती इलाकों में सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सड़कों, पुलों और सुरंगों के निर्माण में तेजी लाई जाएगी।

  • भारत और अमरीका ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र मुक्त और शांतिपूर्ण बनाने की प्रतिबद्धता दोहराई।

  • भारत प्रति दस लाख की आबादी पर कोविड रोगियों की सबसे कम संख्या वाले देशों में शामिल। देश में स्वस्थ होने की दर बढ़कर 61 प्रतिशत से अधिक।

  • केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-सीबीएसई ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए नौंवी से 12वीं कक्षा का पाठ्यक्रम 30 प्रतिशत कम किया।

  • टिकटॉक सहित कई चीनी ऐप्स प्रतिबंधित करने की अमरीका की योजना।

-----

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि देश के सीमावर्ती इलाकों में सामरिक दृष्टि से महत्‍वपूर्ण सड़कों, पुलों और सुरंगों के निर्माण में तेजी लाई जाएगी। नई दिल्‍ली में कल उच्‍च स्‍तरीय बैठक में सीमा सड़क संगठन की बुनियादी ढांचे संबंधी परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए उन्‍होंने कहा कि संगठन इस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने के लिए पूरे जोश के साथ काम कर रहा है।

रक्षा मंत्री ने सीमा सड़क संगठन की उपलब्धियों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सीमा सड़क संगठन को आधुनिकतम उपकरण और मशीनें उपलब्‍ध करायी गयी हैं। उसने सीमेंट की सड़कें बनाने, सतह पर प्‍लास्टिक के उपयोग और ढलान पर मिट्टी के कटाव को रोकने जैसे कार्यों में सड़क निर्माण की आधुनिक विधियों को परीक्षण के बाद अपनाया है। स्‍वदेशी टेक्‍नोलाजी से मॉड्यूलर पुल बनाने की टेक्‍नोलाजी का भी सीमा सड़क संगठन ने सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। इससे सीमावर्ती अग्रिम इलाकों में पुलों के निर्माण की क्षमता में क्रांतिकारी बदलाव आएगा। 

-----

भारत और अमरीका ने हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को स्‍वतंत्र, मुक्‍त, समावेशी, शांतिपूर्ण और समृद्ध बनाने की दिशा में काम करने की प्रतिबद्धता दोहराई है। दोनों देशों ने संयुक्‍त राष्‍ट्र विशेष रूप से सुरक्षा परिषद में भारत की स्‍थायी सदस्‍यता को लेकर सहयोग और प्रगाढ करने पर भी सहमति व्‍यक्‍त की।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला और अमरीका में राजनीतिक मामलों के विदेश उपमंत्री डेविड हिले ने साझा हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मामलों पर विचार-विमर्श किया। यह वार्ता दोनों देशों के विदेश कार्यालयों के बीच कल वर्चुअल बैठक के माध्‍यम से हुई। बैठक में भारत-अमरीका व्‍यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी के तहत राजनीतिक, आर्थिक, वाणिज्यिक, क्षेत्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग सहित सभी मुद्दों की समीक्षा की गई।

कोविड महामारी के संदर्भ में औषधि और टीका विकसित करने सहित द्वविपक्षीय साझेदारी अधिक मजबूत करने पर सहमति व्यक्त की गई। दोनों देशों ने एक-दूसरे के निरन्‍तर सम्‍पर्क में रहने और टू प्‍लस टू मंत्रि‍स्‍तरीय वार्ता जैसी व्‍यवस्‍था से द्विपक्षीय एजेंडा आगे ले जाने पर भी सहमति व्‍यक्‍त की।

सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान भारत ने अमरीका में केवल ऑनलाइन कक्षा के विद्यार्थियों को एफ-1 वीजा का मुद्दा भी उठाया। बताया गया है कि अमरीका ने इस विषय पर विचार करने और छात्रों के हितों और उनकी कठिनाइयां दूर करने के सभी उपाय करने का भरोसा दिलाया है।

-----

भारत, प्रति दस लाख जनसंख्‍या पर कोविड-19 के  रोगियों की सबसे कम संख्‍या वाले देशों में शामिल है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया है कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की स्थिति रिपोर्ट के अनुसार भारत में प्रति दस लाख की जनसंख्‍या पर लगभग पांच सौ पांच कोरोना के मरीज हैं, जबकि वैश्विक औसत एक हजार चार सौ 53 से अधिक है।

मंत्रालय ने कहा है कि भारत ने इस महामारी से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए अस्‍पतालों में बुनियादी सुविधाओं में काफी विस्‍तार किया है। इनमें ऑक्‍सीजन, आई.सी.यू. और वेंटीलेटर की सुविधाएं शामिल हैं। स्‍वस्‍थ होने वालों की दर बढकर अब 61 प्रतिशत से अधिक हो गई है।

वर्तमान में दो लाख 59 हजार से अधिक लोगों का इलाज चल रहा है। मंत्रालय ने बताया है कि प्रति दिन दो लाख से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है।

-----

कोविड महामारी की रोकथाम के लिए स्‍वदेशी टीका-कोवैक्‍सीन भी वैश्विक दौड़ में शामिल है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आईसीएमआर ने देश के 12 चिकित्‍सा संस्‍थानों को पत्र लिखकर मनुष्‍य पर टीके के परीक्षण का पहला चरण शुरू करने का आग्रह किया है। आईसीएमआर ने भारत बायोटैक इंटरनेशनल लिमिटेड के साथ मिलकर ये टीका तैयार किया है जबकि जायडस कैडिला नाम की कम्‍पनी जाइकोव-डी नाम का टीका तैयार करने में लगी है।

वैश्विक महामारी के अंत का प्रारंभ चिन्हित करते हुए हाल ही में भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल ने कोवैक्‍सीन और साइकोडी वैक्‍सीन के मानव परीक्षण को मंजूरी दी थी। भारतीय वैक्‍सीन निर्माताओं द्वारा यूनिसेफ जैसी विश्‍वस्‍तरीय संस्‍था की कुल आपूर्ति का 60 प्रतिशत हिस्‍सा मुहैया कराया जाता है। दुनिया भर में 140 से अधिक कोविड-19 के टीकों पर विभिन्‍न चरणों में शोध जारी है। भारतीय संस्‍थाओं ने भी विश्‍व भर में कोरोना के खिलाफ वैश्विक महामारी से लड़ने के प्रयासों में कोई कसर नहीं छोड़ी है। देश भर के चुने हुए संस्‍थाओं में शुरू हो रहे हेल्‍थ वॉलिंटियर्स के नामांकन के साथ ही दोनों भारतीय वैक्‍सीन उम्‍मीदवार परीक्षण के चरण में प्रवेश कर गये हैं। इनका परीक्षण ग्यारह सौ पच्चीस स्‍वास्‍थ्‍य वॉलिंटियर्स पर किया जाना है। टीकों का मूल्‍यांकन, सुरक्षा, प्रतिरक्षण क्षमता और अन्य मानकों पर किया जाना है। पहले चरण के परीक्षण के लिए प्रस्‍तावित आयु समूह 18 से 55 वर्ष और द्वितीय चरण के लिए 12 से 65 वर्ष तय की गई है। आनन्‍द चतुर्वेदी, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

हैदराबाद में सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी के निदेशक डॉक्‍टर राकेश मिश्र ने लोगों से कहा है कि टीका विकसित होने के बावजूद कोविड संक्रमण की सावधानियों में ढीलाई न करें।

-----

कोविड-19 पर आकाशवाणी के विशेष लाइव फोन-इन कार्यक्रम में वरिष्‍ठ स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ डॉक्‍टर ए. के. वार्ष्‍णेय ने कहा कि लोग घर में बना कपडे़ का बहुस्‍तरीय मास्‍क‍इस्‍मेमाल कर सकते है।

सर्जिकल मास्ट जो है जर्नली हम लोग रिकमंड करते हैं कि जो हमारे हैल्थ पर्सनल हैं वो यूज़ करें क्योंकि इनकी अवेलेबिलिटी उतनी ज़्यादा नहीं होती। परन्तु अगर कोई ले सकता है तो वो ले सकते हैं अदरवाइज़ जो घर में त्रिपल लेयर कपड़ों के मास्क ही बनाये जा सकते वो इस्तेमाल करें।

----------

केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड-सी.बी.एस.. ने कोविड-19 लॉकडाउन के कारण हुई क्षति की पूर्ति के लिए नौवीं से 12वीं तक की कक्षा के पाठ्यक्रम में 30 प्रतिशत तक की कटौती की है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि मूल संदर्भ को बनाए रखते हुए, पाठ्यक्रम को तर्कसंगत बनाने का फैसला किया गया है। उन्‍होंने कहा कि देश और दुनिया में असाधारण स्थिति है। सीबीएसई को पाठ्यक्रम संशोधित करने और नौवीं से 12वीं तक के छात्रों पर बोझ कम करने की सलाह दी गई है।

-----

आकाशवाणी समाचार के साथ एक विशेष भेंट में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के अध्‍यक्ष प्रोफेसर डॉ. अनिल डी. सहस्रबुद्धे ने कहा कि महामारी के दौरान ऑनलाइन शिक्षा पद्धति बहुत उपयोगी रही है।


श्री सहस्रबुद्धे ने रोजगार पर शिक्षा के लिए कौशल प्रदान करने पर भी ज़ोर दिया जिसे विभिन्‍न तकनीकी माध्‍यमों से हासिल किया जा सकता है।

-----

उत्‍तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल ने भगोड़े अपराधी विकास दुबे के एक निकट सहयोगी अमर दुबे को आज सुबह हमीरपुर जिले के मौदहा में मुठभेड़ में मार गिराया। अमर दुबे कानपुर जिले में हाल के हत्‍याकांड का अभियुक्‍त था जिसमें विकास दुबे और उसके गिरोह ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या कर दी थी। इस हत्‍याकांड के मुख्‍य अभियुक्‍त की धर पकड़ के लिए राज्‍य पुलिस और विशेष कार्य बल की कई टीमें बनायी गयी हैं। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने विकास दुबे के बारे में कोई भी सूचना देने वाले को ढाई लाख रुपये का इनाम देने की भी घोषणा की है। 

-----

जम्‍मू कश्‍मीर में अमरनाथ यात्रा सुचारू रूप से सुनिश्‍चित कराने के सभी आवश्‍यक प्रबंध किये जा रहे हैं। अनंतनाग के उपायुक्‍त कुलदीप कृष्‍ण सिद्धा ने व्‍यवस्‍थाओं को अंतिम रूप देने के लिए कल अधिकारियों और अभियंताओं के साथ बैठक की। उन्‍होंने अनंतनाग के मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी और खंड चिकित्‍सा अधिकारी को सभी आवश्‍यक उपकरणों और सुविधाओं के साथ प्रस्‍तावित स्‍थल पर चिकित्‍सा शिविर लगाने का निर्देश दिया।

नगर निगम समिति तथा खाद्य और उपभोक्‍ता कार्य विभागों को पूरी क्षेत्र में साफ सफाई और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।

-----

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि अमरीका टिकटॉक सहित चीन के सोशल मीडिया ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है। एक टेलीवि‍जन चैनल से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि ये ऐप यूजर डेटा चीनी सरकार को उपलब्‍ध करा रहे हैं।

अमरीकी सांसदों ने इसे राष्‍ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया था। उन्‍होंने चिंता व्‍यक्‍त की थी कि चीन की कम्‍युनिष्‍ट पार्टी घरेलू कंपनियों से संबंधित कानूनों पर नियंत्रण रखती है।

श्री पोम्पियो की यह टिप्‍पणी कोरोना वायरस संक्रमण, हांगकांग में चीन की कार्रवाई और लगभग दो वर्ष से जारी व्‍यापार संघर्ष को लेकर अमरीका और चीन के बीच बढते तनाव के बीच आयी है।

-----

अमरीका के सामरिक और सैन्‍य इतिहासकार डॉक्‍टर एडवर्ड लटवाक ने कहा है कि चीन की विस्‍तारवादी नीति उसके पड़ोसियों को उसका दुश्‍मन बना रही है। दूरदर्शन समाचार को एक इंटरव्‍यू में डॉक्‍टर लट्वाक ने कहा कि भारत और प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख और वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर अन्‍य इलाकों में बुनियादी ढांचे को मजबूत किया है।

भारत के सीमावर्ती इलाकों में बुनियादी ढांचे के विकास के प्रयासों की प्रसंशा करते हुए डॉक्‍टर लट्वाक ने कहा कि भारत के, अमरीका, जापान, इस्राइल जैसे कई दोस्‍त हैं जबकि चीन को सिर्फ पाकिस्‍तान का साथ मिल रहा है। उन्‍होंने कहा कि चीन जिस तरह का आचरण कर रहा है उससे उसके पुराने साथी उससे दूर होते जा रहे हैं।

-----

इन्‍फोसिस के अध्‍यक्ष नन्‍दन निलेकणि ने कहा है कि मौजूदा वैश्विक परिस्थितियों से भारत को लाभ मिल सकता है क्‍योंकि अधिक से अधिक देश चीन का विकल्‍प ढूंढ रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि कोविड संकट भारत के सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के लिए नए अवसर पैदा करेगा।

-----

भारतीय वायु सेना पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर अत्‍यधिक सतर्कता बरत रही है। हिमालय के उत्‍तरी सीमांत पर बेहद ऊंचाई वाले दुर्गम स्‍थलों की चुनौतियों का सामना करने के लिए विशेष कौशल और विशेष विमानों की आवश्‍यकता होती है। वायु सेना को जो नये विमान मिले हैं उससे वायुसैनिकों का मनोबल और बढ़ गया है। हमारे संवाददाता की रिपोर्ट :

जब से पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ तनाव बढ़ा तब से भारतीय वायु सेना ने लद्दाख में अपनी स्थिति को मज़बूत कर दिया है। भारतीय वायु सेना को अपनी ओर से अनुभव का लाभ केवल बचाव करने के लिए ही नहीं बल्कि आवश्यकता पड़ने पर हमला करने के लिए भी है। इंडियन एयर फोर्स पूर्वी लद्दाख में स्टैंड-ऑफ के बाद से प्रभावी रूप से दोहरी भूमिकाओं का निर्वहन कर रहा है। चीथा और चेतक के अलावा सबसे मजबूत चिनूक, तेज और तकनीकी रूप से आधुनिक अपाचि हेलिकॉप्टर ने उच्च ऊंचाई वाले युद्धक्षेत्रों में भारतीय वायु सेना को और मजबूत कर दिया है। चिनूक पायलट कहते हैं -

जहाज़ का जो यह साइज़ है यह बाकी जहाज़ों से बहुत बड़ा है। सो इसमें क्षमता है, कई ज़्यादा लोड और कई ज़्यादा हमारे सिपाही ले जाने की एक जगह से दूसरी जगह। तो हम इसको पूरी तरह से एक्सप्लॉइट कर रहे हैं और हम दिन रात फ्लाई करके यह एनश्यॉर कर रहे हैं कि हम जितना ले जा सकें जब भी आर्मी को ज़रूरत हो, एयरफोर्स को ज़रूरत हो, जहां से जितना लोड ले जा सकें, दिन हो या रात हो पूरी तरह से तैयार है।आकाशवाणी समाचार के लिये लेह से रमेश चंद्रा।

-----

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वर्षा और बिजली गिरने की घटनाओं में जानमाल का नुकसान कम से कम करने के आवश्‍यक कदम उठाने का निर्देश दिया है। अधिकारियों से विभिन्‍न प्रचार माध्‍यमों से समय पर चेतावनी देने के लिए कहा गया है ताकि लोग जरूरी ऐहतियाती कदम उठा सकें।

बिजली गिरने की घटनाओं से होने वाली धन और जन हानि को कम करने का निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बात पर जोर दिया की ग्राम पंचायत स्तर पर पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम का इस्तेमाल करके इस संबंध में लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि अगर बिजली गिरने की घटनाओं की पहले से जानकारी मिल सके तो इन्हें हर माध्यम से जनता के बीच प्रचारित किया जाए ताकि लोग अपनी रक्षा कर सकें। इस बीच राज्य के गन्ना विभाग ने अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को गाइडलाइन जारी करते हुए किसानों को दामिनी ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करने को कहा है। इस ऐप के जरिए मोबाइल में इस बात की जानकारी मिल जाती है कि किस जगह पर बिजली गिर सकती है। इससे व्यक्ति समय पर सुरक्षित स्थान पर पहुंच सकता है। विभागीय अधिकारियों को इस बात के भी निर्देश दिए गए हैं कि वह बिजली गिरने के समय उठाए जाने वाले कदमों की जानकारी अधिकतम लोगों तक पहुंचाएं। इन जानकारियों में किसानों को सलाह दी गई है कि वह खुले में ना मौजूद रहें, पेड़ों के नीचे ना खड़े हो पहाड़ी पर न जाएं और बिजली गिरने के दौरान अन्य ज़रूरी सावधानियां बरतें। सुशील चंद्र तिवारी, आकाशवाणी समाचार, लखनऊ।

-----

आत्‍मनिर्भर भारत मंत्र का प्रभाव मध्‍य प्रदेश के गांवों में भी नजर आ रहा है। हमारे संवाददाता ने बताया कि किसानों ने खेतीबाडी की लागत कम करने के लिए स्‍थानीय स्‍तर पर कृषि उपकरणों का निर्माण शुरू कर दिया है।

मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में किसानों ने मोटरसाइकिल का उपयोग करके जुगाड़ नाम का एक अनोखा वाहन तैयार किया है। यह वाहन खरपतवार निकालने और खाद्यान्न को बाजार तक पहुँचाने के लिए बहुत उपयोगी है। यह जुगाड़ वाहन महज 20 से 30 हजार रुपये की लागत से तैयार किए जा रहे हैं। किसान धरियावद सिंह ने कहा कि जुगाड़ ने श्रम और मजदूरी की लागत में 50 फीसदी की कमी की है।

जैसे बैल, एक बार को आदमी को बैल मिलते नहीं हैं, नहीं करीब-करीब पंद्रह हजार रुपये के दो बैल और सालभर से चारा खिलाना पड़ता है अपुन को। उससे काम कम होता है। इससे दिनभर में हम चाहे कितना भी काम कर सकते हैं। दस बीघा या पंद्रह बीघा भी कर सकते हैं।

एक अन्य किसान राजू ने बताया कि अब हम तकनीकी खेती कर रहे हैं।

इसमें केवल दो आदमी चाहिए। एक चलाने वाला और एक और चाहिए निकालने वाला, बस दो आदमी। और अपन वो हाथ का ...... चलाते हैं उसमें करीबन सात जने चाहिए। उसमें और इसमें तो काफी अंतर है।

मैकेनिक यूसुफ का कहना है कि एक बार काम पूरा होने के बाद इसे फिर से मोटरसाइकिल के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।कमाई की बचत भी है, पैसे की भी बचत भी है, मज़दूर की बचत है।

मंदसौर जिले के किसानों ने आपदा को अनुसंधान में बदलकर एक मिसाल कायम की है। अब इस अनुसंधान को अवसर में बदलने की जरूरत है। मंदसौर से दीपक शर्मा के साथ संजीव शर्मा, आकाशवाणी समाचार, भोपाल

-----

झारखण्‍ड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 173 नए मरीजों का पता चला है। इसके साथ ही राज्‍य में संक्रमितों लोगों की कुल संख्‍या तीन हजार तैंतालीस हो गई है। एक मंत्री और एक विधायक में भी कल कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। एक रिपोर्ट-

पेयजल और स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर और झारखंड मुक्ति मोर्चा पार्टी के टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महतो के कोविड-19 से संक्रमित होने की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। कोरोना के सकारात्मक परीक्षण के बाद उन्हें क्रमश: रांची और धनबाद के कोरोना स्पेशल वार्ड में भर्ती कराया गया है। धनबाद जिले के लगभग 20 पत्रकारों की जांच रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव पायी गयी है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दो दिन पहले मंत्री मिथिलेश ठाकुर के आवास पर आयोजित गृह प्रवेश में सम्मिलित हुए थे, उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। मंत्री की पार्टी में शामिल होने वाले कई वरिष्ठ नौकरशाहों और अधिकारियों की भी कोविड-19 की जांच कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के मानकों के तहत अनिवार्य हो गयी है। कोरोना ​​मामलों की संख्या में हालिया उछाल के बाद राज्य में वर्तमान में स्वस्थ होने की दर घटकर 69 प्रतिशत रह गई है। शिल्पी, आकाशवाणी समाचार, रांची।

-----

गुजरात में कोविड-19 संक्रमितों की संख्‍या सैंतीस हजार छह सौ छत्‍तीस हो गई है। पिछले 24 घंटें में राज्‍य में सात सौ 78 नए रोगियों का पता लगा है।

गुजरात में सामने आये संक्रमण के सात सौ 78 नये मामलो में से सबसे अधिक दो सौ चार मामले सूरत में दर्ज किये गए जबकि अहमदाबाद में एक सौ 72 मामले सामने आये। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार राज्य में कुल आठ हजार नौ सौ तेरह सक्रिय मामलों में से 61 मरीजो की स्थिति गंभीर है और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है। पिछले 24 घंटों में राज्य में चार सौ 21 मरीजों को छुट्टी दी गयी। इसके साथ ही ठीक होकर छुट्टी पाने वाले मरीजो की कुल संख्या छब्बीस हजार सात सौ 44 हो गई है। राज्य में अब तक 4 लाख 25 हजार से अधिक लोगो का कोविड 19 के लिए परिक्षण किया जा चूका है। इस बीच राज्य सरकार ने डॉक्टरों को तोसिलिज़ुमेब और रेमदेसिविर इंजेक्शनों का विवेकपूर्ण उपयोग करने की हिदायत दी है। राज्य के खाद्य एवं औषधि नियंत्रण प्रशासन के आयुक्त डॉक्टर हेमंत कोशिया ने एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा की इन दोनों इंजेक्शन की आपूर्ति कम है और डॉक्टरो को उनकी सिफारिश आई.सी.एम.आर. की मार्गदर्शिका के अनुसार करनी चाहिये। योगेश पंड्या, आकाशवाणी समाचार, अहमदाबाद।

-----

राजस्‍थान में कल सात सौ 16 लोगों में कोविड-19 की पुष्टि हुई। पिछले चार दिनों में औसत रूप से पांच सौ 88 लोग इस महामारी से संक्रमित पाए गए।

पिछले कुछ दिनों में पश्चिमी राजस्थान में तेजी से संक्रमण फैला है। कल जोधपुर में सबसे ज्यादा 183 लोग संक्रमित पाये गये। वहीं बीकानेर में भी 112 रोगियों का पता चला है। जयपुर में एसएमएस असपताल के तीन डॉक्टरों समेत 71 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके अलावा सीकर, सिरोही, जालौर, अलवर, नागौर तथा बाड़मेर में भी 25 से ज्यादा संक्रमित पाये गये। शादी और मृत्युभोज जैसे कार्यक्रमों से संक्रमण फैलने के कई मामले सामने आये है, जिसके बाद प्रशासन ने निगरानी बढ़ा दी है। कई जिलों में जिला प्रशासन ने शादी में 50 से ज्यादा लोगों के शामिल होने पर कार्यवाही की है। वहीं प्रतिबंध के बावजूद मृत्युभोज के आयोजनों को सख्ती से रोकने के लिए आदेश जारी किये गये हैं। इस बीच, कई दिनों बाद राज्य में सक्रीय मामलों की संख्या 4 हजार के पार पहुंच गई है वहीं रिकवरी रेट भी घटकर 77 दशमलव 43 पर आ गयी है। जितेन्द्र द्विवेदी, आकाशवाणी समाचार, जयपुर।

-----

बृहन मुम्‍बई नगर पालिका ने कोरोना वायरस रोगियों की जांच के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। ये कोविड-19 की जांच से संबंधित राज्‍य की व्‍यापक नीति का हिस्‍सा है।  एक रिपोर्ट-

मुंबई नागरिक निकाय द्वारा जारी किए गए ताजा दिशानिर्देश कहते हैं कि आई.सी.एम.आर. निर्देशानुसार किसी भी व्यक्ति का आर.टी.-पी.सी.आर. परीक्षण करने के लिए लैब्स को अनुमति है। हालांकि, ऐसे व्यक्ति जिनमें कोवि़ड के लक्षण स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं और जिनमें न दिखाई दे रहे हों कि कोविड परीक्षण के लिए किसी भी पर्चे या स्वयं घोषणापत्र की आवश्यकता नहीं होगी। कोविड परीक्षण के लिए केवल आर.टी.-पी.सी.आर. के होम स्वैब कलेक्शन की अनुमति है और इसके लिए कोई पर्चे की जरूरत नहीं है। आरटी-पीसीआर के साथ नए अधिग्रहीत रैपिड पॉइंट-ऑफ-केयर डिटेक्शन एंटीजन टेस्ट का उपयोग आईसीएमआर निर्देशानुसार कंटेंमेन्ट ज़ोन, हॉटस्पॉट या अस्पतालों में किया जाना चाहिए। सोनाली घड्याल पाटिल, आकाशवाणी समाचार, मुम्बई।

-----

पंजाब आने वाले सभी यात्रियों के लिए आज से ई-पंजीकरण की प्रक्रिया अनिवार्य कर दी गई है। यात्रियों को राज्य में प्रवेश करने से पहले कोवा-ऐप या राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के माध्‍यम से ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। हमारे संवाददाता ने बताया है कि ई-पंजीकरण का उद्देश्य सीमा चौकियों पर भीड़-भाड़ और लंबी पंक्तियों के कारण यात्रियों को असुविधा से बचाना है।

पंजाब की यात्रा करने वालों के लिये ई-रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया रात्रि से लागू हो गई है। पंजाब सरकार के आदेशानुसार यात्रियों को कोवा ऐप या वेब लिंक कोवा डॉट पंजाब डॉट गोव डॉन इन के माध्यम से खुद का पंजीकरण करना होगा। कोवा ऐप एप्पल स्टोर या गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड की जा सकती है। पंजीकरण के बाद यात्री को एस.एम.एस. के माध्यम से एक लिंक मिलेगा जिस पर क्लिक करके क्यू आर कोड वाला एक प्रिंट लेना होगा। तिपहिया और चौपहिया वाहन पर आने वाले यात्री गाड़ी की विंड स्क्रीन की बाईं तरफ इसको चिपकाएंगे या फिर डैश बोर्ड पर इसको रखना अनिवार्य होगा। सीमा पर बने निरीक्षण स्थलों पर कर्मचारी इस प्रिंट का क्यू आर कोड स्कैन करेंगे जिसके बाद स्वास्थ्य की जांच भी होगी। यात्री में कोविड के लक्षण पाये जाने पर वहां मौजूद कर्मचारी उसका मार्गदर्शन करेंगे। राज्य के ही रहने वाले बिना लक्षण वाले निवासियों को निरीक्षण चौकी पार करने के बाद अपने घर में संघरोध में रहना अनिवार्य किया गया है। अश्विनी कुमार शर्मा, आकाशवाणी समाचार, चंडीगढ़।

-----

तमिलनाडु के मुख्‍यमंत्री ईडापड़ी पलनीसामी ने फिर कहा है कि राज्‍य में कोविड का सामुदायिक प्रसार नहीं है। उन्‍होंने कल शाम चेन्‍नई के गिंडी इलाके में कोविड अस्‍पताल का उद्घाटन किया। बाद में संवाददाताओं से बातचीत में मुख्‍यमंत्री ने कहा कि राज्‍य में कोविड संक्रमण का प्रभाव कम हो रहा है।

मुख्यमंत्री इडापड्डी पलनीसामी ने कहा है कि चेन्नई में लगाये जा रहे बुखार शिविरों में अब तक दस हजार कोविड-19 के रोगियों की पहचान करने में मदद मिली है। यह वो रोगी हैं जो अलग-थलग पड़ गए थे। राज्य में चेन्नई के बाहर आये नए मामलों में बढ़ोत्तरी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे राज्य में अब इस महामारी की स्थिति ठीक है। उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों की आजीविका के संसाधनों के बीच एक संतुलित दृष्टिकोण रखना होगा और इसके लिये लॉकडाउन जारी रखना होगा। मुख्यमंत्री ने चेन्नई को पूर्ण तालाबंदी से बाहर करने के निर्णय को उचित ठहराया। चेन्नई से जयसिंह की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से ममता किरन।

इस बीच, राज्‍य में कल तीन हजार छह सौ 16 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके साथ ही राज्‍य में इस महामारी से संक्रमित रोगियों की संख्‍या एक लाख 18 हजार से अधिक हो गई है।

-----

आकाशवाणी से विशेषज्ञों की सलाह श्रृंखला में कोविड-19 के बारे में जाने-माने चिकित्सा विशेषज्ञों की राय प्रसारित की जाती है।

आकाशवाणी समाचार से बातचीत में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान के एनेस्‍थेसिया विज्ञान विभाग की डॉक्‍टर एस राजेश्‍वरी ने कोरोना संक्रमण से बचने से लिए लोगों को घर में रहने और साफ-सफाई के निर्देशों का पालन करने की सलाह दी है।

-----

संकल्‍प पर्व के सिलसिले में संस्‍कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कल दिल्‍ली में किला राय पिथौरा और भारतीय राष्‍ट्रीय अभिलेखागार में पौधे लगाये। किला राय पिथौरा के अपने दौरे में श्री पटेल ने इस ऐतिहासिक स्‍मारक के जीर्णोद्धार कार्य का भी जायजा लिया। राष्‍ट्रीय अभिलेखागार में उन्‍होंने दस्‍तावेज संरक्षण कार्य की समीक्षा की। 

श्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के आह्वान पर संस्कृति मंत्रालय 28 जून से 12 जुलाई तक संकल्‍प पर्व का आयोजन कर रहा है।

-----

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज आंधी चलने और गरज के साथ वर्षा होने की उम्‍मीद है। तापमान 24 से 33 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है।

मुंबई में मध्‍यम वर्षा होने का अनुमान है। तापमान 28 से 31 डिग्री के बीच रहेगा।

चेन्नई में न्‍यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। अधिकतम तापमान 38 डिग्री तक रहने की संभावना है। हल्की वर्षा भी हो सकती है।

उधर, कोलकाता, चंडीगढ़ और देहरादून में बादल छाए रहेंगे तथा वर्षा हो सकती है।

बेंगलुरु में भी हल्की बूंदाबांदी होगी। न्‍यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। 

अहमदाबाद में आम तौर पर बादल छाये रहेंगे और हल्की वर्षा होने की संभावना है।

पटना में भी गरज के साथ हल्की वर्षा हो सकती है।

उधर, गुवाहाटी में भी गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं। न्यूनतम तापमान 25 और अधिकतम 31 डिग्री सेल्सियस रहेगा।

केन्‍द्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर के जम्मू में न्‍यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम 36 डिग्री तक जा सकता है।

श्रीनगर में तापमान 16 से 32 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। आसमान साफ रहेगा लेकिन दोपहर बाद आंशिक रुप से बादल घिर सकते हैं।

गिलगित में भी दोपहर बाद बादल घिरने के आसार हैं। तापमान 14 से 36 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा।

मुज़फ्फ़राबाद में आसमान साफ रहेगा लेकिन शाम तक आंशिक रूप से बादल घिरेंगे। न्‍यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। अधिकतम 37 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। समाचार कक्ष से मैं आशा निवेदी।

-----

समाचार पत्रों से

  • आज के अधिकतर अखबारों ने गलवान घाटी सहित अन्य इलाकों से भी चीनी सैनिकों के पीछे हटने की खबर को अहमियत दी है।

  • जनसत्ता की सुर्खी है - चीन के साथ भारतीय सैनिक भी पीछे हटे। हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा में चीन ने ढांचे हटाये, पैंगोंग के लेकर अभी स्थिति साफ नहीं। सैनिकों की वापसी के मानक तय किये गए। 

  • नवभारत टाइम्स का कहना है - बात करने को चीन बेताब, लेकिन भारत पहले परखेगा हालात। मित्र देशों को किया अपडेट।

  • दैनिक भास्कर अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के हवाले से लिखता है - ऑनलाइन पढ़ने वालों अमरीका छोड़ो, ऑफलाइन क्लास वाले ही रूक सकेंगे। कोरोना संकट के बीच स्कूल-कॉलेज खोलने पर अड़े राष्ट्रपति ट्रंप। अमरीकी विश्वविद्यालयों में दाखिला पा चुके केवल ऑनलाइन पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को एफ-वन या एम-वन वीजा नहीं मिलेगा। उलझन में भारतीय छात्र।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 9 (Aug) Midday News 9 (Aug) Evening News 8 (Aug) Hourly 9 (Aug) (1300hrs)
समाचार प्रभात 9 (Aug) दोपहर समाचार 8 (Aug) समाचार संध्या 8 (Aug) प्रति घंटा समाचार 9 (Aug) (1310hrs)
Khabarnama (Mor) 9 (Aug) Khabrein(Day) 9 (Aug) Khabrein(Eve) 8 (Aug)
Aaj Savere 9 (Aug) Parikrama 8 (Aug)

Listen Programs

Market Mantra 8 (Aug) Samayki 8 (Aug) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 8 (Aug) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 8 (Aug) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 8 (Aug)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)