A- A A+
Last Updated : Aug 9 2020 2:03PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi to release sixth instalment of PM-KISAN scheme to 8.5 crore farmers today; to launch Rs 1 Lakh Cr financing facility            COVID-19 recovery rate improves to 68.78 pct in country; fatality rate drops further to 2.01 pct            India can become trusted partner in global supply chain: Piyush Goyal            IMD warns of heavy rain in Northwest India during next two days            Mahinda Rajapaksa takes oath as Prime Minister of Sri Lanka for fourth time           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2000 HRS
05.07.2020
मुख्य समाचार:-

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों से अवगत कराया।

  • रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा दिल्‍ली में निर्मित सरदार वल्‍लभ भाई पटेल कोविड अस्‍पताल का संचालन रिकॉर्ड 12 दिन में शुरू। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने निर्माण करने वाले हितधारकों के प्रयासों की सराहना की।

  • सरकार ने नौ राज्‍यों में टिड्डी नियंत्रण अभियान चलाया। टिड्डियों से फसलों को खास नुकसान नहीं।

  • अखिल भारतीय व्‍यापारी परिसंघ की केंद्र सरकार से देश में फाइव-जी नेटवर्क की नीलामी में चीन की हुवई और जेड टी ई कंपनियों को शामिल नहीं करने की अपील।

  • केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड फेसबुक के साथ मिलकर डिजिटल सुरक्षा बढाने के बारे में शिक्षकों और छात्रों के लिए नि:शुल्‍क प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करेगा।

-----

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। श्री मोदी ने राष्ट्रपति को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों से अवगत कराया।

-----

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज गृहमंत्री अमित शाह और स्वास्थ मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन के साथ दिल्ली के सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड अस्पताल का दौरा किया। दो सौ पचास आईसीयू बिस्तरों के साथ एक हजार बिस्तर वाला यह अस्पताल आज से शुरू हो गया। इस अस्पताल का निर्माण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन - डी आर डी ओ ने गृह मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, सशस्त्र बल, टाटा सन्स तथा अन्य निजी भागीदारों के साथ मिलकर बारह दिन में किया। अस्पताल का दौरा करने के बाद रक्षामंत्री ने कहा कि अस्पताल बनाने में विश्व स्वास्थ्य संगठन के दिशा निर्देशों का पालन किया गया है।


मिनिस्‍ट्री ऑफ होम अफेयर, टाटा संस इंडस्‍ट्रीज और कई ऑर्गेनाइज़ेशन के सहयोग से ये कोरोना मरीजों के लिए एक टैम्‍प्रेरी हॉस्पिटल बना है। सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसको 12 दिन के अन्‍दर ही तैयार किया है वेंटिलेटर्स, ऑक्‍सीजन्‍स और अन्‍य सारी सुविधाएं तो यहां पर उपलब्‍ध हैं ही। डब्‍ल्‍यूएचओ की जो भी गाइडलाइंस हैं उन गाइडलाइंस को ध्‍यान में रखते हुए ही इस टैम्‍प्रेरी हॉस्पिटल का निर्माण किया गया है। लगभग 250 से अधिक इंटेन्सिव केयर युनिट्स यहां पर हैं।


डीआरडीओ ने युद्धस्तर पर काम कर यह अस्पताल तैयार किया।


भारतीय वायु सेना की अनुमति से नई दिल्ली घरेलू हवाई अड्डा-टी-वन के नजदीक भूमि की पहचान की गई और 23 जून को अस्पताल बनाना शुरू कर दिया। इस अस्पताल का संचालन सशस्त्र बल, चिकित्सा सेवा के डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मी करेंगे। अस्पताल का रख-रखाव डीआरडीओ के जिम्मे होगा। अस्पताल में मनोविज्ञान सलाह केंद्र भी बनाया गया है। इस अस्पताल में जिला प्रशासन द्वारा भेजे गए मरीजों को भर्ती किया जाएगा और इलाज निशुल्क होगा। इस अस्पताल से गंभीर रूप से पीड़ित लोगों को नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान भेजा जाएगा। अस्पताल पूरी तरह से वातानुकूलित है और 25 हजार वर्ग मीटर में फैला है। प्रत्येक आईसीयू बिस्तर पर वेंटीलेटर और निगरानी उपकरण लगाए गए हैं। अस्पताल में स्वागत कक्ष और रोगी प्रवेश खंड, चिकित्सा खंड तथा फार्मेसी और प्रयोगशाला अलग-अलग बनाए गए हैं। इसके अलावा डॉक्टरों और नर्सों के लिए अलग खंड है। अस्पताल में चार खंड बनाए गए हैं और प्रत्येक में दो सौ पचास बिस्तर हैं। अस्पताल में मरीजों और चिकित्सा कर्मियों के आने-जाने के लिए अलग-अलग गलियारे बनाए गए हैं। आकाशवाणी समाचार कक्ष से नईम अख़तर।

-----

दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल ने आज छतरपुर में राधास्‍वामी सत्‍संग ब्‍यास परिसर में विश्‍व के सबसे बडे कोविड केयर सेंटर का शुभारंभ किया। उन्‍होंने चिकित्‍सा स्‍टॉफ, बिस्‍तर, ऑक्‍सीजन सिलेंडर, कन्‍सन्‍ट्रेटर, वेंटीलेटर और आईसीयू सुविधाओं का जायजा लिया।


श्री बैजल ने अधिकारियों को सलाह दी कि वे गंभीर रोगियों पर विशेष ध्‍यान दें और यदि आवश्‍यक हो तो उन्‍हें कोविड अस्‍पताल भेजा जाए। उन्‍होंने कहा कि गृह मंत्री अमितशाह के दिशानिर्देशों पर बना अपनी तरह का सबसे बड़ा कोविड उपचार केंद्र महामारी से निपटने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

-----

सरकार ने आज कहा कि केंद्र और राज्‍य सरकारों के प्रयास से देश में कोविड-19 के चार लाख नौ हजार रोगी स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। पिछले24 घंटे के दौरान 14 हजार 856 रोगी ठीक हुए हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि देश में उपचार करा रहे रोगियों की तुलना में स्‍वस्‍थ होने वाले रोगी एक लाख 64 हजार से भी अधिक है। स्‍वस्‍थ होने की दर बढकर लगभग 61 प्रतिशत हो गई है। मंत्रालय ने कहा कि दो लाख 44 हजार से अधिक कोविड रोगियों का इलाज चल रहा है।


पूरे देश में अभी एक हजार एक सौ प्रयोगशालाओं में कोविड जांच का काम किया जा रहा है। इन प्रयोगशालाओं में पिछले 24 घंटे के दौरान लगभग ढाई लाख नमूनों की जांच की गई है। अब तक कोविड के लगभग 98 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी है।

-----

आकाशवाणी से विशेष बातचीत में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि भारत में कोविड से स्‍वस्‍थ होने वालों की दर विश्‍व में सबसे अधिक है।


आज जो हमारा रिकवरी रेट जो है वो 61 प्रतिशत के करीब जो पहुंच रहा है। ये शायद दुनिया के अन्‍दर सबसे ज्‍यादा है। मेरे ख्‍याल से अभी इस रिकवरी रेट के आसपास केवल जो है रशिया है बाकी सब दुनिया के सब विकसित देश हमारे रिकवरी रेट से पीछे हैं। दुनिया में सबसे बेहतर रिकवरी रेट और सबसे कम फैटेलिटी रेट। फैटेलिटी रेट भी हमारा जो मृत्‍यु दर है वो भी धीरे-धीरे कम होती जा रही है। मुझे पूरा विश्‍वास है कि जिस प्रकार से भारत जो 135 करोड़ लोगों का देश है, उसमें जितने केसेज़ हुए हैं और उसमें केसेज़ में 60 पर्सेन्‍ट से ज्‍यादा ठीक होकर घर चले गये हैं। बाकी जो हैं उसमें से अधिकांश लोग भी रिकवरी पर हैं। मुझे पूरा विश्‍वास है कि आने वाले समय में हम कोरोना के उपर निर्णायक विजय है वो निश्चित रूप से प्राप्‍त करेंगे।

-----

पुदुचेरी के स्‍वास्‍थ्‍य विगाग ने आज कोविड-19 के बारे में स्थिति रिपोर्ट जारी की। इसके अनुसार इस केंद्र शासित प्रदेश में रोगियों के स्‍वस्‍थ होने की दर बढ़कर 47 प्रतिशत से अधिक हो गई है और मृत्‍यु दर केवल एक दशमलव चार-सात प्रतिशत हैं आज 43 लोगों में यह संक्रमण पाया गया। इलाज करा रहे रोगियों की संख्‍या चार सौ 84 है।

-----

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में कल से कोविड-19 के छह नए मामले सामने आए हैं, हालांकि इस दौरान 12 रोगी स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। फिलहाल कोविड संक्रमित 59 लोगों का इलाज चल रहा है, जिनमें सुरक्षाकर्मी और उनके संपर्क में आए लोग शामिल हैं। इस केंद्र शासित प्रदेश में संक्रमितों की संख्‍या बढकर 125 हो गई है। पोर्ट ब्‍लेयर में पांच क्षेत्रों को कंटेन्‍मेंट जोन घोषित किया गया है। प्रदेश में स्‍क्रीनिंग और नमूनों की जांच का काम जारी है।

-----

नगालैंड में आज कोविड-19 के 27 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही राज्‍य में संक्रमितों की संख्‍या बढकर 590 हो गई है। इनमें से 359 लोगों का उपचार चल रहा है जबकि 231 लोग स्‍वस्‍थ हो चुके हैं।

-----

उत्‍तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण को रोकने के उद्देश्‍य से नमूनों की जांच और लोगों की स्‍क्रीनिंग के काम में तेजी आई है। मेडीकल टीम घर-घर जाकर लोगों की निगरानी रख रही है। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री लोगों से सुरक्षित दूरी का कडाई से पालन करने और अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढाने पर जोर दे रहे हैं। राज्‍य में संक्रमण से स्‍वस्‍थ होने की दर लगभग 68 प्रतिशत हो गई है जो राष्‍ट्रीय औसत से ज्‍यादा है।


अपर प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्‍थी ने आज लखनउ में पत्रकारों को बताया कि आज सर्वाधिक 29 हजार 117 कोरोना वायरस के टैस्‍ट किये गये। जल्‍दी ही यह संख्‍या 30 हजार प्रतिदिन को पार कर जायेगी। अब राज्‍य में कोरोना संक्रमण मामलों की संख्‍या 27 हजार 760 हो गई है। इस समय राज्‍य में कोरोना के 8 हजार 161 सक्रिय मामले हैं। 18 हजार 761 रोगी ठीक होकर अस्‍पतालों से छुट्टी पा चुके हैं। और अब तक 785 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हुई है। एम एस यादव / आकाशवाणी समाचार / लखनउ।

-----

राजस्थान सरकार ने कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए इस साल प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों और तकनीकी शिक्षण संस्थानों में स्नातक और स्नातकोत्तर परीक्षाएं नहीं कराने का निर्णय किया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में एक उच्चस्‍तरीय बैठक में यह निर्णय किया गया।

-----

गुजरात में अहमदाबाद नगर निगम ने माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्रों की सूची में 19 और इलाकों को शामिल किया है जबकि चार क्षेत्रों को इससे हटा दिया गया है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि शहर में नगर निगम की बहुआयामी कार्यनीति के अच्‍छे परिणाम मिले हैं।

-----

केरल में कोविड-19 के संक्रमण के आज 225 नए मामले सामने आए जबकि 126 लोग संक्रमण से मुक्त हो गए। यह लगातार तीसरा दिन है जब संक्रमण के दौ सौ से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं।


नए संक्रमित लोगों में से एक सौ 17 लोग विदेशों से लौटे हैं और 57 लोग अन्य राज्यों से आए हैं। अन्य 38 लोग इन लोगों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। राज्य में फिलहाल दो हजार दो सौ 28 लोगों का इलाज चल रहा है और तीन हजार एक सौ 74 तक स्वस्थ हो चुके हैं।

-----

तमिलनाडु सरकार ने चेन्नई में कल से पूर्णबंदी हटाने का निर्णय लिया है जबकि मदुरई और उसके उपनगरीय क्षेत्रों में इसे और सात दिनों के लिए बढा दिया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री ई.पलानीसामी ने बताया है कि मदुरई में इस महीने की 12 तारीख तक पूर्णबंदी जारी रहेगी ताकि कोविड-19 का फैलाव रोका जा सके। चेन्‍नई में पूर्णबंदी खुलने के बाद राज्य के अन्‍य हिस्‍सों की तुलना में कुछ अतिरिक्त सावधानियां बरती जाएंगी।


चेन्नई में पिछले महीने की 19 तारीख से पूर्णबंदी लागू की गई थी। आज इसकी अवधि समाप्‍त हो रही है। हालांकि मदुरई में एक और सप्‍ताह पूर्णबंदी जारी रहेगी। वहां कोरोना के बढते मामलों को देखते हुए इसे जारी रखने का फैसला किया गया है। इस बीच, तमिलनाडु सरकार ने राज्‍य के ग्रामीण इलाकों के कुछ पूजा स्‍थलों को नये नियमों के साथ कल से खोलने की अनुमति दे दी है। पूजा स्‍थलों में लोगों को मास्‍क पहनना और सुरक्षित दूरी जैसे नियमों का पालन करना होगा। सरकार ने इस महीने हर रविवार को पूरे राज्‍य में पूर्णबंदी को लागू रखने का भी निर्देश दिया है। चेन्‍नई से जयसिंह की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से अंजू संठिया।

-----

अरुणाचल प्रदेश सरकार ने ईटानगर में कल से शुरू हो रहे लॉकडाउन के समय में संशोधन किया गया है। राज्य के मुख्य सचिव ने बताया कि कल शाम पांच बजे से 13 जुलाई सुबह पांच बजे तक लॉकडाउन रहेगा। उन्होंने कहा कि राजभवन, राज्य सचिवालय, पुलिस मुख्यालय, आपदा प्रबंधन और अन्य आवश्यक सेवाओं को छोड़कर ईटानगर के सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे। सभी व्यापारिक और निजी प्रतिष्ठान भी बंद रखे जाएंगे। केवल बैंक और ए.टी.एम., प्रिंट और इलैक्ट्रॉनिक मीडिया, स्वास्थ्य केन्द्र और इंटरनेट तथा प्रसारण सेवा सुचारू रहेंगी।

-----

भारत में स्‍वदेशी तकनीक से विकसित कोविड-19 के टीके इस महामारी से निपटने के लिए दुनियाभर में तैयार किए जा रहे टीकों की होड़ में शामिल हो गए हैं। विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्द्धन ने कहा है कि भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सिन और जायडस कैडिला द्वारा विकसित जाइकोव-डी टीके से काफी उम्‍मीद है।


भारतीय औषध महानियंत्रक ने इन टीकों के मनुष्‍यों पर परीक्षण की मंजूरी दे दी है। पिछले कुछ वर्षों में भारत दुनिया में टीके बनाने का बड़ा केंद्र बन कर उभरा है। यूनीसेफ द्वारा विभिन्‍न देशों को भेजे जाने वाले टीकों में से साठ प्रतिशत भारत में निर्मित हैं।


आकाशवाणी से बातचीत में प्रधानमंत्री के वैष्‍विक सहालकार विजय राघवन ने बताया कि:-


पहली टैस्‍ट होती है सेफ्टी, दूसरी टैस्‍ट होती है वैक्‍सीन में जब वैक्‍सीन को इंजैक्‍ट करते हैं तब क्‍या अपना शरीर उस वैक्‍सीन के इंजैक्‍शन से इम्‍यून रैस्‍पॉंस चालू होती है कि नहीं। तीसरी, वैक्‍सीन सेफ हो और और इम्‍यून रैस्‍पॉंस इम्‍यूनिटी देती हो, तो क्‍या वो फील्‍ड में जब आप बाहर जाते हैं काम करने में या घर में हैं या ऑफिस में हैं। अगर मान लीजिये वायरस आती है तो वैक्‍सीन देने से वायरस से प्रोटैक्‍शन मिलती है। और जब तक यह तीनों ठीक नही हैं तब तक हमारे देश में इंडियन काउन्सिल ऑफ मैडिकल रिसर्च जो बाकी एजेन्‍सी से पार्टनर कर रहे हैं तो वैक्‍सीन चालू नहीं करेंगे। वो चालू करने के लिये आई सी एम आर और हमारे ड्रग कंट्रोल एजेंसी यह तीन मुद्दों को पूरी तरह से देखेंगे।

-----

प्रोफेसर विजय राघवन ने देश में अनुसंधान और विकास कार्यों को बढ़ावा देने के लिए कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व-सीएसआर प्रणाली को व्यापक बनाने और नियामक प्रणाली में सुधार करने का आह्वान किया है। विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति-2020 के निर्धारण के लिए उच्च स्तरीय औद्योगिक विचार विमर्श को संबोधित करते हुए प्रोफेसर राघवन ने कहा कि उद्योगों को अनुसंधान और विकास के लिए प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए और इसके लिए सीएसआर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।


विज्ञान और प्रोद्योगिक विभाग में सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा ने कहा कि एक दीर्घकालीन नीति बनाई जानी चाहिए जिससे विज्ञान और प्रोद्योगिक क्षेत्र में उद्योगों का निवेश आकर्षित हो सके। यह विचार विमर्श भारतीय उद्योग परिषद और विज्ञान नीति मंच के सहयोग से आयोजित किया गया।

-----

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना संक्रमण रोकने के भारत सरकार के कार्यों की सराहना की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन में प्रमुख वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में परीक्षण किट बनाने में आत्मनिर्भरता हासिल करना भारत के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने शुरू से ही कई प्रभावी कदम उठाए। उसने जनवरी में ही विश्व स्वास्थ्य संगठन की सिफारिशों के अनुरूप प्रबंधन लागू कर दिये थे। उन्होंने कहा कि भारत को अब इस महामारी के डेटा प्रबंधन पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

-----

सरकार ने आज कहा कि इस वर्ष ग्यारह अप्रैल से नौ राज्यों के ढाई लाख हेक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण अभियान चलाया गया। इन राज्यों में राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब, गुजरात, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, हरियाणा और बिहार शामिल हैं। कृषि मंत्रालय ने बताया कि टिड्डी दल के प्रकोप से गुजरात, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार और हरियाणा में फसलों को अधिक नुकसान नहीं हुआ है, जबकि राजस्थान के कुछ जिलों में फसलों को मामूली नुकसान पहुंचा है। मंत्रालय ने कहा है कि राजस्थान के जैसलमेर, बाडमेर, बीकानेर, जोधपुर, नागौर, दौसा और भरतपुर तथा उत्तर प्रदेश के झांसी और महोबा जिले में टिड्डी दल सक्रिय है।


राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में टिड्डियों के नियंत्रण के लिए साठ नियंत्रण दल तैनात किए गए हैं। ये दल वाहनों के जरिये छिड़काव कर रहे हैं। मंत्रालय ने बताया कि दो सौ से ज्यादा कर्मचारी टिड्डी दल अभियान में लगे हुए हैं। राजस्थान के बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर, नागौर और फालोदी में पांच कंपनियां बारह ड्रोन से उंचे वृक्षों और अन्य स्थानों पर कीटनाशक का छिड़काव कर रही हैं। भारत पहला देश है जहां टिड्डी दल के नियंत्रण के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

-----

अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद से देश में फाइव-जी नेटवर्क की नीलामी प्रक्रिया में चीन की कंपनी हुआवई टेक्नॉलोजिस और जेड टी ई कॉर्पोरेशन को शामिल नहीं करने की अपील की है।


केंद्रीय मंत्री को लिखे पत्र में परिसंघ के महामंत्री प्रवीण खण्डेलवाल ने कहा है कि देश के सात करोड़ से अधिक व्यापारियों ने यह अनुरोध किया है। परिसंघ का कहना है कि फाइव-जी मोबाइल नेटवर्क से डाउनलोड प्रक्रिया बहुत तेज होती है, जो महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के लिए सहायक है। श्री खण्डेलवाल ने कहा कि अमरीका और ऑस्ट्रेलिया ने पहले ही चीन की इन दोनों कंपनियों पर प्रतिबंध लगा रखा है। इन दोनों कंपनियों पर साजिश रचने, काले धन को सफेद करने और बैंक धांधली के आरोप हैं।

-----

सरकार ने कोविड महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से प्रभावित ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों और प्रवासी मजदूरों को स्‍थानीय स्‍तर पर आजीविका के अवसर और रोजगार उपलब्‍ध कराने के लिए गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान शुरू किया है।


यह अभियान बिहार, झारखंड, मध्‍य प्रदेश, ओडिशा, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश के एक सौ सोलह जिलों में एक सौ पच्‍चीस दिनों के लिए चलाया गया है।


ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर नल से जल पहुंचाने का जल जीवन मिशन इस अभियान का एक अहम हिस्‍सा है। इसके जरिए कुशल, अर्द्धकुशल और प्रवासी मजदूरों को पीने के पानी की आपूर्ति से संबंधित काम में रोजगार के बडे अवसर उपलब्‍ध कराए जाएंगे।


राज्‍य सरकारों से कहा गया है कि वे गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान के तहत अपने यहां गावों में जल जीवन मिशन के तहत काम शुरू करें ताकि स्‍थानीय व प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल सके।

-----

मध्‍य प्रदेश सरकार ने अपने यहां पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए "इंतजार आपका" के नाम से सोशल मीडिया पर एक अभियान चलाया है।


इस अभियान के तहत मध्‍य प्रदेश पर्यटन बोर्ड ने राज्‍य के सभी पर्यटन स्‍थलों की आकर्षक तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर जारी की हैं।


मध्‍यप्रदेश पर्यटन निगम द्वारा प्रदेश के धार्मिक, प्राकृतिक एवम् पुरातात्विक पर्यटन स्‍थलों जैसे महाकालेश्‍वर, पंचमणी, कान्‍हा, बांधवगढ़ और अमरकंटक में मानसून सीज़न में सुरक्षित यात्रा के लिये पर्यटकों को आमंत्रित किया गया है। पर्यटकों के समय एवम् सुविधा अनुसार अलग-अलग टूर पैकेज भी तैयार किये गये हैं। इसमें सैलानियों के लिये सुरक्षित यात्रा, ठहराव और सैर को शामिल किया गया है। बोर्ड द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनज़र सभी सुरक्षा मानकों को ध्‍यान में रखते हुए तैयारियां की गई हैं। संजीव शर्मा / आकाशवाणी समाचार / भोपाल।

-----

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग विशेषज्ञों की राय श्रृंखला में कोविड-19 महामारी के बारे में जाने-माने चिकित्‍सा विशेषज्ञों की सलाह प्रसारित करता है।


नई दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान - एम्‍स में गठिया रोग विभाग की अध्‍यक्ष डॉक्‍टर उमा कुमार ने आकाशवाणी से बातचीत में लोगों को सुरक्षित दूरी बनाए रखने तथा साफ-सफाई के साथ खांसते-छींकतें समय पूरी सावधानी बरतने की सलाह दी है।


पब्लिक हेल्‍थ फाउंडेशन के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर के श्रीनाथ रेड्डी ने कहा कि भारत कोविड-19 संक्रमण के मामले में दुनिया के अन्‍य देशों से काफी बेहतर स्थिति में है। कोविड पर काबू पाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के उत्‍साहजनक परिणाम सामने आ रहे हैं।


अब तक जो नतीजे निकले हैं उससे पता चलता है कि यह वायरस का प्रभाव को रोकने में हम काफी कामयाबी हासिल कर चुके हैं, दूसरे देशों के मुकाबले में। आज का हालात जो है इसमें कोई संशय नहीं है कि हमारा हालात दूसरे देशों के मुकाबले में बेहतर है इस वायरस को डट के मुकाबला देने में।

-----

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज अपने फोन इन कार्यक्रम में कोविड-19 पर विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा।


लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में मेडिसिन के प्रोफेसर डॉक्‍टर घनश्याम पांगटे चर्चा में भाग लेंगे। यह कार्यक्रम रात नौ बजकर 30 मिनट से एफएम गोल्‍ड और अतिरिक्‍त मीटरों पर सुना जा सकता है।


श्रोता स्‍टूडियो में हमारे टोल‍-फ्री नम्‍बर 1 8 0 0 1 1 5 7 6 7 पर फोन करके विशेषज्ञ से सवाल पूछ सकते हैं। श्रोता 0 1 1 2 3 3 1 4 4 4 4 पर भी सवाल पूछ सकते हैं।

-----

केरल में कोविड के बढते मामलों को देखते हुए राजधानी तिरूवनंतपुरम में कल सुबह से सप्‍ताहभर के लिए ट्रिपल लॉकडाउन लगाया जा रहा है। इस दौरान केवल आपात सेवाओं को अनुमति होगी। सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे।

-----

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-सी बी एस ई ने शिक्षकों और छात्रों को प्रशिक्षण देने के लिए सोशल नेटवर्क वेबसाइट फेसबुक के साथ भागीदारी की है। 


सीबीएसई से संबंद्ध स्कूलों और शिक्षकों को पहले चरण में इस वर्ष अगस्त से नवम्बर तक ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह प्रशिक्षण निशुल्क होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम में छात्रों तथा शिक्षकों को डिजिटल सुरक्षा और ऑनलाइन रहने के संबंध में जानकारी दी जाएगी। इस कार्यक्रम में दस हजार शिक्षक और दस हजार छात्र शामिल हैं।


प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए पंजीकरण इस महीने की छह तारीख से बीस तारीख तक होगा। शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण दस अगस्त से और छात्रों का प्रशिक्षण छह अगस्त से शुरू होगा। सफल प्रतिभागियों को ई प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सी बी एस ई की इस पहल की सराहना की है।

-----

इलेक्ट्रॉनिक्‍स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने गैर कानूनी गतिविधियां निवारण अधिनियम के प्रावधानों के अंतर्गत अवैध संगठन सिख फॉर जस्टिस की चालीस वेबसाइटों को बंद कर दिया है। संगठन ने अपने उद्देश्यों के समर्थकों का पंजीकरण करने का अभियान चला रखा है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की सिफारिशों के अनुरूप इलेक्ट्रॉनिक मंत्रालय ने आईटी अधिनियम 2000 के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत इन वेबसाइटों पर रोक लगाने के आदेश जारी किए हैं।

-----

ओडिशा में कंधमाल जिले के सिरला जंगल में सुरक्षा बलों के साथ आज एक मुठभेड में चार माओवादी मारे गए। मुठभेड के बाद समूचे इलाके में सघन तलाशी अभियान शुरू किया गया है।


राज्‍य के मुख्‍य सचिव असित कुमार त्रिपाठी ने सुरक्षाबलों को बधाई देते हुए कहा कि इस अभियान से उग्रवाद को समाप्‍त करने का ओडिशा सरकार का संकल्‍प और सुदृढ़ हुआ है।

-----

श्री अमरनाथ जी यात्रा पर जाने वाले लोगों के लिए कोविड-19 की जांच कराना अनिवार्य होगा।


उच्‍चतम न्‍यायालय द्वारा श्री अमरनाथ जी यात्रा के लिए गठित उप-समिति की आज जम्‍मू में बैठक में यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की गई। जम्‍मू-कश्‍मीर के मुख्‍य सचिव ने बताया कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत गठित राज्‍य की कार्यकारी समिति ने कोविड महामारी को देखते हुए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसके तहत अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले सभी लोगों को जम्‍मू-कश्‍मीर में प्रवेश करते ही आर टी पी सी आर जांच करानी होगी। जब तक परीक्षण के नतीजे नहीं आ जाते, लोगों को क्‍वारंटीन में रहना होगा।

-----

इस बीच, केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में, इस वर्ष की श्री अमरनाथ जी की छड़ी मुबारक संबंधी पूजा अर्चना आज पहलगाम में की गई। हमारे संवाददाता ने बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर के उपराज्‍यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने भी श्री अमरनाथ जी की पवित्र गुफा के दर्शन किए और भगवान शिव को श्रद्धासुमन अर्पित किए।


महंत दीपेंद्र गिरी ने कुछ साधुओं के साथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन ने आयोजन के लिए विस्‍तृत व्यवस्था की थी। महंत दीपेंद्र गिरी ने आकाशवाणी श्रीनगर से बात करते हुए कहा कि उन्होंने अमरनाथ जी से दुनियाभर में मानवजाति को शांति और समृद्धि प्रदान करने की प्रार्थना की। भूमि पूजा वार्षिक अमरनाथ जी यात्रा 2020 की शुरूआत का प्रतीक है। पहलगाम से तस्द्दुत रशीद के साथ मैं सुनील कौल।

-----

मुंबई और उसके उपनगरीय इलाकों में आज लगातार तीसरे दिन भी मूसलाधार बारिश हुई। समुद्र में करीब पांच मीटर ऊंची लहरें उठने से दक्षिणी मुंबई के वर्ली इलाके में कई जगहों पर पानी भर गया।


तीन दिन की लगातार बारिश के बाद आज पवाई लेक पूरी तरह से भर गई है। पिछले दो दिनों में भारी बारिश की वजह से मुम्‍बई और उसके आस-पास के इलाके में दीवार गिरने, पेड़ के उखड़ने तथा जल भराव की घटनायें सामने आई हैं। इस बीच मुम्‍बई के कोलाबा में रहने वाले मछुआरों ने लगातार बारिश के कारण अपने घरों में जल-भराव की आशंका के चलते स्‍थानीय प्रशासन से मदद मांगी है। हालांकि मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिये शहर और उप-नगरों में रूक-रूक कर हल्‍की से मध्‍यम बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने कहा है कि हवा की गति के साथ ही तूफानी मौसम 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है। देवप्रिय भट्टाचार्जी / आकाशवाणी समाचार / मुम्‍बई।

-----


मौसम:-

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कल आमतौर पर बादल छाए रहने और बारिश होने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।


केन्‍द्र शासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर के जम्‍मू में न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहेगा और अधिकतम 37 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और मध्यम वर्षा हो सकती है।


श्रीनगर में तापमान 17 से 33 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। शहर में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे।


गिलगित में न्‍यूनतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस होगा और अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। आमतौर पर बादल छाए रहने और बारिश की संभावना है।


मुजफ्फराबाद में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।


न्‍यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

-----

असम में ज्‍यादातर नदियों का जल स्‍तर घटने से आज बाढ की स्थिति में और सुधार हुआ है। राज्‍य के सत्रह जिलों में करीब सात लाख लोग अभी भी बाढ से प्रभावित हैं। करीब पांच हजार लोग राहत शिविरों में हैं। बाढ के कारण बडे पैमाने पर फसलों को नुकसान पहुंचा है।

-----

जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार कोविड महामारी के बीच हस्‍तशिल्‍प और हथकरघा क्षेत्र के उद्यमियों और निर्यातकों को अपने उत्‍पाद बेचने के अवसर प्रदान करने के लिए दो वर्चुअल मेले प्रायोजित करेगी।


ये मेले हस्‍तशिल्‍प निर्यात संवर्धन परिषद और कालीन निर्यात संवर्धन परिषद द्वारा आयोजित किए जा रहे हैं।


जम्‍मू-कश्‍मीर के उद्योग और वाणिज्‍य विभाग के आयुक्‍त सह सचिव एम के द्विवेदी ने बताया कि इन मेलों में भाग लेने वाले कारोबारियों के पंजीकरण का खर्च सरकार वहन करेगी। मेले में जम्‍मू-कश्‍मीर हथकरघा और हस्‍तशिल्‍प निगम भी भाग लेगा।


हस्‍तशिल्‍प मेला 13 से 18 जुलाई तक और कालीन मेला 21 से 25 अगस्‍त तक आयोजित किया जाएगा। इस मेले के माध्‍यम से हस्‍तशिल्‍प और कालीन निर्यातकों तथा कारोबारियों को देश और विदेश में संभावित खरीदारों से सीधे संपर्क बनाने और उनके लिए अपने उत्‍पादों की पूरी श्रृंखला पेश करने का अवसर मिलेगा।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 9 (Aug) Midday News 8 (Aug) Evening News 8 (Aug) Hourly 9 (Aug) (1300hrs)
समाचार प्रभात 9 (Aug) दोपहर समाचार 8 (Aug) समाचार संध्या 8 (Aug) प्रति घंटा समाचार 9 (Aug) (1310hrs)
Khabarnama (Mor) 9 (Aug) Khabrein(Day) 8 (Aug) Khabrein(Eve) 8 (Aug)
Aaj Savere 9 (Aug) Parikrama 8 (Aug)

Listen Programs

Market Mantra 8 (Aug) Samayki 8 (Aug) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 8 (Aug) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 8 (Aug) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 8 (Aug)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)