A- A A+
Last Updated : Aug 9 2020 3:11PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi launches Rs 1 lakh cr Agriculture Infrastructure Fund under PM- Kisan scheme            Objective of making farmers self-sufficient is being fulfilled: PM Modi            Import embargo to be introduced on 101 items in push for 'Atmanirbhar Bharat': Rajnath Singh            Number of Covid-19 recoveries more than doubled the number of active cases; recovery rate improves to 68.78 pct            Andhra Pradesh: Nine people killed in fire accident at hotel turned Covid care centre in Vijayawada           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2000 HRS
03.07.2020
मुख्य समाचार :-

  • प्रधानमंत्री ने गलवान घाटी में शहीद हुए बहादुर सैनिकों को एक बार फिर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्‍होंने इसे विकास का युग बताते हुए कहा कि विस्‍तारवाद का युग समाप्‍त हो गया है।

  • प्रधानमंत्री ने कहा - सैनिकों की बहादुरी से पूरे विश्‍व में भारत की शक्ति का संदेश गया है।

  • कैबिनेट सचिव ने राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के साथ कोविड-19 की तैयारी पर उच्‍चस्‍तरीय समीक्षा बैठक की।

  • देश में कोविड-19 मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की दर 60 दशमलव सात-तीन प्रतिशत हुई।

  • भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद की 15 अगस्‍त से सार्वजनिक उपयोग के लिए स्‍वदेशी कोविड-19 वैक्‍सीन जारी करने की योजना।

  • सरकार ने गैर-कंटेनमेंट जोन में केन्‍द्रीय स्‍तर पर संरक्षित सभी स्‍मारकों को सोमवार से खोलने का फैसला किया।

----------

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लेह में सेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सैनिकों का बलिदान और साहस अतुल्य है और देश को सशक्त बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री ने गलवान घाटी में शहीद हुए बहादुर सैनिकों को एक बार फिर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्‍होंने इसे विकास का युग बताते हुए कहा कि विस्‍तारवाद का युग समाप्‍त हो गया है।


विस्‍तारवाद का युग समाप्‍त हो चुका है, ये युग विकासवाद का है। तेजी से बदलते हुए समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए ही अवसर हैं और विकासवाद ही भविष्‍य का आधार भी है। बीती शताब्दियों में विस्‍तारवाद ने ही मानवता का सबसे ज्‍यादा अहित किया, मानवता को विनाश करने का प्रयास किया। विस्‍तारवाद की जिद जब किसी पर सवार हुई है, उसने हमेशा विश्‍व शांति के सामने खतरा पैदा किया है। और साथियों, ये न भूलें, इतिहास गवाह है कि ऐसी ताकतें मिट गई हैं या मुड़ने के लिए मजबूर हो गई हैं।


प्रधानमंत्री ने सेना के जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय सैनिकों का साहस उस चोटी से भी ऊंचा है, जिसके वे प्रहरी हैं।


जिन कठिन परिस्थितियों में,जिस ऊंचाई पर आप मां भारती की ढाल बन करके उसकी रक्षा करते हैं, उसकी सेवा करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्‍व में कोई नहीं कर सकता। आपका साहस उस ऊंचाई से भी ऊंचा है जहां आप तैनात हैं। आपका निश्‍चय उस घाटी से भी सख्‍त है जिसको रोज आप अपने कदमों से नापते हैं। आपकी भुजाएं उन चट्टानों जैसी मजबूत हैं जो आपके ईद-गिर्द खड़ी हैं। आपकी इच्‍छाशक्ति आसपास के पर्वतों जितनी अटल है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि सैनिकों की बहादुरी का संदेश पूरी दुनिया में गया है और सबको भारत की ताकत का पता चल गया है।


दुनिया ने आपका अदम्‍य साहस देखा है, जाना है। आपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही हैं और भारत माता के दुश्‍मनों ने आपकी फायर भी देखी है और आपकी फ्यूरी भी। साथियों, लद्दाख का तो ये पूरा हिस्‍सा, ये भारत का मस्‍तक, 130 करोड़ भारतीयों के मान-सम्‍मान का प्रतीक है। ये भूमि भारत के लिए सर्वस्‍व त्‍याग करने के लिए हमेशा तैयार रहने वाले राष्‍ट्रभक्‍तों की धरती है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि लद्दाख की भूमि ने एक से बढ़कर एक वीर भारत को दिये हैं।


इस धरती ने कुशल बकुला रिनपोंछे जैसे महान राष्‍ट्रभक्‍त देश को दिए हैं। ये रिनपोंछे जी ही, उन्‍हीं के कारण जिन्‍होंने दुश्‍मन के नापाक इरादों में स्‍थानीय लोगों को लामबंद किया। रिनपोंछे की अगुवाई में यहां अलगाव पैदा करने की हर साजिश को लद्दाख की राष्‍ट्रभक्‍त जनता ने नाकाम किया है। ये उन्हीं के प्रेरक प्रयासों का परिणाम था कि देश को, भारतीय सेना को लद्दाख स्‍काउट नाम से Infantry regiment बनाने की प्रेरणा मिली।


प्रधानमंत्री ने कहा कि वे भारत माता और सेना के वीर सपूतों की माताओं दोनों का सम्मान करते हैं।


जब-जब मैं राष्‍ट्र रक्षा से जुड़े किसी निर्णय के बारे में सोचता हूं तो मैं सबसे पहले दो माताओं का स्‍मरण करता हूं- पहली हम सभी की भारतमाता, और दूसरी वे वीर माताएं जिन्‍होंने आप जैसे पराक्रमी योद्धाओं को जन्‍म दिया है।


इससे पहले, प्रधानमंत्री आज सुबह अचानक लेह पहुंचे। इस दौरे में उनके साथ प्रमुख रक्षा अध्‍यक्ष जनरल बिपिन रावत और सेना अध्‍यक्ष मनोज मुकुन्‍द नरवणे भी थे। चीन के साथ तनाव के बीच निमू में अग्रिम चौकी पर मौजूद वरिष्‍ठ अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को मौजूदा स्थिति की जानकारी दी।

----------


प्रधानमंत्री के लद्दाख दौरे के महत्‍व के बारे में सोसायटी फॉर पॉलिसी स्‍टडीज के निदेशक कोमोडोर सी उदय भास्‍कर ने आकाशवाणी को बताया -

प्रधानमंत्री का लद्दाख यात्रा एलएसी के तनाव के संदर्भ में काफी अहम है। इसमें राष्ट्रीय दृढता का संकेत है। इसमें सामरिक इशारा कई क्षेत्रों में है। एक एक्सटर्नल डाईमेंशन जिसके दो पहलू हैं चीन तथा अंतर्राष्ट्रीय समुदाय। दूसरा पहलू डॉमेस्टिक या घरेलू है। फौजियों के मनोबल के लिए यह बहुत ही सकारात्मक होगा और देशवासियों के लिए इसमें इशारा ये है कि इस वक्त हम अटल रहेंगे।

---------

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के लेह दौरे से हमारे जवानों का मनोबल बढ़ेगा। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा है कि श्री मोदी लद्दाख में सेना, वायुसेना, और आईटीबीपी के वीर जवानों के साथ हैं।

---------

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री का लद्दाख दौरा और सैनिकों के साथ उनकी बैठक उत्‍साहजनक है। ट्विटर पर रक्षा मंत्री ने कहा कि सेना की बदौलत हमेशा देश की सीमाएं सुरक्षित रही हैं। उन्‍होंने इस पहल के लिए प्रधानमंत्री को धन्‍यवाद दिया।


केन्‍द्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि देश को श्री मोदी पर गर्व है जो आज हमारे बहादुर जवानों का साहस बढ़ाने के लिए लेह में हैं।


सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे से सेना का मनोबल बढ़ेगा।

-----------

केन्‍द्रीय विद्युत मंत्री आर. के. सिंह ने कहा कि सरकार की अनु‍मति के बिना चीन से बिजली उपकरणों के आयात की अनुमति नहीं होगी। उन्‍होंने कहा कि आयात की इन चीजों को ट्रोज़न के रूप में इस्‍तेमाल किया जा सकता है जिससे देश में पावर ग्रिड बंद होने का संकट पैदा हो सकता है। राज्‍यों के बिजली मंत्रियों के वर्चुअल सम्‍मेलन में आज श्री सिंह ने कहा कि चीन या किसी अन्‍य देश से बिजली सम्‍बंधी सभी उपकरणों और कलपुर्जो के आयात के लिए सरकार की अनुमति आवश्‍यक होगी। इस तरह की सभी चीजों का बिजली मंत्रालय द्वारा निर्धारित प्रमाणित प्रयोगशालाओं में गहन निरीक्षण किया जाएगा, ताकि यह सुनिश्‍चित किया जा सके कि उनमें कोई मालवेयर, टोज़न्स या साइबर खतरा तो मौजूद नहीं है।


श्री सिंह ने सुचालक, ट्रांसफोर्मर, टावर एलीमेंट और बिजली मीटर के कलपुर्जों के भारतीय निमार्ताओं को प्रोत्‍साहन देने की आवश्‍यकता पर बल दिया।

---------

भारत ने पाकिस्‍तानी सेना द्वारा नियंत्रण रेखा और अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर अकारण संघर्ष विराम के लगातार उल्‍लंघन पर कड़ा विरोध किया है। भारत ने कहा है कि यह 2003 में संघर्ष विराम के बारे में बनी समझ के विपरीत है। सूत्रों ने बताया कि भारत ने पाकिस्‍तान द्वारा गोलीबारी के जरिए सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ कराने में निरंतर समर्थन पर गंभीर चिंता प्रकट की है। सैन्‍य संचालन महानिदेशालय सहित विभिन्‍न माध्‍यमों के जरिए पाकिस्‍तान को इस तरह की चिंता से अवगत कराने के बावजूद पाकिस्‍तानी सेना ने ऐसी गतिविधियां बंद नहीं की हैं।


इस वर्ष जून तक पाकिस्‍तानी सेना के अकारण संघर्ष विराम के उल्‍लंघन की दो हजार चार सौ 32 से अधिक घटनाओं में 14 भारतीय मारे गए और 88 घायल हुए।

-------------

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्‍तान में एक हादसे में सिख श्रद्धालुओं की मृत्‍यु पर दुख प्रकट किया है। श्री मोदी ने कहा कि वे दुख की इस घडी में मृतकों के परिजनों और मित्रों के साथ हैं। उन्‍होंने घायलों के जल्‍द से जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की। पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में आज एक वाहन और ट्रेन की टक्‍कर में 19 सिख श्रद्धालु मारे गए।

---------

कैबिनेट सचिव ने आज उच्‍च स्‍तरीय बैठक में राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ कोविड-19 से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 मरीजों की जल्‍दी पहचान और समय से क्‍लीनिकल प्रबंधन के कारण रोजाना स्‍वस्‍थ होने की दर बढ़ती जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान बीस हजार से अधि‍क कोविड रोगी स्‍वस्‍थ हुए। देश में अब तक कुल तीन लाख 79 हजार आठ सौ 91 रोगी ठीक हो चुके हैं। कोविड-19 से स्‍वस्‍थ होने की दर 60 दशमलव सात-तीन प्रतिशत हो गई है। अधिकारी ने बताया कि अभी दो लाख 27 हजार से अधिक मरीजों का इलाज चल रहा है।

--------

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने कोविड-19 के ऐसे रोगियों को घर पर ही पृथकवास में रहने के लिए नये दिशानिर्देश जारी किये हैं, जिनमें महामारी के लक्षण बेहद मामूली हैं या लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं। देश में इस तरह के रोगियों का बड़ी संख्‍या में पता चलने के बाद ये दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इन रोगियों के घर में पृथकवास की सुविधा होनी चाहिए।


60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग रोगी और गंभीर बीमारियों से ग्रसित रोगियों को उचित जांच के बाद ही घर में पृथकवास की अनुमति दी जाएगी। ऐसे कोविड रोगियों की देखभाल करने वालों और उसके संपर्क में आने वालों को डॉक्‍टर की सलाह पर हाइड्रॉक्‍सी क्‍लोरोक्विन दवा दी जानी चाहिए।


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव, नियंत्रण और प्रबंधन के लिए सरकार के सभी स्‍तरों पर समन्‍वित प्रयासों के अच्‍छे परि‍णाम नज़र आ रहे हैं। कोविड से स्‍वस्‍थ लोगों की संख्‍या मरीजों की संख्‍या की तुलना में एक लाख 52 हजार से अधिक हो गई है।


पिछले 24 घंटों के दौरान दो लाख 41 हजार से अधिक नमूनों की जांच की गई। अब तक करीब 93 लाख नमूनों की जांच हो चुकी है। देश में अब एक हजार 74 प्रयोगशालाओं में कोविड की जांच हो रही है। इनमें से सात सौ 75 सरकारी और दो सौ 99 निजी क्षेत्र की प्रयोगशालाएं हैं।

----------

सरकार ने सुरक्षा नियमों का पूरी तरह पालन करते हुए केन्‍द्रीय स्‍तर पर संरक्षित सभी स्‍मारकों को सोमवार से खोलने का फैसला किया है। पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि केवल ऐसे स्‍मारकों और संग्रहालयों को ही दर्शकों के लिए खोला जाएगा जो कन्‍टेनमेंट जोन में नहीं हैं। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार द्वारा संरक्षित सभी स्‍मारकों और पर्यटन स्‍थलों को स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार स्‍वच्‍छता, सुरक्षित दूरी और अन्‍य नियमों का पालन करना होगा। कोविड-19 महामारी के मद्देनज़र ये सभी स्‍मारक बंद कर दिए गए थे।


इन स्‍मारकों में प्रवेश के टिकट केवल इलेक्‍ट्रॉनिक माध्‍यम से जारी किए जाएंगे। अगले आदेश तक टिकट खिड़की पर कोई टिकट नहीं बेचा जाएगा। दर्शकों को सुरक्षित दूरी बनाए रखनी होगी और फेस कवर या मास्‍क अनिवार्य रूप से लगाना होगा। स्‍मारक के परिसर में समूह फोटोग्राफी की अनुमति नहीं होगी। प्रवेश द्वार पर थर्मल स्‍कैनिंग और हेंड सैनेटाइजेशन भी अनिवार्य होगा। केवल ऐसे दर्शकों को ही अनुमति होगी जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं होंगे। स्‍मारक परिसर में खान-पान की चीजें ले जाने की अनुमति नहीं होगी, केवल डिजिटल भुगतान करने वालों को ही कैंटीन और पार्किंग की सुविधा मिलेगी।

----------

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने देश में सभी अंतरराष्‍ट्रीय वाणिज्यिक यात्री विमान सेवाओं के निलम्‍बन की अवधि 31 जुलाई तक बढ़ा दी है। यह प्रतिबंध अंतरराष्‍ट्रीय कार्गो उड़ानों और विशेष रूप से स्‍वीकृत उड़ानों पर लागू नहीं होगा। महानिदेशालय ने कहा कि सक्षम प्राधिकरण अलग-अलग मामले के आधार पर अंतरराष्‍ट्रीय विमानों को चुनिंदा मार्गों पर अनुमति दे सकता है।

----------


देश में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्‍या और सशस्‍त्र बलों के कर्मियों में भी संक्रमण की पुष्टि के मद्देनज़र एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर बटालियन की तैनातियों, तबादले और आवागमन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। मेघालय में सीमा सुरक्षा बल के मेघालय फ्रंटीयर उप महानि‍रीक्षक यू के नयाल ने कहा कि यूनिट एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान तक जाती रहती हैं। इसी के अनुसार इस वर्ष की योजना बनाई गई थी, लेकिन अब मौजूदा स्थिति के मद्देनज़र इसे अगले वर्ष तक टाल दिया गया है।

------

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद- आई सी एम आर सभी क्‍लीनिकल परीक्षण पूरे होने के बाद 15 अगस्‍त से स्‍वदेशी कोविड-19वैक्‍सीन जारी करने की योजना बना रही है। आई सी एम आर ने यह महत्‍वपूर्ण कोविड-19 वैक्‍सीन विकसित करने के लिए भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के साथ भागीदारी की है। भारत बायोटेक से यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि परीक्षण के लिए मरीजों के नाम दर्ज करने की प्रक्रिया 7 जुलाई से शुरू कर दी जाये।


आईसीएमआर और भारत बायोटेक ने संभावित कोविड-19 के वैक्सीन के विकास के लिए हाथ मिलाया है। भारत बायोटेक ने इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए अपने प्रयासों को गति दे दी है। हालांकि अंतिम परिणाम इस परियोजना में शामिल सभी क्लीनिकल ट्रायल साइटों के सहयोग पर निर्भर करेगा। कोविड-19 से निपटने के लिए भारत द्वारा विकसित किया जाने वाला यह पहला स्वदेशी टीका है और सरकार की शीर्ष प्राथमिकता में शामिल है। वैक्सीन सार्स-कोविड-2 स्ट्रेन से लिया गया है। जिसे आईसीएमआर नेशनल इन्सटीट्यूट ऑफ वायरलॉजी, पुणे द्वारा अलग किया गया है। हाल ही में सेंट्रल ड्रग स्टेंड्र कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन ने भारत बायोटेक इंडिया को कोवैक्सीन नामक कोरोना वैक्सीन के लिए मानव परीक्षण करने की मंजूरी दी है। भूपेंद्र सिंह, आकाशवाणी, दिल्ली।

--------

केंद्रीय औषध मानक नियंत्रण संगठन ने कोविड-19 वैक्‍सीन की संभावना के लिए जाइडुस कैडिल्‍ला को मनुष्‍य पर फेज-1 और फेज - 2 क्‍लीनिकल परीक्षण की अनुमति दी है। यह भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन के बाद दूसरी संभावित वैक्‍सीन है जिसे मनुष्‍य पर क्‍लीनिकल परीक्षण की मंजूरी मिली है। भारत में कई स्‍थानों पर एक हजार से अधिक मरीजों पर इस महीने क्‍लीनिकल परीक्षण शुरू होने की संभावना है।

--------

तमिलनाडु में कोविड-19 के मरीजों की संख्‍या आज एक लाख से अधिक हो गई। राज्‍य में अब एक लाख दो हजार 721 मरीज हैं। विश्‍लेषकों का कहना है कि राज्‍य में मार्च में पहला मामला सामने आने के बाद अगले 103 दिनों में संक्रमित लोगों की संख्‍या 50 हजार से ज्‍यादा हो गई।


इस बीच, मुख्‍यमंत्री ई० पलनीस्‍वामी ने घोषणा की है कि कोविड-19 के हालात के मद्देनजर सार्वजनिक वितरण व्‍यवस्‍था के जरिये जुलाई महीने के लिए जनता को निशुल्‍क राशन के रूप में दाल, चीनी, पाम ऑयल वितरित किया जाएगा। यह मुफ्त चावल योजना के अतिरिक्‍त होगा।

------------

त्रिपुरा में, कोविड-19 के 53 मरीजों को आज स्‍वस्‍थ होने पर छुट्टी दे दी गई। राज्‍य में अब तक कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्‍या बढकर एक हजार 146 हो गई है।


बृहस्‍पतिवार को कोविड-19 के 39 और मामलों का पता चला। इसके साथ कुल पोजीटिव मामले एक हजार 441 हो गए।

---------

मेघालय में तीन और लोगों में कोविड-19 के संक्रमण की पुष्टि के साथ ही राज्‍य में इसके मरीजों की संख्‍या 18 हो गई है। राज्‍य में अब तक कोविड-19 के कुल बासठ मामले सामने आये हैं जिनमें से 43 स्‍वस्‍थ हो चुके हैं जबकि एक की मृत्‍यु हो गई है।


इस बीच, मेघालय में सीमावर्ती री-भोई जिले में बर्नीहाट से खानापारा के लोगों के लिए रेंडम रैपिड परीक्षण शुरू करने का फैसला किया है। सरकार ने इस क्षेत्र में आज रात 9 बजे से सोमवार सवेरे तक कर्फ्यू भी लगा दिया है। राज्य के उप-मुख्यमंत्री प्रिस्टोन तिनसॉन्ग ने बताया कि कोविड-19 मामलों के प्रसार पर अंकुश के लिए कर्फ्यू लगाना जरूरी था।

---------

ओडिसा सरकार ने कोविड -19 मरीजों के उपचार के लिए राज्य के चार अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी शुरू करने का फैसला किया है। हमारी संवाददाता ने बताया है कि यह फैसला राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री नबा किशोर दास की अध्यक्षता में आज हुई बैठक में लिया गया।


ओडिशा के अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी की शुरुआत होगी। इनमें कटक स्थित श्रीराम चंद्र भंज मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, अश्विनी अस्पताल और भुवनेश्वर के सम और कीम्स अस्पताल शामिल हैं। प्लाज्मा थेरेपी के लिए उपचार योजना की रूपरेखा तैयार करने के लिए एक तकनीकी समिति बनाई जाएगी। समिति राज्य में इस थेरेपी को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए एक ब्लूप्रिंट तैयारी करेगी। यह समिति प्लाज्मा थेरेपी के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के साथ-साथ राज्य सरकार को एक विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगी। इसी बीच, ओडिशा में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 8,106 हो गई है, जिनमें से 5,502 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। राज्य में कोरोना से अबतक 29 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। इतिश्री सिंह राठौर, आकाशवाणी समाचार, कटक।

---------

हिमाचल प्रदेश के पालमपुर में हिमालयी जैव संसाधन प्रौद्योगिकी संस्थान कोविड-19 परीक्षण में उल्लेखनीय योगदान कर रहा है। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि यह संस्थान राज्य में और अन्य गतिविधियों के साथ ही विभिन्न मेडिकल कालेजों को कोविड-19 परीक्षण में लॉजिस्टिक सहयोग उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभा रहा है।


ये संस्थान टांडा, चंबा, और हमीरपुर मेडिकल कॉलेजों में कोविड-19 के टेस्‍ट के लिए सभी आवश्यक उपकरणों और वस्‍तुओं की निर्बाध आपूर्ति प्रदान कर रहा है। संस्थान ने उपभोक्ताओं के लिए अल्कोहल-फ्री हैंड सैनिटाइज़र और हर्बल साबुन तैयार करने में भी कामयाबी हासिल की है। इसके अलावा हिमालयन जैव-संसाधन प्रौद्योगिकी, पालमपुर विभिन्न पौधों से सुगंधित तेल के उत्पादन द्वारा हिमाचल प्रदेश को देश का अरोमा राज्य बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभा रहा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार संस्थान द्वारा किए जा रहे अनुसंधान के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए बड़े पैमाने पर प्रयास किए जा रहे हैं। संजीव सुंदरियाल, आकाशवाणी समाचार शिमला।

-------

जम्‍मू कश्‍मीर में कोविड-19 से स्‍वस्‍थ होने वालों की दर 63 दशमलव तीन-सात प्रतिशत हो गई है। हालांकि आज एक 70 वर्षीय मरीज की मृत्‍यु हो गई। राज्‍य में मरने वालों की संख्‍या 118 हो गई है।

-------

इस बीच, कोविड-19 और लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में फंसे केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर के करीब एक लाख 83 हजार पांच सौ दो लोगों को वापस लाया गया है।

---------


वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे पांच लाख से अधिक भारतीयों को स्‍वदेश लाया गया। विश्‍व में अपनी तरह के इस सबसे बड़े मिशन के तहत अब तक एक सौ 37 देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया गया है। वंदे भारत मिशन केन्‍द्र सरकार ने सात मई से शुरू किया था।


वंदे भारत मिशन के अंतर्गत केरल में सबसे अधिक लगभग 94 हजार विदेशों में फंसे भारतीय वापस अपने घरों को लौट आए हैं। उत्तर प्रदेश, बिहार, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात और आंध्र प्रदेश में भी वापस लौट कर आने वालों की संख्‍या बहुत अधिक है। वंदे भारत मिशन के अंतर्गत चलाई जा रही विशेष उड़ानों में सबसे अधिक लगभग 57 हजार भारतीय संयुक्‍त अरब अमरात से स्‍वदेश लौटे। इसके बाद कुवैत, कतर, ओमान, सऊदी अरब और अमरीका से भी स्‍वदेश लौटने वालों की तदाद हजारों में है। 91 हजार से अधिक भारतीय नेपाल से सड़क मार्ग के द्वारा सीमा चौंकियों से वापस लौट कर आए हैं। विश्‍व के सबसे बड़े कड़े वर्तन अभियान में अभी तक एयर इंडिया की 860 और 12 सौ से अधिक चार्टर्ड उड़ानें के साथ ही नौसेना के आठ जहाजों का परिचालन किया जा चुका है। आज से शुरू हुए इस अभियान के चौथे चरण के साथ ही वापस स्‍वदेश आने वाले भारतीयों की संख्‍या अभी और कई गुना तक बढ़ने की उम्‍मीद जताई जा रही है। आनंद चतुर्वेदी, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

-----------

भारतीय भाषाओं को प्रोत्‍साहन देने की भावना के अनुरूप आकाशवाणी से कल संस्‍कृत में पहले न्‍यूज़ मैगजीन कार्यक्रम का प्रसारण किया जाएगा। इस कार्यक्रम का नाम संस्‍कृत साप्‍ताहिकी रखा गया है।


इस साप्‍ताहिक कार्यक्रम में सूक्‍ति, प्रसंग, साप्‍ताहिकी, संस्‍कृत दर्शन, ज्ञान-विज्ञान, बाल वल्‍लरी, एक भारत श्रेष्‍ठ भारत और अनविक्षिकी खंड शामिल होंगे। इसमें सप्‍ताह के प्रमुख घटनाक्रम भी शामिल होंगे। संस्‍कृत जगत की खबरें, संस्‍कृत साहित्‍य, दर्शन, इतिहास, कला,संस्‍कृति और परम्‍परा में मानव मूल्‍यों की व्‍याख्‍या प्रस्‍तुत की जाएगी। कार्यक्रम में बच्‍चों और युवाओं की आवाज को प्रमुखता दी जाएगी। कार्यक्रम की रोचक विशेषता एक भारत श्रेष्‍ठ भारत है।


कार्यक्रम के अंतिम खंड अनविक्षिकी में सप्‍ताह की प्रमुख एतिहासिक घटनाओं पर नज़र डाली जाएगी। इसमें भारत की समृद्ध संस्‍कृति और परम्‍परा पर जोर दिया जाएगा।

---------

केन्‍द्र सरकार ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर जेईई और नीट परीक्षाएं स्‍थगित कर दी हैं। अब जेईई मुख्‍य परीक्षा एक से छह सितम्‍बर को होगी। जेईई एडवांस्‍ड परीक्षा 27 सितम्‍बर को होगी। मेडिकल प्रवेश परीक्षा- नीट 13 सितम्‍बर को होगी।


मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि विद्यार्थियों की सुरक्षा और शिक्षा की गुणवत्‍ता सुनिश्‍चित करने के मद्देनज़र यह फैसला किया गया है।

---------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग अपने विशेषज्ञ राय कार्यक्रम में कोविड-19 विषय पर जाने-माने चिकित्‍सा विशेषज्ञों की राय प्रस्‍तुत करता है। इस श्रृंखला में दिल्‍ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्‍पताल के डाक्‍टर नरेश गुप्‍ता ने लोगों को साफ सफाई पर विशेष ध्‍यान देने और सुरक्षित दूरी अपनाने की सलाह दी है।


खांसने के समय ऐसा खांसना-छींकना चाहिए कि दूसरे के ऊपर नहीं जाए। टिशू पेपर रखे के, रूमाल रख के, कोहनी रख के बचाव करें। एक और चीज इसमें आती है वो है डिस्टेंसिंग का। जब कोई खांसता-छींकता है तो एक से दो मीटर तक वो जा सकती है। तो अगर आप पहले ही एक या दो मीटर का फासला बना के रखेंगे तो उसका आपके साथ कॉन्टेक्ट होने का अंदेशा बहुत कम हो जाता है जो कॉन्टेक्ट ट्रांसमिशन की बात आई तो उसके लिए हम कहते हैं कि आप हाथ साफ करें। हाथ अगर आप धोते रहेंगे तो उसमें जो वायरस है वो साबुन-पानी के द्वारा निकलता रहेगा और उसके साथ-साथ अगर जरूरत समझे या पानी नहीं हो तो आप सैनेटाइजर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

---------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज अपने फोन इन कार्यक्रम में कोविड -19 पर एक विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा। यह कार्यक्रम रात साढे नौ बजे से एफ.एम. गोल्‍ड और अतिरिक्‍त मीटरों पर सुना जा सकता है।


नई दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान के वृद्धावस्‍‍था रोग चिकित्‍सा विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्‍टर प्रसुन चटर्जी चर्चा में भाग लेंगे।


श्रोता स्‍टूडियो में हमारे टोल‍-फ्री नम्‍बर -1 8 0 0 1 1 5 7 6 7. पर फोन करके विशेषज्ञ से सवाल पूछ सकते हैं। श्रोता 0 1 1 2 3 3 1 4 4 4 4. पर भी सवाल पूछ सकते हैं।

----------


भारतीय मौसम विभाग ने भविष्‍यवाणी की है कि अगले 24 घंटों में मुंबई और इसके आसपास के कई जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है।


कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए प्रतिबंधों से जूंझ रहे मुम्बईकरो को आज सुबह तेज़ बारिश और जलभराव का सामना करना पड़ा। मुंबई की ट्रैफिक पुलिस के अनुसार, सायन, किंग्स सर्कल, वर्ली नाका, हिंदमाता, धोबी घाट और बाइकला पुलिस स्टेशन जैसे अड़तीस स्थानों पर जलभराव की समस्या दर्ज की गयी। मुंबई मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिनों में मुंबई, पालघर, ठाणे, रायगढ़ रत्नागिरि, नासिक, पुणे और सतारा जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना के चलते, नागरिको को घर से बाहर न निकलने की सलाह दी गयी है। इस बीच, मुंबई के नागरिक निकाय ने लोगो से एमसीजीएम आपदा प्रबंधन के मोबाइल ऍप को डाउनलोड करने के लिए आग्रह किया है। इस ऍप द्वारा नागरिक बारिश के अपडेट प्राप्त कर सकते है और आपातकाल की स्थिति में मदद भी ले सकते है। कुणाल शिंदे, आकाशवाणी समाचार, मुंबई।

---------

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ प्रभावित प्रमुख नदी-नालों में बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए की गई तैयारियों और उपायों के लिए वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आज एक समीक्षा बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को बाढ़ को कम करने और जान-माल के नुकसान को कम करने के लिए एक सुनियोजित योजना बनाने का निर्देश दिया।

-------


मौसम

दिल्ली में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और गरज के साथ बौछार होने की भी संभावना है। न्यूनतम तापमान 30 डिग्री और अधिकतम40 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।


जम्‍मू में न्‍यूनतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस से 38 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। आसमान आमतौर पर साफ रहेगा।


श्रीनगर में आसमान साफ रहेगा। तापमान 18 डिग्री सेल्सियस से 32 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा।


गिलगित में आसमान साफ रहने और दोपहर बाद या शाम को बादल छाने का अनुमान है। न्‍यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस रहेगा।


मुजफ्फराबाद में आसमान आमतौर पर साफ रहने की संभावना है। तापमान 23 डिग्री सेल्सियस से 40 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है।

---------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 9 (Aug) Midday News 9 (Aug) Evening News 8 (Aug) Hourly 9 (Aug) (1300hrs)
समाचार प्रभात 9 (Aug) दोपहर समाचार 9 (Aug) समाचार संध्या 8 (Aug) प्रति घंटा समाचार 9 (Aug) (1310hrs)
Khabarnama (Mor) 9 (Aug) Khabrein(Day) 9 (Aug) Khabrein(Eve) 8 (Aug)
Aaj Savere 9 (Aug) Parikrama 8 (Aug)

Listen Programs

Market Mantra 8 (Aug) Samayki 8 (Aug) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 8 (Aug) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 8 (Aug) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 8 (Aug)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)