A- A A+
Last Updated : Jul 4 2020 10:17PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi launches Aatmanirbhar Bharat App Innovation Challenge            COVID-19 recovery rate improves to around 61 per cent            Odisha: Two-day weekend shutdown in 17 districts begins            PM lauds BJP workers for their nationwide welfare work during pandemic            No flights to Kolkata from 6 cities to prevent further surge in Corona cases           

Text Bulletins Details


दोपहर समाचार

1430 HRS
04.06.2020

मुख्‍य समाचार :-

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कोट मॉरिसन के बीच पहला  भारत - ऑस्‍ट्रेलिया वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन।  दोनों देशों के बीच सात समझौतों पर हस्‍ताक्षर।

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा - वैश्विक महामारी के इस दौर में समग्र रणनीति साझेदारी की भूमिका ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण ।

  • ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने महामारी के दौरान नेतृत्‍व और रचनात्‍मक भूमिका निभाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की।

  • उच्‍चतम न्‍यायालय ने हरियाणा, उत्‍तर प्रदेश और दिल्‍ली से एनसीआर क्षेत्र में आवागमन के लिए एक समान नीति बनाने को कहा।

  • ओडिसा सरकार ने कोविड-19 सं संक्रमित ग्‍यारह जिलों में सप्‍ताहांत में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की।

  • केन्‍द्रीय पर्यावरण और वन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा - केरल में गर्भवती हथिनी की जघन्‍य हत्‍या में शामिल लोगों पर कडी कार्रवाई की जाएगी।

  • चक्रवाती तूफान निसर्ग के कारण मुंबई में काफी नुकसान, मौसम विभाग ने मध्‍य प्रदेश के कुछ भागों में तेज बारिश की चेतावनी जारी की है।

--------------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत, ऑस्‍ट्रेलिया के साथ संबंधों को प्रगाढ करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने कहा कि यह सिर्फ दोनों देशों के लिए ही नहीं, बल्कि समूचे हिन्‍द-प्रशान्‍त क्षेत्र और विश्‍व के लिए भी महत्‍वपूर्ण है। पहले भारत-ऑस्‍ट्रेलिया वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री ने कहा कि मौजूदा कोरोना संक्रमण के दौर में समग्र रणनीतिक साझेदारी की भूमिका महत्‍वपूर्ण हो जाती है। श्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध मजबूत करने का यह उचित समय है।


मेरा मानना है कि भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के संबंधों को और सशक्‍त करने के लिए ये परफैक्‍ट समय है, परफैक्‍ट मौका है। अपनी दोस्‍ती को और मजबूत बनाने के लिए हमारे पास असीम संभावनाएं हैं। ये संभावनाएं अपने साथ चैलेंजिज भी लाती हैं। चैलेंजिज की किस तरह इस पोटेन्‍शल को वास्‍तविकता में ट्रांसलेट किया जाए, ताकि दोनों देशों के नागरिकों, बिजनेसिज, अकेडेमिक्‍स, रिसर्चर्ज इत्‍यादि के बीच लिंक्स हो और जो और मजबूत बने।


प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने कोविड-19 संकट को अवसर के रूप में देखा है।


विश्‍व को इस महामारी के आर्थिक और सामाजिक दुष्‍प्रभावों से जल्‍दी निकालने के लिए एक कॉर्डिनेटर और कॉलिब्रेटिव अप्रोच की आवश्‍यकता है। हमारी सरकार ने इस क्राइसि‍स को एक अपोरच्‍युनिटी की तरह देखने का निर्णय लिया है। भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में व्‍यापक रिफॉर्म्स की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। बहुत जल्‍द ही ग्राउंड लेवल पर इसके परिणाम देखने को मिलेंगे।  


प्रधानमंत्री ने देशवासियों की तरफ से ऑस्‍ट्रेलिया के कोविड प्रभावित लोगों के प्रति संवेदना प्रकट की। श्री मोदी ने कोरोना संकट के समय भारतीय समुदाय की सहायता की सराहना करते हुए श्री मॉरिसन को धन्‍यवाद दिया।


इस कठिन समय में आपने ऑस्‍ट्रेलिया में भारतीय समुदाय का और खासतौर पर भारतीय छात्रों का, हमारे स्‍टूडेंट्स का जिस तरह ध्‍यान रखा है। उसके लिए मैं विशेष रूप से आपका आभारी हूं।


प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिसन ने कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया  सरकार समेकित और समृद्ध हिन्‍द - प्रशान्‍त क्षेत्र के लिए  प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने कहा कि आने वाले वर्षों में इस क्षेत्र में भारत की अहम भूमिका रहेगी। मॉरिसन ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्‍व की सराहना करते हुए कहा कि उन्‍होंने कोरोना संकट के समय रचनात्‍मक भूमिका निभाई। श्री मॉरिसन ने कहा कि भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच जहाजरानी संबंधों को अन्‍य क्षेत्रों में पारस्‍परिक संबंध मजबूत करने के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है।


श्री मॉरिसन ने भारत को विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के कार्यकारी बोर्ड का अध्‍यक्ष चुने जाने पर कहा कि इससे स्‍वास्‍थ्‍य समेत विश्‍व की कई कठिन समस्‍याओं को सुलझाने में मदद मिलेगी।

--------------------

भारतीय भोजन और सौजन्‍यता की सराहना करते हुए ऑस्‍ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरीसन ने समोसे और गुजराती खिचड़ी के प्रति अपने लगाव का उल्‍लेख किया। प्रधानमंत्री मोदी ने मॉरीसन से कहा कि यह भारत और ऑस्‍ट्रेलिया में गुजराती समुदाय के लिए बड़ी खुशी की बात है।


और जब आपने खिचड़ी की बात कही तो गुजरात के लोग तो बहुत प्रसन्‍न हो जाएंगे और ऑस्‍ट्रेलिया में भी बहुत गुजराती परिवार रहते हैं। उनके लिए तो और  खुशी की बात होगी, लेकिन मजा ये है कि खिचड़ी एक प्रकार से हमारे देश में पूरे हिन्‍दुस्‍तान के हर कोने में एक कॉमन वैरायटी के रूप में है। नाम अलग-अलग में है, लेकिन बहुत पॉपुलर है, लेकिन मुझे खुशी होगी आपके साथ इसको एन्‍ज्‍वॉय करने का। एक्‍सीलेंसी आपके उत्‍साह और विश्‍वास से भरे शब्‍दों के लिए मैं बहुत-बहुत धन्‍यवाद करता हूं।

--------------------

भारत और ऑस्ट्रेलिया ने वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन के बाद व्यापक रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की। दोनों देशों ने हिन्‍द-प्रशान्‍त क्षेत्र में समुद्री सहयोग पर एक साझा दृष्टिपत्र भी जारी किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और  ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉर्ट मॉरिसन के बीच बातचीत के बाद सात समझौतों पर भी हस्ताक्षर हुए। इनमें साइबर और साइबर-सक्षम क्रिटिकल टेक्नोलॉजी सहयोग पर समझौता और खनन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण सहयोग शामिल हैं। दोनों देशों ने रक्षा विज्ञान और प्रौद्योगिकी, लोक प्रशासन और प्रशासनिक सुधारों, व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण तथा जल संसाधन प्रबंधन सहयोग के बारे में भी समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए।


बातचीत के बाद, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों पर विस्तार से उत्कृष्ट चर्चा हुई। श्री मोदी ने कहा कि दोनों देश व्यापक रणनीतिक साझेदारी के साथ नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर सकते हैं।

--------------------

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया ने द्विपक्षीय कार्यनीतिक भागीदारी को व्‍यापक भागीदारी तक ले जाने की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की है।  दोनों देशों के बीच, व्‍यापक कार्यनीतिक भागीदारी पर संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में कहा गया है कि यह आपसी समझ, भरोसा, साझा हित और लोकतांत्रिक मूल्‍यों पर आधारित होगी। संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में कोविड-19 जैसी बड़ी चुनौतियों के समाधान के लिए व्‍यवहारिक वैश्विक सहयोग को लेकर दोनों देशों की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की गई है।


भारत और ऑस्‍ट्रेलिया ने कोविड-19 के आर्थिक असर और भावी चुनौतियों से निपटने और लोगों का जीवन बचाने में वैश्विक सहयोग को महत्‍व दिया है। दोनों देश वैज्ञानिक तथा चिकित्‍सा अनुसंधान के लाभ साझा करेंगे तथा वैश्विक महामारी की रोकथाम के लिए स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल प्रणाली और तैयारियों को मजबूत करेंगे।


भारत और ऑस्‍ट्रेलिया ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी और अनुसंधान क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने का भी संकल्‍प व्यक्‍त किया है और डिजिटल अर्थव्‍यवस्‍था, साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में  मिलकर काम करने का फैसला किया है। समुद्री क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने पर सहमति बनी है। दोनों देश साझा सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के नये उपायों के लिए रक्षा सहयोग और संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास बढ़ाने पर भी सहमत हुए हैं।


आतंकवाद को क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए बड़ा खतरा बताते हुए दोनों देशों ने हर प्रकार के आतंकवाद की निंदा की है और इस बात पर बल दिया है कि आतंकी गतिविधियों को किसी भी हाल में उचित नहीं ठहराया जा सकता।

--------------------

उच्‍चतम न्‍यायालय ने दिल्‍ली, उत्‍तरप्रदेश और हरियाणा सरकारों को निर्देश दिया है कि वे राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में यातायात के बारे में एक समान नीति अपनाएं। न्‍यायालय इस क्षेत्र में लोगों को आवाजाही में आ रही समस्‍याओं के बारे में एक याचिका पर सुनवाई कर रहा है। शीर्ष न्‍यायालय ने तीनों राज्‍य सरकारों को निर्देश दिया है कि वे एक सप्‍ताह के भीतर एक समान नीति तैयार करके उसे एक वेब पोर्टल पर डालें, ताकि राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में लोगों के आवागमन को सुगम बनाया जा सके।

--------------------

केन्‍द्र सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय को बताया है कि उसका 29 मार्च का वह आदेश जिसमें लॉकडाउन के दौरान निजी कंपनियों को अपने कर्मचारियों को पूरा वेतन देने की बात कही गई थी, वह कर्मचारियों को राहत देने वाला एक अंतरिम उपाय था। अपने हलफनामे में सरकार ने कहा कि यह आदेश 18 मई से निष्‍प्रभावी हो गया है, इसलिए इसे चुनौती देने वाली याचिका का अब कोई मतलब नहीं है।

--------------------

उच्‍चतम न्‍यायालय ने लॉकडाउन की अवधि के दौरान कर्ज को ब्‍याज मुक्‍त करने पर वित्‍त मंत्रालय से जवाब मांगा है। इससे पहले रिजर्व बैंक ने कहा था कि बैंको पर कर्ज को ब्‍याज मुक्‍त करने के लिए दबाव डालने से उनके वित्‍तीय हालात बिगड़ सकते हैं। इस मामले में केन्‍द्र सरकार से 12 जून तक जवाब दाखिल करने को कहा गया है। इसके बाद मामले की आगे सुनवाई होगी।

--------------------

ओडिसा सरकार ने कोविड संक्रमण के बाद राज्‍य में  लाखों श्रमिकों की वापसी को देखते हुए कई कठोर उपायों की घोषणा की है। राज्‍य के 11 जिलों में इस महीने सभी सप्‍ताहांत में पूरा लॉकडाउन रहेगा। ये जिले हैं- गंजम, पुरी, नयागढ़, खुर्दा, कटक, जगतसिंहपुर, केन्‍द्रपाड़ा, जाजपुर, भद्रक, बालासोर और बोलंगीर।


राज्‍य में पिछले 24 घंटों के दौरान 90 और व्‍यक्ति कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं इन्‍हें मिलाकर राज्‍य में संक्रमित लोगों की संख्‍या दो हजार 478 हो गई है। इनमें से एक हजार 416 लोग ठीक हो चुके हैं और सात लोगों की मौत हो गई है। राज्‍य सरकार ने सभी स्‍कूलों और महाविद्यालयों को 31 जुलाई तक बंद रखने का निर्देश दिया है।

--------------------

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने आवश्‍यक वस्‍तु अधिनियम में  ऐति‍हासिक संशोधन को मंजूरी दी है। कृषि में बदलाव और किसानों की आय बढ़़ाने की दिशा में यह एक दूरदर्शी कदम है। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि इस संशोधन से अनाज, दालों, तिलहन, खाद्य तेलों, प्‍याज तथा आलू को आवश्‍यक वस्‍तुओं की सूची से हटा दिया गया है। इससे किसानों को फसल की बेहतर कीमत मिल सकेगी और निजी निवेश के लिए अनावश्‍यक नियामक हस्‍तक्षेप दूर होगा।


एग्रीकल्चर प्रोड्यूसर मार्केट कमेटी के बंधन से किसान मुक्त हुआ है। किसान कहीं भी उत्पादन बेच सकेगा। ज्यादा दाम देने वाले को बेचने की आज़ादी मिली है किसान को। ज़्यादा कीमतों की गारंटी पर कृषि उपज समझौते से बेचने की किसान को अनुमति मिली है। यानी कोई निर्यातबद्ध है, कोई प्रोसेसर है, कोई दूसरे पदार्थों का उत्पादक है, तो उसको कृषि उपज दोनों के आपसी समझौता जो होगा, उसके तहत बेचने की सुविधा मिली है। भारत में पहली दफा ऐसा कदम उठाया गया है।


मंत्रिमंडल ने कृषि उपज व्‍यापार और वाणिज्‍य संवर्धन और सुविधा अध्‍यादेश-2020 को मंजूरी दे दी है। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने कहा कि यह अध्‍यादेश राज्‍य कृषि उपज विपणन कानूनों के तहत मंडियों के दायरे से बाहर राज्‍य में और राज्‍यों के बीच बाधारहित व्‍यापार और वाणिज्‍य को प्रोत्‍साहन देगा।


किसान पर जो अपने उतपादन को बेचने के लिये प्रतिबन्‍ध लगे थे, उन प्रतिबंधों से पूरी तरह मुक्‍त किया जाता है। मंडियां रहेंगी, राज्‍य का एपीएमसी एक्‍ट रहेगा, लेकिन एपीएमसी की परिधी के बाहर जो सारा क्षेत्र है, चाहे वो किसान का घर ही क्‍यों ना हो, उस घर में जाकर भी कोई कम्‍पनी, संस्‍था, प्रोसेसिंग इंडस्‍ट्री, एफपीओ, कोऑपरेटिव सेक्‍टर के समूह वहां से माल खरीदेगा। और इस खरीद और बिक्री पर किसी भी प्रकार का कोई टैक्‍स, कानूनी बंधन नहीं होगा।

--------------------

हमारे संवाददाता  ने बताया है कि सरकार के इस फैसले से किसान, उपभोक्‍ता और व्‍यापारी, सभी वर्गों के हितों की रक्षा होगी।


सरकार ने आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन कर नियमन से संबंधित नियमों को उदार बनाते हुए उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा सुनिश्चित की है। संशोधन के तहत यह व्यवस्था की गयी है कि अकाल, युद्ध, कीमतों में अप्रत्याशित वृद्धि और प्राकृतिक आपदा जैसी परिस्थितियों में इन कृषि उपजों की कीमतों को नियंत्रित किया जा सकता है। हालांकि मूल्य श्रृंखला के किसी भी प्रतिभागी की स्थापित क्षमता और किसी भी निर्यातक की निर्यात मांग इस तरह की स्टॉक सीमा की व्यवस्था से मुक्त रहेगी, ताकि कृषि क्षेत्र में निवेश प्रभावित न हो। इस संशोधन के जरिये किसान और उपभोक्ता, दोनों लाभान्वित होंगे तथा मूल्य में स्थिरता भी आयेगी। साथ ही भंडारण सुविधाओं के अभाव के कारण होने वाली किसी उपज की बर्बादी को भी रोका जा सकेगा। आनंद कुमार, आकाशाणी समाचार, दिल्ली। 

--------------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला वर्ष पूरा हो गया है। इस एक वर्ष के दौरान सरकार ने लोगों को सस्‍ती और गुणवत्‍तापूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य सेवा मुहैया कराने और देश में स्‍वास्‍थ्‍य ढांचे के निर्माण के लिए कई कदम उठाए हैं। पिछले एक वर्ष के दौरान सरकार के विभिन्‍न प्रयासों और फैसलों पर हमारे संवाददाता की रिपोर्ट।

कोरोना वायरस महामारी के कारण देश एक अभूतपूर्व संकट से गुजर रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में भारत में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई उपाय किये हैं और स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में आत्‍मनिर्भरता के लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए इस संकट को एक अवसर में बदल दिया है। कुछ महीनों के भीतर ही भारत ने प्रतिदिन दो लाख पीपीई किट और एन-95 मास्‍क बनाने की तकनीक और विनिर्माण क्षमताओं का विकास कर लिया। यह इसलिए काबिले तारीफ है, क्‍योंकि जब ये संकट शुरू हुआ था, उस समय भारत पीपीई किट का निर्माण नहीं करता था और देश में बहुत कम मात्रा में एन-95 मास्क का उत्पादन होता था। भारत ने परीक्षण सुविधाओं में भी वृद्धि की और देश अब एक दिन में एक लाख से अधिक कोरोना वायरस के नमूनों का परीक्षण करने में सक्षम है। आज देशभर में 710 सरकारी और निजी प्रयोगशालाएं हैं। सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए आवश्यक उपकरणों और सामग्री को विकसित करने के लिए स्वदेशी विनिर्माणकर्ताओं को बढ़ावा भी दिया। मोदी सरकार ने देश में स्वास्थ्य ढांचे के निर्माण के लिए 15 हजार करोड़ रुपये प्रदान करने की भी घोषणा की है। एक और पहल, आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी गरीब लोगों के जीवन में एक नई जीवन रेखा साबित हुई है। इस योजना के तहत अब तक 13 हजार करोड़ रुपये से अधिक के एक करोड़ उपचार अस्‍पतालों में प्रदान किए जा चुके हैं। जनऔषधि सुविधा सैनिटरी नैपकिन देशभर में वंचित महिलाओं के लिए सस्ती स्वास्थ्य देखभाल सुनिश्चित कर रहे हैं। ये नैपकिन देशभर में छह हजार से अधिक प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना केन्‍द्र में उपलब्‍ध हैं। भूपेंद्र सिंह, आकाशवाणी समाचार, दिल्ली।

--------------------

देश में कोविड-19 रोगियों के स्‍वस्‍थ होने की दर 47 दशमलव नौ नौ प्रतिशत हो गई है। कुल एक लाख चार हजार 107 रोगी अब तक ठीक हो चुके हैं। स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के अधिकारी ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान तीन हजार आठ सौ चार रोगी स्‍वस्‍थ हुए हैं। 9 हजार तीन सौ चार लोगों में संक्रमण के बाद संक्रमित लोगों की संख्‍या दो लाख 16 हजार 919 हो गई है। एक दिन में सबसे ज्‍यादा मामले आए हैं। पिछले 24 घंटों में 260 लोगों की इस वायरस से मौत हुई है। कुल मृतकों की संख्‍या छह हजार 75 हो गई है। मृत्‍यु दर दो दशमलव आठ शून्‍य प्रतिशत हो गई है।


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् आईसीएमआर के अधिकारी ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान एक लाख 39 हजार 485 जांच की गई। इसके साथ ही देश में अब तक कुल 42 लाख 42 हजार 718 नमूनों की जांच की जा चुकी है। आईसीएमआर  जांच क्षमता में लगातार वृद्धि करने के लिए सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं को स्‍वीकृति दे रहा है। अब तक देश में कुल 7 सौ दस प्रयोगशालाओं को अनुमति मिली है। इनमें 498 सरकारी और 212 निजी प्रयोगशालाएं हैं।

--------------------

उत्‍तर प्रदेश में कोविड जांच के लिए ब्‍लॉक स्‍तर पर जांच लैब बनाए जाएंगे और केन्‍द्र सरकार इस परियोजना के लिए मदद करेगी। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आकाशवाणी संवाददाता को बताया कि सरकार वैश्विक महामारी की रोकथाम के साथ-साथ राज्‍य में स्‍वास्‍थ्‍य प्रणाली को भी मजबूत कर रही है। प्रत्‍येक जिले में जांच मशीने लगाई जा रही है जो कोरोना के संदिग्‍ध मरीजों की जांच रिपोर्ट एक घंटे के बाद दे देंगी।


नयी ट्रूनेट मशीनें नॉन कोविड अस्पतालों में लगाई जायेंगी। ये मशीनें एक घंटे के भीतर ही टेस्ट के नतीजे बता देंगी जिससे मरीजों को किसी आपातकाल की स्थिति में जल्दी इलाज मिल सकेगा। आकाशवाणी से बातचीत करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर उत्तर प्रदेश सरकार की मदद कर रही है।


हमें टेस्टिंग लैब की स्‍थापना हो या फिर कोविड हॉस्पिटल की सुविधाओं को स्‍ट्रैंथनिंग करने की, भारत सरकार ने भरपूर मदद की है। भारत सरकार ने हर विकास खण्‍ड स्‍तर पर, जनपद स्‍तर पर टेस्‍टिंग लैब स्‍थापित करने के लिए भी सहयोग करने की बात की है। हमारे पास पहले एक लैब नहीं थी, आज 24 गवर्नमेंट की और छह प्राइवेट लैब स्‍थापित हो चुकी हैं।


योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार ने अब तक 3 लाख 15 हजार से ज्यादा परीक्षण किये हैं और अभी प्रदेश की तीस लैब में 10 हजार परीक्षण प्रतिदिन किये जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश हाल ही में देश में कोविड मरीजों के लिए एक लाख बेड तैयार करने वाला पहला राज्य बन गया है। सुशील

--------------------

केन्‍द्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर के कश्‍मीर डिविजन में पिछले दस दिनों के दौरान कोरोना वायरस महामारी के मामलों में वृद्धि हो रही है। विशेषकर कुलगाम जिले में  संक्रमण के मामले में वृद्धि देखी जा रही है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि यहां जिला प्रशासन निवासियों की परेशानियों को कम करने के लिए अथक प्रयास कर रहा है।


कश्मीर घाटी के कुलगाम जिला केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर में कोविड-19 महामारी के 264 सक्रिय मामलों की सूची में सबसे ऊपर है। 313 पॉजिटिव मामलों में से 210 का संबंध ट्रेवल हिस्‍ट्री से बताया गया है। चिकित्सा अधीक्षक जिला अस्पताल कुलगाम डॉ. मुजफ्फर ज़रगर ने कहा कि शुरूआती पॉजिटिव मामलों की संख्या बहुत कम थी, लेकिन जम्‍मू-कश्‍मीर के बाहर से लोगों के आने के कारण पॉजिटिव मामलों में अचानक तेजी देखने को मिली। उन्‍होंनें कहा कि अधिकांश नई दिल्ली और अन्‍य स्‍थानों जैसे हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और बांग्लादेश से आये थे।


इस बीच, उपायुक्त कुलगाम शौकत ऐजाज भट ने कहा कि जिले में 46 क्षेत्रों को रेड जोन घोषित किया गया है और इन क्षेत्रों में लॉकडाउन को सख्‍ती से लागू करने के निर्देश भी दिए गए हैं। कुलगाम से खुर्शीद के साथ श्रीनगर से मैं सुनील कौल।

--------------------

सोशल मीडिया के विभिन्‍न मंचों पर फैलाई जा रही फर्जी खबरों की जांच कर हम तथ्‍य आपके सामने लाते हैं।


सोशल मीडिया पर एक वीडियों में यह दावा किया गया है कि कोविड-19 एक बैक्‍टीरिया है जिसका इलाज एस्प्रिन से किया जा सकता है जबकि सरकार का कहना है कि यह एक वायरस है और इसकी दवा अभी उपलब्‍ध नहीं है।

--------------------

जाने-माने क्रिकेट खिलाडी अनिल कुम्‍बले ने लॉकडाउन में छूट के बावजूद भी कोविड-19 की रोकथाम के लिए सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करने की लोगों से अपील की है। उन्‍होंने कोविड-19 की रोकथाम के लिए सभी लोगों से मास्‍क पहनने, साफ-सफाई पर ध्‍यान देने और सुरक्षात्‍मक उपाय अपनाने की अपील की है। 

--------------------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज फोन इन कार्यक्रम में कोविड-19 पर विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा। सर गंगाराम अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉक्टर लेफ्टिनेंट जनरल वेद चतुर्वेदी परिचर्चा में भाग लेंगे। श्रोता स्‍टूडियो में सीधे फोन कर विशेषज्ञ से सवाल पूछ सकते हैं। नम्‍बर है- 0 1 1 2 3 3 1 4 4 4 4. हमारा टोल‍-फ्री नम्‍बर है- 1 8 0 0 1 1 5 7 6 7.

--------------------

केन्‍द्रीय पर्यावरण और वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केरल में एक गर्भवती हथिनी की हत्‍या में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। श्री जावड़ेकर ने कहा कि पशुओं को भोजन के साथ पटाखे देना भारतीय संस्‍कृति का हिस्‍सा नहीं है।

--------------------

चक्रवात निसर्ग लगातार कमजोर पड़ते हुए पश्चिमी तट और मुम्‍बई-ठाणे क्षेत्र से उत्‍तरी महाराष्‍ट्र की तरफ बढ़ गया है। लेकिन यह अपने पीछे तबाही के निशान छोड़ गया है। मुम्‍बई, ठाणे, पुणे, नाशिक, अहमदनगर और औरंगाबाद जिलों समेत पूरे पश्चिमी तट पर आज सुबह से आंधी चल रही है और कई स्‍थानों पर वर्षा भी हो रही है। बड़ी संख्‍या में पेड़ और बिजली के खम्‍बे उखड़ गये हैं। मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे आज वीडियो कान्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से स्थिति का जायजा लेंगे।

--------------------

मध्‍यप्रदेश में चक्रवात निसर्ग का प्रभाव पूरे राज्‍य में नजर आ रहा है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि अधिकतर जिलों में कल रात से तेज हवाओं के साथ लगातार बारिश हो रही है।

--------------------

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री और अधिकतम तापमान 36 डिग्री सैल्सियस रहने का अनुमान  है। बादल छाये रहने तथा हल्‍की वर्षा होने की संभावना है। मुंबई में कल चक्रवात निसर्ग के कारण भारी वर्षा के बाद आज भी बादल छाये हुए हैं। मध्‍यम वर्षा जारी रहने का अनुमान है। न्‍यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। देश के दक्षिणी भाग में, चेन्‍नई में भी बादल छाए हुए हैं।  हल्‍की बूंदाबांदी हो सकती है। न्‍यूनतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम 38 डिग्री सैल्सियस रहने की उम्‍मीद है। कोलकाता में भी आंशिक रूप से बादल छाए हुए हैं। गरज के साथ आंधी, वर्षा होने की भी संभावना है। न्‍यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू - कश्‍मीर के जम्‍मू में न्‍यूनतम तापमान 23 डिग्री रिकार्ड किया गया। अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। आसमान साफ है लेकिन दोपहर बाद या शाम तक बादल घिर सकते हैं। श्रीनगर में न्‍यूनतम तापमान 11 डिग्री और अधिकतम 26 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। आसमान साफ रहेगा दोपहर बाद या शाम तक हल्‍के बादल घिर आएंगे। गिलगित में न्‍यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है। हल्‍के बादल घिरे रहेंगे। मुजफ्फराबाद में भी आंशिक रूप से बादल छाये रहने के साथ आंधी - वर्षा की संभावना है। न्‍यूनतम तापमान 15 डिग्री और अधिकतम 31 डिग्री सैल्सियस के बीच रहेगा। समाचार कक्ष से मैं नईम अख़तर।

--------------------

जाने - माने फिल्‍म निर्माता और निदेशक बासु चैटर्जी का निधन हो गया है। वे 93 वर्ष के थे। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने बासु चैटर्जी के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि वे मन को छू लेने वाली संवेदनशील फिल्‍मों के लिए हमेशा याद रखे जाएंगे। प्रधानमंत्री ने उनके परिवार और असंख्‍य प्रशंसकों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की है।


भारतीय फिल्‍म और टेलीविजन निदेशक संघ के अध्‍यक्ष अशोक पंडित ने कहा कि बासु चैटर्जी का जाना पूरे फिल्‍म जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। समाचार कक्ष की श्रद्धांजलि---


मानव मन के सहज चितेरे बासु चैटर्जी नहीं रहे।


बासु चैटर्जी मानवीय संवेदना को स्‍वर देने वाली सहज फिल्‍मों के लिए जाने जाते थे। छोटी सी बात, रजनीगंधा, चितचोर, पिया का घर, शौकीन, खट्टा-मीठा और बातों-बातों में जैसी फिल्‍में दर्शकों के मन पर गहरी पकड़ की उनकी क्षमता का प्रमाण है।  बासु दा नहीं है लेकिन उनकी फिल्‍में हमेशा -हमेशा मानव मन की सहज सरल परतों की याद दिलाती रहेंगी।

--------------------

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज संयुक्‍त पहल ट्यूलिप का शुभारंभ किया। इसका उद्देश्‍य देश में इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को इंटर्नशिप उपलब्‍ध कराना है। इस प्‍लेटफार्म का उद्घाटन करते हुए शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि ट्यूलिप से विद्यार्थियों, शहरी स्‍थानीय निकायों सहित सभी पक्षों को लाभ होगा। इससे देश में युवा प्रतिभाओं की पहचान सुगम होगी। उन्‍होंने कहा कि देश में इस प्रकार का यह पहला कदम होगा जिससे प्रतिभा को समुचित अवसर देकर देश के जनसांख्यिकी आधार का पूरा लाभ लिया जा सकेगा। श्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि ट्यूलिप युवाओं में बौद्धिक कौशल को बढ़ावा देगा। इससे युवाओं की नवाचारी बौद्धिक क्षमता का सदुपयोग हो सकेगा और अगले पांच वर्ष में 50 खरब डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था का लक्ष्‍य हासिल करने में मदद मिलेगी।


वेब आधारित ट्यूलिप प्‍लेटफार्म के इंटर्नशिप कार्यक्रम से विभिन्‍न शहरी स्‍थानीय निकायों में विद्यार्थी स्‍मार्ट सिटी विकसित करने में भी सहयोग दे सकेंगे।

--------------------

कर्नाटक में प्राथमिक और माध्‍यमिक शिक्षा विभाग राज्‍य में स्‍कूलों को फिर से खोलने पर माता पिता और संबंधित लोगों की राय लेगा।

--------------------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 4 (Jul) Midday News 4 (Jul) Evening News 4 (Jul) Hourly 4 (Jul) (1800hrs)
समाचार प्रभात 4 (Jul) दोपहर समाचार 4 (Jul) समाचार संध्या 4 (Jul) प्रति घंटा समाचार 4 (Jul) (2200hrs)
Khabarnama (Mor) 4 (Jul) Khabrein(Day) 4 (Jul) Khabrein(Eve) 4 (Jul)
Aaj Savere 4 (Jul) Parikrama 4 (Jul)

Listen Programs

Market Mantra 4 (Jul) Samayki 4 (Jul) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 4 (Jul) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 4 (Jul) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 4 (Jul)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)