A- A A+
Last Updated : Jun 4 2020 9:23PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi addresses virtual Global Vaccine Summit; pledges USD 15 million to international vaccine alliance, GAVI            India, Australia elevate their partnership to Comprehensive Strategic partnership            India's role in Indo-Pacific region critical in the years ahead says Australian PM            Recovery rate of COVID-19 cases improves to around 48 % in country            Govt bans 960 blacklisted foreign nationals from traveling to India for 10 years           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2000 HRS
22.05.2020
मुख्य समाचार:-

  • प्रधानमंत्री ने चक्रवाती तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल में राहत और पुनर्वास कार्यों के लिए एक हजार करोड रूपये और ओडिसा को पांच सौ करोड रूपये की सहायता राशि की घोषणा की।

  • भारतीय रिजर्व बैंक ने आर्थिक विकास में मदद करने के लिए प्रमुख ऋण दरों में कमी की और ऋणों के भुगतान में तीन और महीनों की रियायत दी।

  • देश में कोरोना वायरस मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की दर बढकर करीब 41 प्रतिशत हुई।

  • सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने फर्जी खबरों के खिलाफ संघर्ष में सामुदायिक रेडियो को शामिल होने को कहा।

  • स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के कार्यकारी बोर्ड के अध्‍यक्ष का पदभार संभाला।

  • कराची में 107 यात्रियों को ले जा रहा पाकिस्‍तानी विमान दुर्घटनाग्रस्‍त। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्‍यक्‍त किया।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ओडि़सा के समुद्री तूफान से तबाह इलाकों के लिए पांच सौ करोड़ रुपये की अग्रिम वित्‍तीय सहायता की घोषणा की है। श्री मोदी ने आज ऑमपुन तूफान से क्षतिग्रस्‍त इलाकों का हवाई दौरा करने के बाद इसकी घोषणा की।


तत्‍काल आवश्‍यक्‍ता को ध्‍यान में रखते हुए भारत सरकार की तरफ से 500 करोड़ रूपया एडवांस व्‍यवस्‍था के रूप में हमने देने का निर्णय लिया है। और बाकी आवश्‍यक्‍ता, एक बार सर्वे होने के बाद, रिएैबिलिटेशन की पूरी योजना बनने के बाद, भारत सरकार भी कंधे से कंधा मिलाकर के ओडि़शा के विकास की यात्रा में और इस संकट की घड़ी से बाहर निकलने के काम में पूरी तरह मदद करेगा।


प्रधानमंत्री ने मृतकों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को पचास-पचास हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की। उन्‍होंने पीडि़तों को तत्‍काल राहत सुनिश्चित करने के साथ-साथ हर संभव सहायता का भी आश्‍वासन दिया। तूफान से हुए विनाश का जायजा लेने के बाद प्रधानमंत्री ने राज्‍यपाल गणेशी लाल और मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक के साथ समीक्षा बैठक भी की।


मैने आज पूरा डिटेल्‍ड रिव्‍यू लिया है। राज्‍य सरकार ने भी विस्‍तार से मेरे सामने सारी बातें रखी हैं। यहां की सरकार की व्‍यवस्‍था की तरफ से बहुत ही जल्‍द उसका आंकलन करके रिपोर्ट भारत सरकार को मिलेगी। भारत सरकार की टीम भी तत्‍काल यहां पहुंचेगी और पूरी परिस्थिति का रिव्‍यू कर-कर के लंबे समय के लिये रिलीफ हो, रिस्‍टोर करने की बात हो, रिएैबिलिटेशन की बात हो, इन सारी चीज़ों को प्राथमिक्‍ता देते हुए काम आगे बढ़ाया जायेगा।


प्रधानमंत्री ने जगतसिंह पुर, केन्‍द्रापड़ा, भद्रक, बालेस्‍वर, जाजपुर और मयूरभंज जिलों का करीब 90 मिनट तक हवाई दौरा किया। जानमाल के नुकसान पर गहरा दु:ख व्‍य‍क्‍त करते हुए श्री मोदी ने कहा कि आज जब देश कोरोना वायरस के रूप मे वैश्‍विक महामारी से निपटने में लगा है, तो देश के कुछ भागों में महाचक्रवात कि विनाशलीला सचमुच चिंताजनक है। उन्‍होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं से निपटने की ओडि़सा की सुस्‍थापित प्रक्रिया ने कई लोगों की जान बचाई है।

-----

इससे पहले, प्रधानमंत्री ने चक्रवात के बाद पुनर्वास कार्यों के लिए पश्चिम बंगाल को एक हजार करोड रूपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री ने भीषण समुद्री तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए आज पश्चिम बंगाल में उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट में हुई प्रशासनिक बैठक के बाद यह घोषणा की।


भारत सरकार के जो भी नीति-नियम हैं उसका पूरी तरह उपयोग करते हुए पश्चिम बंगाल की मदद में हम खड़े रहेंगे। अभी तत्‍काल जो इस संकट की घड़ी में राज्‍य सरकार को कठिनाई ना हो इसके लिये एक एडवांस एसिस्‍टेंस के रूप में एक हजार करोड़ रूपया भारत सरकार की तरफ से व्‍यवस्‍था की जायेगी। साथ-साथ जिन परिवारों ने अपने सजन खोये हैं उन परिवारों को प्रधानमंत्री राहत कोष से दो लाख रूपया और जिन लोगों को इंजरी हुई है उनको 50 हजार रूपया तक की सहायता देने का भी हम प्रधानमंत्री राहत कोष से करेंगे।


प्रधानमंत्री ने बताया कि एक केन्द्रीय दल जल्द ही नुकसान का जायजा लेने के लिए राज्य में पहुंचेगा।


अब भी राज्‍य सरकार ने और मुख्‍यमंत्री जी ने विस्‍तार से मेरे सामने जो भी प्राथमिक आंकलन है उसका ब्‍यौरा दिया है। हमने तय किया है कि हो सके उतना जल्‍द डिटेल्‍ड में सर्वे हो, केन्‍द्र सरकार की तरफ से भी तत्‍काल एक टीम आयेगी और वो टीम इन सभी क्षेत्रों में सर्वे करेगी। और हम मिल कर के रिएैबिलिटेशन हो, रिस्‍टोरेशन हो, रिकंस्‍ट्रक्‍शन हो उसकी व्‍यापक योजना बना कर के बंगाल के दुख की घड़ी में हम पूरा पूरा साथ देंगे, सहयोग देंगे।


प्रधानमंत्री ने पश्विम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के साथ राज्य के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण भी किया।

-----

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज पश्चिम बंगाल और ओडिसा के राज्यपालों और मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की। उन्होंने अम्फन चक्रवात से इन राज्यों में हुए नुकसान पर चिंता प्रकट की। श्री कोविदं ने कहा कि संकट की इस घडी में प्रभावित लोगों को हरसंभव सहायता पहुंचाने के लिए पूरा राष्ट्र एकजुट है और सरकारी तंत्र राहत और बचाव अभियान कारगर ढंग से चला रहे हैं। उन्होंने आशा प्रकट की तूफान प्रभावित इलाकों में सामान्य स्थिति शीघ्र बहाल हो जायेगी।

-----

देश की 22 विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक में पश्चिम बंगाल तथा ओडि़सा के लोगों और सरकार के साथ एकजुटता व्‍यक्‍त की। बैठक में पारित प्रस्‍ताव में मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की गई। विपक्षी पाटियों ने यह भी मांग की कि इस प्राकृतिक प्रकोप को राष्‍ट्रीय आपदा घोषित किया जाना चाहिए और इससे हुई तबाही से निपटने के लिए राज्‍यों को पूरा सहयोग दिया जाना चाहिए।


विपक्षी पार्टियों की इस बैठक की अध्‍यक्षता कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने की। पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी.देवेगौड़ा, कांग्रेस के नेता राहुल गांधी, राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार, पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बैनर्जी और मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी नेता सीताराम येचुरी समेत कई विपक्षी नेताओं ने हिस्‍सा लिया।

-----

रिजर्व बैंक ने रेपो दर चार दशमलव चार प्रतिशत से घटाकर चार प्रतिशत कर दी है। रिवर्स रेपो दर में भी कमी की गई है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज मुंबई में मीडिया को इसकी जानकारी दी।


श्री दास ने कहा कि आज घोषित उपायों को मुख्‍य रूप से चार वर्गों में बांटा गया है। ये हैं - बाजार के कामकाज में सुधार लाना, आयात और निर्यात को बढ़ावा देना, ऋण सेवाओं और कार्यशील पूंजी के मामले में राहत देकर आर्थिक दबाव को कम करना और राज्‍य सरकारों के वित्‍तीय संकट को कम करना। उन्‍होंने बताया कि ऋणों के भुगतान में और तीन महीनों की रियायत देने की घोषणा की गई है जो 31 अगस्‍त तक प्रभावी रहेगी।


रिजर्व बैंक ने आयात-निर्यात बैंक के लिए 15 हजार करोड रूपये की ऋण व्यवस्था की भी घोषणा की।

-----

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने रेपो दर और रिवर्स रेपो दर में कमी का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने कहा कि इससे मांग में बढ़ोत्तरी होगी और सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यमों को समुचित दरों पर ऋण मिल सकेगा। इन उपायों से आर्थिक दबाव कम होगा और वित्‍तीय उपलब्‍धता बढ़ेगी।

-----


नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष राजीव कुमार ने रेपो दर में कमी का स्‍वागत किया। आकाशवाणी से विशेष बातचीत में श्री कुमार ने कहा कि पूर्णबंदी के बाद से रिजर्व बैंक ने उधार की दरों में जो कमी की है, उससे बाजार में मुद्रा का प्रवाह बढ़ेगा।


श्री कुमार ने यह भी कहा कि ऋणों के भुगतान के लिए तीन महीनों की जो मोहलत दी गई है उससे उधार लेने वालों को आर्थिक गतिविधियां फिर से तेज करने में मदद मिलेगी।

-----

कई वाणिज्यिक और औद्योगिक संगठनों ने भी दरों में की गई कटौती का स्‍वागत किया है।


फिक्‍की के महासचिव दिलिप चिनॉय ने कहा कि इससे उद्योग जगत और समूची अर्थव्‍यवस्‍था को बहुत बल मिलेगा।

-----

देश में कोरोना वायरस से संक्रमित 48 हजार पांच सौ 34 लोग उपचार के बाद ठीक हो चुके हैं। देश में कोविड-19 से ठीक होने की दर करीब 41 प्रतिशत हो चुकी है।


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान तीन हजार दो सौ 34 लोग कोविड संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। कोरोना से होने वाली मृत्‍यु दर घटकर तीन दशमलव शून्‍य दो प्रतिशत रह गई है।


वह अब घटकर 3.02 पर्सेन्‍ट हो चुका है। हमारा फोकस उन स्‍टेट्स और डिस्ट्रिक्‍ट्स पर है जहां पर कि ज्‍यादा केसेज़ रिकॉर्ड हुए हैं। हम चेज़ के साथ मिलकर वहां पर कंटेन्‍मेंट और क्‍लीनिकल मैनेजमैन्‍ट ऑफ केसेज़ पर फोकस कर रहे हैं। आज जरूरत है कि हम सब मिलकर रिक्‍वायर्ड प्रीकॉशन्‍स लेते हुए इस इन्‍फैक्‍श्‍रल डिज़ीज़ से अपने आप को और अपने परिवार को बचायें।


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के अधिकारी ने बताया कि देश के विभिन्‍न सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं में आज एक बजे तक कुल 27 लाख 55 हजार सात सौ 14 नमूनों की जांच की गई।


आज दोपहर को एक बजे तक 23,55,714 टेस्‍ट हुए हैं। आज चौथा दिन था जब एक लाख के उपर फिर टेस्‍ट हुए हैं, एक दिन में 1,3,829 टेस्‍ट टोटल हुए। उसमें 85,542 यह जो चार सौ में वो नेटवर्क में के सरकारी लैब्‍स हैं उनमें हुए। 18,287 ये प्राइवेट लैब्‍स जो 178 हैं उनमें हो गये।


नीति आयोग के सदस्‍य डॉक्‍टर वी के पॉल ने बताया कि आयुष्‍मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना के तहत अब तक एक करोड़ लोगों का इलाज किया जा चुका है जो एक बड़ी उपलब्‍धि‍ है। उन्‍होंने कहा कि अभी तक 14 हजार स्‍वास्‍थ्‍य और आरोग्‍य केन्‍द्र बनाए जा चुके हैं। डॉक्‍टर पॉल ने कहा कि कोविड संक्रमण के दोगुना होने की दर पहले जहां तीन दशमलव चार दिन थी वहीं अब यह 13 दशमलव तीन दिन हो गई है। श्री पॉल ने कहा कि कोरोना के सक्रिय मामले अब कुछ राज्‍यों, शहरों और जिलों तक सीमित रह गए हैं। 80 प्रतिशत ऐसे मामले महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्‍ली और मध्‍य प्रदेश में हैं। श्री पॉल ने कहा कि देश में दस करोड़ लोग आरोग्‍य सेतु ऐप का इस्‍तेमाल कर रहे हैं तथा टेली मेडिसिन सेवा का भी विस्‍तार हो रहा है। उन्‍होंने कहा कि सरकार का मुख्‍य उद्देश्‍य कोरोना से लोगों की जान बचाना है।


एक अध्‍ययन में पता चला है कि लॉकडाउन के कारण देश में जहां बीस लाख लोगों को संक्रमण से बचाया सका और वहीं 54 हजार लोगों की जान बचाई गई।

-----

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने देश में कोविड संक्रमण के दौरान और इसके बाद के समय में टीकाकरण अभियान को लेकर दिशानिर्देश जारी किए हैं।


विभिन्‍न जोनों में टीकाकरण सेवायें प्रदान किये जाने के दौरान कोविड 19 से संबंधित गृह मंत्रालय और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा और राज्‍यों को किसी भी दिशा-निर्देश का उल्‍लंघन करने की अनुमति नहीं होगी। चाहे कोई भी जोन हो सभी टीकाकरण सत्रों में सामाजिक दूरी़, हाथ धोनी और सांस से संबंधित स्‍वच्‍छता को बनाये रखा जायेगा। मंत्रालय ने कहा है कि कंटेन्‍मेंट और बफर जोन में टीकाकरण सेवाओं में स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के लिये कोई सक्रीय गतिशीलता शामिल नहीं होगी। टीकाकरण सत्र के दौरान प्रत्‍येक व्‍यक्ति के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी होनी चाहिये। साथ ही उस स्‍थल पर पांच से अधिक व्‍यक्ति मौजूद नहीं होने चाहिये। भूपेन्‍द्र सिंह / आकाशवाणी समाचार / दिल्‍ली।

-----

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन 2020-21 के लिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के कार्यकारी बोर्ड के अध्‍यक्ष चुने गए हैं। उन्‍होंने बोर्ड के पूर्व अध्‍यक्ष जापान के डॉक्‍टर हिरोकी नाकातानी का स्‍थान लिया है।


अध्‍यक्ष के रूप में कार्यकारी बोर्ड के सत्र को सम्‍बोधित करते हुए डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य आर्थिक प्रदर्शन और मानव क्षमताओं में वृद्धि का आधार है। उन्‍होंने कोविड महामारी के कारण अपनी जान गंवाने वाले लाखों लोगों को श्रृद्धांजलि दी। उन्‍होंने कोविड 19 से निपटने के भारत सरकार के प्रयास भी बैठक में उपस्थित लोगों के साथ साझा किए।


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि भारत ने कोविड-19 से निपटने के लिए पूरी दृढ़ता के साथ समय रहते सक्रिय प्रयास किए। उन्‍होंने कहा कि भारत में कोविड संक्रमण से मरने वालों की दर महज तीन प्रतिशत है।


विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र की निदेशक डॉक्‍टर पूनम खेत्रपाल सिंह ने डॉक्‍टर हर्षवर्धन को कार्यकारी बोर्ड का अध्‍यक्ष चुने जाने पर बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि डॉक्‍टर हर्षवर्धन को जनस्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र का खासा अनुभव है। सुश्री खेत्रपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में डॉक्‍टर हर्षवर्धन देश में कोविड संक्रमण के खिलाफ अभियान को बड़ी कुश्‍लता के साथ चला रहे है।

-----

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भारत ने विश्व की जैव विविधता में करीब आठ प्रतिशत योगदान दिया है। नई दिल्ली में आज अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस पर एक डिजिटल कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि विश्व के भूमि संसाधनों में भारत की हिस्सेदारी दो दशमलव पांच प्रतिशत है। मानव और मवेशी आबादी में यह हिस्सेदारी 16-16 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि भारतीय दर्शन में विश्व को परिवार समझने और प्रकृति के साथ सामंजस्य बनाए रखने का संदेश दिया गया है।


श्री जावडेकर ने कहा कि भारत में अनेक विश्वविद्यालय जैव विविधता में प्रमाणपत्र और डिग्री पाठ्यक्रमों का संचालन करते हैं। उन्होंने कहा कि जैव विविधता के संरक्षण के लिए अनेक कदम उठाये जा रहे हैं। इस अवसर पर श्री जावडेकर ने जैव विविधता संरक्षण इंटर्नशिप पाठ्यक्रम का भी शुभारंभ किया।

-----


सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सरकार सामुदायिक रेडियो स्‍टेशनों पर विज्ञापनों के समय में बढ़ोतरी करके इसे सात मिनट प्रति घंटे से बढ़ाकर 12 मिनट प्रतिघंटे करना चाहती है, ताकि उन्‍हें टेलीविजन चैनलों के समकक्ष लाया जा सके।


आपको एक घंटे में सात मिनट ही एडवर्टाइज़मेंट का समय मिलता है़, टी वी पर तो 12 मिनट है। और अभी तो कुछ जगह सारे बंधन ही खत्‍म हुए हैं। तो आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिये आकाशवाणी समेत इन्‍हें 12 मिनट का करने पर हम जरूर सोचेंगे। और निश्चित ही इसके बारे में निर्णय लेंगे, जिससे आपको पैसे मिलेंगे क्‍योंकि लोकल एडवर्टाइज़मेंट बहुत होते हैं। लोग आयेंगे, देंगे आपके यहां क्‍योंकि उनको रेस्‍पांस मिलेगा तब उनको समझ में आयेगा कि कम्‍यूनिटी रेडियो का महत्‍व क्‍या है।


आकाशवाणी समाचार के जरिये सामुदायिक रेडियो स्‍टेशनों के श्रोताओं को संबोधित करते हुए श्री जावड़ेकर ने कहा कि सामुदायिक रेडियो अपने आप में एक समुदाय है और ये परिवर्तन के संवाहक हैं।


मैं निश्चित रूप से कम्‍यूनिटी रेडियो के आंदोलन का विस्‍तार हो और ज्‍यादा से ज्‍यादा जगह अच्‍छे कम्‍यूनिटी रेडियो बनें और वो लोक जागृति का, लोक जागरण का और जनता के परिवर्तन के देश के परिवर्तन के सहभागिता का ज्‍यादा प्रभाग देने का काम करते जायेंगे, यह मुझे विश्‍वास है। हम निश्चित विचार करेंगे कि इसका विस्‍तार करने के लिये क्‍या किया जाये।


श्री जावडेकर ने कहा कि मंत्रालय सामुदायिक रेडियो स्‍टेशनों की संख्‍या बढ़ाने की योजना बनायेगा। श्री जावडे़कर ने कहा कि इस तरह के रेडियो स्‍टेशन स्‍थापित करने में आने वाले खर्च का 75 प्रतिशत मंत्रालय द्वारा वहन किया जाता है।


श्री जावडेकर ने कहा इन रेडियो स्‍टेशनों से आग्रह किया कि वे स्‍थानीय स्रोतों से सूचनाओं का सत्‍यापन कर फेक न्‍यूज के खतरे से निपटने में मदद करें। उन्‍होंने बताया कि मंत्रालय ने पत्र सूचना कार्यालय के अंतर्गत तथ्‍यों की जांच के लिए फैक्‍ट चैक सेल बनाया है और सामुदायिक रेडियो इसकी मदद कर सकते हैं। श्री जावड़ेकर ने कहा कि फेक यूज बड़ी खतरनाक होती है और इस पर प्रतिबंध को प्रेस की आजादी का हनन नहीं माना जाना चाहिए। उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि सामुदायिक रेडियो स्‍टेशन स्‍थानीय स्‍तर पर सूचनाओं का सत्‍यापन कर सही समाचार देने में मदद कर सकते हैं।


श्री जावडेकर ने कहा कि फेक न्‍यूज बडी खतरनाक होती है और इस पर प्रतिबंध को प्रसे की आजादी का हनन नहीं माना जाना चाहिए। उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि सामुदायिक रेडियो स्‍टेशन स्‍थानीय स्‍तर पर सूचनाओं का सत्‍यापन कर सही समाचार देने में मदद कर सकते हैं।

-----

सरकार ने गुजरात समाचार के उस दावे को खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया है कि भारत में प्रति एक लाख जनसंख्‍या पर आठ हजार लोग कोरोना से प्रभावित हैं। पत्र सूचना कार्यालय-पी आई बी ने इस आकलन को पूरी तरह गलत बताया है। पी आई बी ने स्‍पष्‍ट किया है कि देश में कल शाम तक प्रति एक लाख की आबादी पर लगभग आठ दशमलव तीन लोग प्रभावित थे।

-----

वंदे भारत मिशन के तहत मालदीव की राजधानी माले से 152 भारतीय नागरिकों को लेकर एयर इंडिया की पहली उड़ान आज दोपहर बाद बेंगलुरू रवाना हुई। एयर इंडिया की एक और उड़ान कल माले से दिल्‍ली रवाना होगी। आज की उड़ान से कर्नाटक, तमिलनाडु तथा आंध्र प्रदेश के निवासियों को स्‍वदेश वापस लाया जायेगा, जबकि दिल्‍ली आने वाली कल की उड़ान चड़ीगढ़, हरियाणा और दिल्‍ली के लोगों को वापस लाएगी।


आकाशवाणी समाचार से विशेष भेंट में मालदीव में भारत के उच्‍चायुक्‍त संजय सुधीर ने यात्रियों के लिए किये जा रहे इंतजाम के बारे में जानकारी दी। श्री संजय सुधीर ने बताया कि मालदीव में फंसे हुए भारतीय नागरिकों के लिए एयर इंडिया ने सारे इंतजाम किये हैं।


मालदीव में भारतीय मूल के लोगों के लिये हमने व्‍यवस्‍था की है वापस जाने की, पहले राउंड में नेवी के शिप के द्वारा ये लोग वापस गये थे करीब 1500 लोग। आज से फ्लाइट्स शुरू कर रहे हैं। यहां हमने इनके लिये रैपर्स प्रावधान किया है इनके आने-जाने का, बोट्स का ताकि दूसरे आईलैंड से माले तक आ सकें, माले आने के बाद इनके लिये हमने बसेज़ ऑर्गेनाइज़ करी हैं ताकि एयरपोर्ट पर आ पायें और एयरपोर्ट से जो भी इनके स्‍वास्‍थ्‍य की व्‍यवस्‍था के लिये जो भी अरेन्‍जमेन्‍ट्स करने थे वो हमने करे हैं। एयर इंडिया ने भी अरेन्‍जमेन्‍ट्स करे हैं, इनके फूड पैकेट्स डिस्ट्रिब्‍यूट्स करने के और सारे पैसेन्‍जर्स को एक-एक सेफ्टी किट्स दी जा रही है। इसमें उनके लिये मास्‍क है, ग्‍वल्‍स हैं और हैंड सेनेटाइज़र्स हैं।


इससे पहले, समुद्र सेतु मिशन के तहत मालदीव से करीब डेढ़ हजार भारतीय नागरिकों को नौसेना के तीन जहाजों से भारत लाया गया था।

-----

गृह मंत्रालय ने एक बड़ी रियायत देते हुए प्रवासी भारतीय नागरिक--(ओसीआई कार्ड) धारकों की श्रेणी में आने वालों को विदेश से भारत वापस लाने की इजाजत दे दी है। नये नियमों के अनुसार विदेशों में रहने वाले ऐसे भारतीय नागरिकों के बच्‍चों को जिन के पास ओ.सी.आई. कार्ड हैं और जो पारिवारिक आपात कारणों से भारत लौटना चाहते हैं, उन्‍हें वापस आने की अनुमति दे दी गई है। ये सभी फंसे हुए लोगों को वापस लाने के लिए तैनात किये गये विमानों, समुद्री जहाजों, रेलगाडि़यों या परिवहन के किसी भी अन्‍य साधन से यात्रा कर सकते हैं।


वापसी की यह अनुमति ऐसे दम्‍पतियों को भी दी गयी है, जिनमें से किसी एक के पास ओ.सी.आई. कार्ड है और दूसरा भारतीय नागरिक है और यहां उनका स्‍थायी आवास है। इसके अलावा विश्‍वविद्यालयों के विद्यार्थी जिनके पास ओ.सी.आई. कार्ड है और जिनके माता-पिता भारत में रहने वाले भारतीय नागरिक हैं, उन्‍हें भी वापसी की इजाजत होगी।

-----

भारतीय रेलवे ने श्रमिक स्‍पेशल रेलगाडि़यों के जरिये 31 लाख से अधिक लोगों को अपने-अपने गृह राज्‍यों में पहुंचाकर यात्री परिवहन का नया मानदंड स्‍थापित किया है। पहली मई से देश के विभिन्‍न राज्‍यों से दो हजार 317 श्रमिक स्‍पेशल रेलगाडि़यां चलाई गई हैं ताकि लॉकडाउन में फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों, विद्यार्थियों और अन्‍य लोगों को उनके गन्‍त‍व्‍यों तक पहुंचाया जा सके।


इस बीच, रेलवे ने देशभर में विभिन्‍न स्‍टेशनों तक जाने वाली 230 रेलगाडि़यों की सभी श्रेणियों के लिए आरक्षित टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी है। टिकट ऑनलाइन या रेलवे के आरक्षण काउंटर से खरीदे जा सकते हैं। भारतीय रेलवे ने कहा है कि कल से अब तक 13 लाख यात्री टिकट खरीद चुके हैं। आरक्षित टिकट सामान्‍य सेवा केन्‍द्रों, डाकघर के रिजर्वेशन काउंटर, यात्री सुविधा केन्‍द्र और आई आर सी टी सी के अधिकृत एजेंट से भी खरीदे जा सकते हैं।

-----

लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना के तहत कुल नौ करोड़ 55 लाख किसान परिवार लाभाविंत हुए हैं और 19 हजार करोड़ रुपए लाभार्थियों को जारी किए जा चुके हैं। सरकार कोविड 19 महामारी के बीच किसानों तथा कृषि गति‍विधियों को मदद पहुंचाने के लिए कई उपाय कर रही है।

-----

उपभोक्‍ता मामले एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने राज्‍यों से कहा है कि वे यह सुनिश्‍चति करने की सभी लाभार्थियों तक अनाज का वितरण सही तरीके से हो सके ताकि कोई भूखा न रहे। श्री पासवान ने आज राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रियों और सचिवों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्‍होंने एक राष्‍ट्र एक राशन कार्ड योजना को लागू करने तथा गरीबों और प्रवासी श्रमिकों के बीच दालों और अनाजों के वितरण के लिए बढ़-चढ़कर कर काम करने के लिए राज्‍यों की सराहना की। उन्‍होंने खाद्यानों की खरीद प्रक्रिया सही तरीके से जारी रहने पर संतोष जताया। श्री पासवान ने कहा कि ऑमपुन चक्रवात से प्रभातिव पश्‍चिम बंगाल जैसे राज्‍यों को भी अपने यहां प्रभावित लोगों का ख्‍याल रखना चाहिए।


भारत पैकेज के तहत अब तक आठ लाख टन गेहूं और चावल तथा 39 हजार टन दालें प्रवासी श्रमिकों के बीच मुफ्त बांटे जा चुके हैं। केन्‍द्र सरकार फंसे हुए आठ करोड़ प्रवासी श्रमिकों को प्रतिमाह प्रतिव्‍यक्ति पांच किलो आटा या चावल मुफ्त दे रही है। सरकार द्वारा हर परिवार को एक महीने में एक किलो दाल भी मुफ्त दी जा रही हैं।

-----

मध्य प्रदेश में, रबी सीजन 2020-21 में, समर्थन मूल्य पर किसानों से 100 लाख मीट्रिक टन के लक्ष्य के मुकाबले 28 दिनों में रिकॉर्ड 105 लाख 32 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया है। मध्य प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि रिकॉर्ड मात्रा में गेहूं खरीदा गया है। एक रिपोर्ट:-


मध्‍यप्रदेश में गेहूं खरीदी का वक्‍त पूरा होने के बाद भी गेहूं खरीदने का काम जारी है। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसानों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है। सभी पंजीकृत किसानों का गेहूं समर्थन मूल्‍य पर खरीदा जायेगा और इसके लिये व्‍यवस्‍था की जा रही है। वर्ष 2012-13 में मध्‍यप्रदेश में 10 लाख 27 हजार किसानों से 84 लाख 90 हज़ार मैट्रिक टन गेहूं खरीदने का रेकॉर्ड बनाया गया था, जो इस साल टूट गया है। अब तक 14 लाख 16 हजार किसानों से 105 लाख 32 हजार मैट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है। एक दिन में लगभग पांच हजार मैट्रिक टन गेहूं खरीदने का रेकॉर्ड भी इस बार बना है। संजीव शर्मा / आकाशवाणी समाचार / भोपाल।

-----

हिमाचल प्रदेश में उपायुक्‍तों से आगामी दिनों में राज्‍य में भारी संख्‍या में लोगों के पहुंचने की संभावना के मद्देनजर उनके संबंधित जिलों में संस्‍थागत क्‍वारंटीन के लिए अतिरिक्‍त सुविधाओं की व्‍यवस्‍था करने को कहा गया है।


मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने विडियो कांफ्रैन्सिंग के माध्‍यम से अधिकारियों को देश के विभिन्‍न भागों और राज्‍यों में पहुंचने वाले लोगों की जांच करने वाले डॉक्‍टरों, पैरा-मैडिकल स्‍टाफ, पुलिसकर्मियों और अन्‍य कर्मचारियों को सभी सुरक्षात्‍मक उपकरण देने के निर्देश दिये हैं। उन्‍होंने कहा कि क्‍वैरंटीन सेंटर में बेहतर सुविधायें प्रदान की जानी चाहिये। ताकि वहां रहने वाले लोगों को असुविधा का सामना ना करना पड़े। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि लोगों की सुरक्षा उनकी सरकार की सर्वोच्‍च प्राथमिक्‍ता है। गौरतलब है कि देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में फंसे 1 लाख 30 हजार लोग राज्‍य में पहुंच चुके हैं। इस बीच राज्‍य में संक्रमित मरीजों की संख्‍या में लगातार बढोतरी हो रही है। सक्रीय संक्रमित मरीजों का आंकडा 102 पहुंच गया है। हमीरपुर जिले में आज 12 नये मामले सामने आये जिसके चलते अब जिले में सक्रीय मामलों की संख्‍या 53 हो गई है। सबसे ज्‍यादा ताजा मामले संस्‍थागत क्‍वारेंटाइन में रखे गये लोगों के आ रहे हैं। राज्‍य में 6500 से अधिक लोगों को संस्‍थागत क्‍वारेंटाइन के तहत रखा गया है। संजीव सुन्‍द्रीयाल / आकाशवाणी समाचार / शिमला।

-----

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज फोन इन कार्यक्रम में कोरोना संक्रमण पर एक विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा। भारतीय जन स्वास्थ्य संस्थान के अध्यक्ष डॉक्टर के. श्रीनाथ रेड्डी परिचर्चा में भाग लेंगे। कार्यक्रम आज रात नौ बजकर 25 मिनट से एफएम गोल्‍ड और अतिरिक्‍त चैनलों पर सुना जा सकता है।


श्रोता स्‍टूडियो में सीधे फोन कर विशेषज्ञ से सवाल पूछ सकते हैं। नम्‍बर है- 0 1 1 2 3 3 1 4 4. हमारा टोल‍-फ्री नम्‍बर है- 1 8 0 0 1 1 5 7 6 7.

-----

107 यात्रियों को ले जा रहा पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का एक यात्री विमान आज कराची के जिन्‍ना अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे के पास घनी आबादी वाले रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। अधिकारियों ने बताया है कि 99 यात्रियों और चालक दल के आठ सदस्‍यों के साथ यह विमान लाहौर से रवाना हुआ था। हताहतों की संख्‍या की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है मगर अनेक लोगों के मरने की आशंका है।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने दुर्घटना में मारे गये लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्‍यक्‍त की है। उन्‍होंने घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की भी कामना है।

-----


एक नज़र कल के मौसम पर:-

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। इसके साथ ही भीषण गर्मी का प्रकोप भी जारी रहेगा। मुंबई में कल आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। कोलकाता में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और कुछ स्‍थानों पर हल्‍की बारिश हो सकती है। जम्‍मू-कश्‍मीर के जम्‍मू शहर में न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 38 डिग्री रहने की संभावना है। शहर में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। श्रीनगर में आंशिक रूप से बादल भी छाये रहेंगे। कहीं-कहीं आंधी और गरज के साथ बारिश होने का अनुमान है। गिलगित में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। न्‍यूनतम और अधिकतम तापमान 14 से 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। मुज्‍जफराबाद में मुख्‍य रूप से आसमान में आमतौर पर बादल छाये रहेंगे। समाचार कक्ष से मैं चारू सक्‍सेना।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 4 (Jun) Midday News 4 (Jun) Evening News 4 (Jun) Hourly 4 (Jun) (1800hrs)
समाचार प्रभात 4 (Jun) दोपहर समाचार 4 (Jun) समाचार संध्या 4 (Jun) प्रति घंटा समाचार 4 (Jun) (1900hrs)
Khabarnama (Mor) 3 (Jun) Khabrein(Day) 4 (Jun) Khabrein(Eve) 4 (Jun)
Aaj Savere 4 (Jun) Parikrama 4 (Jun)

Listen Programs

Market Mantra 4 (Jun) Samayki 4 (Jun) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 4 (Jun) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 4 (Jun) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)