A- A A+
Last Updated : Nov 15 2019 6:14AM     Screen Reader Access
News Highlights
Supreme Court refers review petitions on Sabarimala to 7-Judge Bench            PM Modi stresses need to focus on trade and investment among BRICS nations            Apex court dismisses all review petitions on Rafale fighter jets issue            Home Minister Amit Shah says SC’s Rafale decision befitting reply to malicious campaigns            Delhi NCR air quality continues to remain severe           

Text Bulletins Details


समाचार प्रभात

0800 HRS
09.11.2019

मुख्य समाचार

  • उच्चतम न्यायालय अयोध्या मामले में आज सवेरे साढ़े दस बजे फैसला सुनाएगा। समूचे उत्तर प्रदेश, विशेष रूप से अयोध्या में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शांति बनाए रखने की अपील की।

  • प्रधानमंत्री आज पंजाब में डेरा बाबा नानक में करतारपुर गलियारा एकीकृत चौकी का उद्घाटन करेंगे। वे सुल्तानपुर लोधी जाएंगे और गुरुद्वारा बेर साहिब में मत्था टेकेंगे।

  • चक्रवात बुलबुल सघन होकर गंभीर चक्रवाती तूफान में बदला। ओडिसा और पश्चिम बंगाल के कई भागों में भारी वर्षा।

  • अमरीका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा-उन्होंने चीन से आयात शुल्क वापस लेने की सहमति नहीं दी।

  • चाइना ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरुष डबल्स में आज सात्विकसाईराज रेनकी रे़ड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी सेमीफाइनल मुकाबला खेलेगी।

-----

उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ आज अयोध्या मामले में सुबह साढ़े दस बजे फैसला सुनाएगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में संविधान पीठ के अन्य सदस्य न्यायमूर्ति एस.ए. बोब्डे, डी.वाई. चन्द्रचूड़, अशोक भूषण और एस. अब्दुल नजीर हैं। एक रिपोर्ट-

अयोध्या भूमि विवाद में मध्‍यथता का प्रयास विफल हो जाने के बाद प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने इस मामले में छह अगस्त से रोजाना सुनवाई शुरू की थी। पीठ ने लगातार चालीस दिन इस मामले की सुनवाई की। 16 अक्तूबर को न्यायालय ने अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया। 2010 में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के निर्णय के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में 14 याचिकाएं दाखिल की गई थीं। उच्‍च न्‍यायालय के निर्णय में कहा गया था कि विवादित 22 दशमलव सात एकड़ भूमि को दावेदारों में बराबर बांट दिया जाना चाहिेए। इस विवाद में तीन प्रमुख पक्ष हिन्दू महासभा, निर्मोही अखाडा़ और मुस्लिम वक्फ बोर्ड हैं। सुपर्णा सेकिया की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से मैं भवतारिणी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या मामले में फैसले के मद्देनज़र लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने कहा है 9कि न्यायालय का फैसला कुछ भी हो, यह किसी की जीत या हार नहीं होगी। प्रधानमंत्री ने इस तथ्य को प्राथमिकता देने की अपील की कि यह निर्णय भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और मजबूती देगा। आकाशवाणी से प्रसारित होने वाले कार्यक्रम मन की बात के पिछले संस्करण में भी प्रधानमंत्री ने फैसले का स्वागत करने की बात कही थी। 

जैसा ही फैसला आया एक आनंददायक, आश्चर्यजनक बदलाव देश ने महसूस किया। एक तरफ दो हफ्ते तक गर्माहट के लिए सबकुछ हुआ था, लेकिन जब रामजन्म भूमि पर फैसला आया, तब सरकार ने, राजनीतिक दलों ने, सामाजिक संगठनों ने सिविल सोसायटी ने, सभी संप्रदायों के प्रतिनिधियों ने, साधू संतों ने, बहुत ही संतुलित और संयमित बयान दिए हैं। माहौल से तनाव कम करने का प्रयास। जब भी उस दिन को याद करता हूँ मन को खुशी होती है। न्यायपालिका की गरिमा को बहुत ही गौरवपूर्ण रूप से सम्मान दिय और कहीं पर भी गर्माहट का तनाव का माहौल नहीं बनने दिया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कहा है कि अयोध्या फैसला किसी भी समुदाय की जीत या हार के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।

इससे पहले, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और अयोध्या तथा राज्य के अन्य भागों की स्थिति की समीक्षा की।

आइये अब हम चलते हैं लखनऊ अपने संवाददाता सुशील चंद्र तिवारी के पास-

1. सुशील, लोग बड़ी बेसब्री से अयोध्या मामला फैसले का इंतजार कर रहे हैं। राज्य में सुरक्षा के क्या इंतजाम किए गए हैं?

चंद्रिका हर जिले में पुलिस अधिकारियों ने देर रात तक बैठक करके सुरक्षा से जुड़ी रणनीति को अंतिम रूप दिया। संवेदनशील जगहों पर फ्लैगमार्च करके पुलिस ने जनता को आश्वस्त भी किया। कानून व्यवस्था के हालात पर नजर बनाए रखने के लिए हर जिले में और केन्द्रीय स्तर पर भी कंट्रोल रूम बनाया गया है। प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है। खास नजर संवेदनशील माने जाने वाले 31 जिलों पर है और उसके साथ नेपाल की सीमा से सटे जिलों में भी एहतियात बरता जा रहा है।

2. सुशील, जैसा कि आपने बताया, संवेदनशील जगहों पर विशेष उपाय किए गये हैं, विशेष रूप से अयोध्‍या की अगर हम बात करें तो वहां क्‍या स्थिति है ?

देखिए चंद्रिका खराब से खराब दौर में भी अयोध्या हमेशा से शांति रहती आई है। हालांकि शहर और आस-पास के इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। केन्द्रीय बलों की कंपनियों के साथ ही पीएसी कई और आरएएफ की तैनाती की गई है। अभी चूंकि कार्तिक मेले का समय चल रहा है, लिहाजा लाखों श्रद्धालु अयोध्या में मौजूद हैं और इसीलिए सुरक्षा के कई स्तर बनाए गए हैं, ताकि हर आने-जाने वालों की तलाशी ली जा रही है।

3.सोशल मीडिया, सुशील, इन दिनों बहुत संवेदनशील प्लेटफॉर्म है और लोगों की भावनाओं को भड़काने में इसका दुरुपयोग किया जा सकता है तो सरकार ने इससे निपटने के क्या उपाय किए हैं?

जी चंद्रिका बिल्कुल सोशल मीडिया एक बड़ा मुद्दा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अधिकारियों से ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है, जो आपत्ति जनक पोस्ट डालकर भावनाएं भड़काने की कोशिश करते हैं। राज्य के पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने भी पुलिस को निर्देश दिए हैं कि जो भी आपत्तिजनक पोस्ट डालकर भावनाएं भड़काए उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के साथ ही कानूनी कार्रवाई की जाए।

इस बीच, राज्य में सभी स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे।

उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक और अयोध्या सुरक्षा के विशेष प्रभारी आशुतोष पांडे ने हमारे संवाददाता को बताया कि अयोध्या में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

करीब साठ कंपनियां हमारी बीएसईएफ, पारा मिलिट्री फोर्स और रेपिड एक्‍शन फोर्स आ चुकी है तैनात की जा चुकी है और पहले से भी करीब 25 कंपनी ऑलरेडी यहां पर तैनात हैं। करीब 1200 कॉस्‍टेबल और इसी तरह से ढाई सौ सब-इस्‍पेक्‍टर्स और 11 एसपी और री डिप्‍टी एसपी दो एस पी  इसी तरह से डिप्‍लॉयड हैं यहां पर। स्‍ट्रॉग बैरिकेटिंग्‍स लग रहे हैं जो भीड़ आएगी, जो दशर्नार्थी रहते हैं उनके लिए होल्डिंग एरियाज भी हैं हम लोगों ने बनाया है ताकि इनको परेशानी नहीं हो और जो हमारा पब्लिक सिस्‍टम है इसको भी हमने मजबूत किया है ताकि हम जो पब्लिक है उससे हम कम्‍युनिकेट कर सकें। मंदिर का कपाट बंद हो रहा है। 

इस बीच, मुस्लिम धर्म गुरूओं ने अयोध्या फैसले को घ्यान में रखते हुए राज्य की सभी मस्जिदों से शांति बनाये रखने में सहयोग की अपील की है।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा है कि अयोध्‍या फैसला किसी भी जीत या हार के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।

-----

अमरीका के राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रम्‍प ने कहा है कि उन्‍होंने चीन से आयात पर शुल्‍क वापस लेने की सहमति नहीं दी है। कल रात व्‍हाईट हाउस में मीडिया के समक्ष इस घोषणा से दोनों देशों के बीच व्‍यापार युद्ध में तनाव में राहत की उम्‍मीद को धक्‍का लगा है।

-----

चक्रवाती तूफान बुलबुल सघन होकर गंभीर चक्रवात में बदल गया है। इसके असर से ओडिसा और पश्चिम बंगाल के कई भागों में भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने कहा है कि बुलबुल चक्रवात के पश्चिम बंगाल और बंगलादेश के बीच कल सुबह तट से टकराने की आशंका है।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जुगनॉथ को चुनाव में जीत पर बधाई दी है। श्री मोदी ने कहा है कि भारत और मॉरिशस के बीच संबंध और भागीदारी सशक्‍त बनाने के लिए वे दोनों मिलकर काम करते रहेगे।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज सुबह पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक में एकीकृत चौकी का उद्घाटन करेंगे। वे डेरा बाबा नानक में जनसभा को संबोधित करेंगे। आइए इस बारे में जानकारी लेते हैं सीधे चलते हैं अपने संवाददाता दीपेन्द्र के पास -

1. दीपेंद्र, सुल्तानपुर लोधी में प्रधानमंत्री का क्या कार्यक्रम है?

जी चंद्रिका, प्रधानमंत्री अबसे कुछ देर बाद सुलतान पुर लोधी पहुंचेंगे और गुरुद्वार बेर साहिब में मत्‍था टेकेंगे। वो कुछ देर गुरूद्वारे में बैठेंगे और इसके बाद डेरा बाबा नानक के लिए निकल जाएंगे। पंजाब पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं।

2. दीपेंद्र, सुल्तानपुर लोधी का ऐतिहासिक क्या महत्व है और गुरुनानक देवजी से इसका क्या संबंध है? ये हमारे श्रोताओं को बताइए।

जी चंद्रिका, आपको बता दूं कि सुल्तानपुर लोधी एक पवित्र तीर्थ स्थल है, जो गुरुनानक देव जी से जुड़़ा हुआ है। उन्होंने अपने जीवन के लगभग 14 साल यहीं बिताए थे और आत्म ज्ञान की प्राप्ति की थी। गुरुद्वारा बेर साहिब काली बेर नदी के तट पर स्थित है और यहां गुरुनानक देव जी ने बेरी का पेड़ लगाया था, जिसके कारण यह गुरुद्वारा बेर साहिब के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

डेरा बाबा नानक में एकीकृत चौकी से पाकिस्‍तान में गुरूद्वारा करतारपुर साहिब जाने वाले भारतीय श्रद्धालुओं को सुविधा होगी। भारत ने पिछले महीने की 24 तारीख को डेरा बाबा नानक पर अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा के जीरो प्‍वाइंट पर करतारपुर साहिब कॉरिडोर की संचालन व्‍यवस्‍था के बारे में पाकिस्‍तान के  साथ समझौते पर हस्‍ताक्षर किए थे।

और जानकारी लेते हैं अपने संवाददाता अश्विनी शर्मा से-

1- अश्विनी, सुरक्षा व्‍यवस्‍था और बाकी इंतजामों के बारे में बताइए?

चंद्रिका बारिश और खराब मौसम के कारण आई परेशानियों के बावजूद गुरदासपुर प्रशासन ने सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। 

2-अश्‍वनी, डेरा बाबा नानक पहुंचने पर श्रद्धालुओं में कैसा उत्साह देख रहे हैं आप?

चंद्रिका श्रद्धालुओं में भारी उत्साह पाया जा रहा है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु डेरा बाबा नानक में पहुंचे हैं। उनके चेहरों पर खुशी है और सभी नानक नाम लेवा संगत भारी उत्साह के साथ यहां उमड़ी हुई है। 

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने श्रीगुरूनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के ऐतिहासिक अवसर को देशभर में और विदेशों में बड़े पैमाने पर मनाने के बारे में पिछले  नवम्‍बर में प्रस्‍ताव पारित किया था। डेरा बाबा नानक से अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा तक करतारपुर साहिब कॉरिडोर बनाने और विकसित करने की भी मंजूरी दी गई थी, ताकि भारत से गुरूद्वारा दरबार साहिब  जाने वाले श्रद्धालुओं को वर्षभर सुविधाजनक व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराई जा सके।

-----

चीन के फुझोऊ में चाइना ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरुष डबल्‍स सेमीफाइनल में आज सात्विकसाईराज रेनकी रेड्डी और चिराग शेट्टी का मुकाबला इंडोनेशिया के मार्क्स फर्नाल्‍डी गिडियोन और केविन संजाया सुकामुल्‍जो की जोड़ी के साथ होगा। सात्विकसाईराज और चिराग शेट्टी की जोड़ी प्रतियोगिता में एकमात्र भारतीय चुनौती रह गई है। 

-----

समाचार पत्रों की सुर्खियों से

  • अखबारों ने अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के अपना निर्णय सुनाने लिए सुबह साढ़े दस बजे का समय सूचीबद्ध करने की खबर बड़े अक्षरों में दी है। एकता और सद्भावना की महान परंपरा बनाए रखने की प्रधानमंत्री की और संभावित फैसले को हार-जीत से जोड़कर न देखने की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के देशवासियों से अपील पहले पन्ने पर है।

  • प्रधानमंत्री के सुलतानपुर लोधी जाने और बेर साहिब में मत्था टेकने के बाद भारत की तरफ से करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करने के समाचार भी सभी अखबारों में है। महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद और विभिन्न विकल्पों पर राज्य के प्रमुख दलों के विचार मंथन के इर्द-गिर्द के घटनाक्रम को आज लगभग सभी अखबारों ने महत्व दिया है।

  • हिंदुस्तान और राष्ट्रीय सहारा ने अनधिकृत कॉलोनियों के लोगों से प्रधानमंत्री की मुलाकात और उन्हें यह आश्वासन देने की खबर दी है कि सबका साथ, सबका विश्वास और सबका विकास की भावना के साथ केंद्र सरकार हर सहयोग करेगी।

-----

 

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 14 (Nov) Midday News 14 (Nov) News at Nine 14 (Nov) Hourly 15 (Nov) (0605hrs)
समाचार प्रभात 14 (Nov) दोपहर समाचार 14 (Nov) समाचार संध्या 14 (Nov) प्रति घंटा समाचार 15 (Nov) (0600hrs)
Khabarnama (Mor) 14 (Nov) Khabrein(Day) 14 (Nov) Khabrein(Eve) 14 (Nov)
Aaj Savere 14 (Nov) Parikrama 14 (Nov)

Listen Programs

Market Mantra 14 (Nov) Samayki 14 (Nov) Sports Scan 14 (Nov) Spotlight/News Analysis 14 (Nov) Samachar Darshan 13 (Nov) Radio Newsreel 14 (Nov)
    Public Speak

    Country wide 7 (Nov) Surkhiyon Mein 7 (Nov) Charcha Ka Vishai Ha 13 (Nov) Vaad-Samvaad 29 (Oct) Money Talk 29 (Oct) Current Affairs 8 (Nov)