News Highlights
PM Modi asserts, success of ‘vocal for local’ and Aatamnirbhar Bharat Abhiyan depends on the youth            Nation hails accomplishments of daughters on National Girl Child Day            Home Minister says, Assam embarked on journey of peace and development under Modi govt            Over 15 lakh people administered Covid-19 vaccines in country so far            Curtains come down on 51st IFFI at Panaji in Goa           

National News

Nov 26, 2019
2:45PM

राष्ट्र आज संविधान दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा-भारत का संविधान विश्व के सर्वाधिक धर्म-निरपेक्ष और सम्मानित ग्रंथ है

@PIB_India

देश भर में आज संविधान दिवस मनाया जा रहा है। आज ही के दिन 1949 में संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को अंगीकृत किया गया। इसे 26 जनवरी, 1950 से लागू किया गया जिससे भारतीय गणराज्‍य के इतिहास में नए युग की शुरुआत हुई। सरकार ने संविधान दिवस के 70 वर्ष पूरे होने पर, साल भर चलने वाले कार्यक्रमों की योजना बनाई है। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि अधिकार और कर्त्तव्य एक ही सिक्के दो पहलू है और नागरिक को अधिकारों के बारे में सोचते समय कर्तव्यों का भी सोचना चाहिए। संविधान की 70वीं वर्षगांठ पर संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए श्री कोविंद ने कहा कि हमारे संविधान ने जो सम्मान और मूल्य अर्जित किया है उसके लिए सभी देशवासी बधाई के पात्र हैं। श्री कोविंद ने कहा कि केन्द्र और राज्यों के बीच सम्बंधों की मजबूती और आपसी तालमेल सहकारी संघवाद की दिशा में भारत की यात्रा में संविधान की गतिशीलता का उदाहरण है। 

इस अवसर पर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि पिछले 70 साल में देश लोकतांत्रिक संविधान का मजबूती से पालन करने के साथ साथ संविधान को भी सशक्त बनाने में लगा है। उन्होंने कहा कि इसी के सहारे देश, एक भारत श्रेष्ठ भारत के दृष्टिकोण को पूरा कर रहा है। श्री वेंकैया नायडू ने कहा कि सभी सुधार और विकास कार्य संविधान के ढांचे के तहत किये जा रहे हैं।


प्रधानमंत्री ने सत्र को संबोधित करते हुए भारतीय संविधान की शक्ति और समग्रता का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान में नागरिकों के अधिकारों और कतर्व्यों को विशेष महत्व दिया गया है और यही हमारे संविधान की खूबी है। श्री मोदी ने कहा कि हमें सोचना चाहिए कि संविधान में उल्लिखित कर्तव्यों को हम कैसे पूरा करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि हर देशवासी का अपना सम्मान है और हमें सोचना है कि हमारे कार्यों से देश किस तरह और मजबूत बनेगा। उन्होंने कहा कि भारत का संविधान विश्व के सर्वाघिक धर्म निरपेक्ष संविधानों में से है और हमारे लिए सबसे सम्मानित ग्रंथ है। उन्होंने कहा कि संविधान के बल पर ही हम एक भारत श्रेष्ठ भारत का सपना पूरा कर पाये हैं।
 कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में आपातकाल लागू किये जाने की ओर इशारा करते हुए श्री मोदी ने कहा कि पुराने दौर में अपनी ही गलतियों के कारण हमने स्वतंत्रता और गणतांत्रिक स्वरूप गवां दिया था।

  इससे पहले संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने विशेष सत्र में आये प्रतिनिधियों का स्वागत किया।

 संविधान सभा का गठन राष्ट्र के संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए किया गया था। संविधान सभा के तीन वर्ष के  कार्यकाल के दौरान संविधान की आवश्यकता के बारे में विभिन्न अवसरों पर विचार-विमर्श हुआ। मसौदा समिति के अध्यक्ष डॉ. बी.आर.आम्बेडकर ने 17 दिसंबर 1946 को एक विचार-विमर्श के दौरान सहकारी संघवाद की मूल भावना पर बल दिया। संविधान समिति के अध्यक्ष पंडित जवाहर लाल नेहरू ने  14 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता की पूर्व संध्या पर अपना प्रसिद्ध भाषण ट्रिस्ट विद डेस्टिनी दिया। 15 अगस्त 1947 को नियम प्रक्रिया समिति के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने समग्र राष्ट्र के लिए एक स्पष्ट दृष्टिकोण का आहवान किया।

   Related News

11189

ट्विटर अपडेट

Listen News

Morning News 24 (Jan) Midday News 24 (Jan) Evening News 24 (Jan) Hourly 25 (Jan) (0610hrs)
समाचार प्रभात 24 (Jan) दोपहर समाचार 24 (Jan) समाचार संध्या 24 (Jan) प्रति घंटा समाचार 25 (Jan) (0600hrs)
Khabarnama (Mor) 24 (Jan) Khabrein(Day) 24 (Jan) Khabrein(Eve) 24 (Jan)
Aaj Savere 24 (Jan) Parikrama 24 (Jan)

Listen Programs

Market Mantra 24 (Jan) Samayki 1 (Jan) Sports Scan 24 (Jan) Spotlight/News Analysis 24 (Jan) Employment News 24 (Jan) रोजगार समाचार 24 (Jan) World News 24 (Jan) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 24 (Jan) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 16 (Jan) North East Diary 24 (Jan)

 

 

 

 

× All donations towards the Prime Minister's National Relief Fund(PMNRF) and the National Defence Fund(NDF) are notified for 100% deduction from taxable income under Section 80G of the Income Tax Act,1961""